स्ट्रगल पर बात:दिलीप जोशी बोले- तारक मेहता का उल्टा चश्मा से पहले एक-डेढ़ साल तक मेरे पास कोई काम नहीं था

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लंबे समय से चल रहे शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा में जेठालाल चंपकलाल गड़ा की भूमिका निभाने वाले दिलीप जोशी ने शो के ऑफर आने से ठीक पहले अपने करियर में 1 से 1.5 साल तक काम ना मिलने की बात बताई। एक फैन क्लब द्वारा ऑनलाइन शेयर किए गए एक थ्रोबैक वीडियो में, उन्होंने कहा कि उनके पास एक साल से अधिक समय तक कोई काम नहीं था, क्योंकि जिस धारावाहिक में उन्होंने एक्टिंग किया था वह ऑफ एयर हो गया था और जिस प्ले में उन्होंने काम किया था, वह पूरा हो गया था। यह शो जिसका प्रीमियर 2008 में हुआ था, अब लगभग 13 सालों से टीवी पर आ रहा है। यह शो मुंबई में गोकुलधाम को-ऑपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी के लोगों के जीवन के इर्द-गिर्द घूमता रहता है।

असित मोदी शो के जरिए 'पॉजिटिविटी' लाना चाहते थे

ऑनलाइन शेयर किए गए एक वीडियो में, दिलीप जोशी ने बताया कि कैसे निर्माता असित मोदी ने उन्हें तारक मेहता का उल्टा चश्मा में जेठालाल और चंपकलाल के रोल के बीच एक ऑप्शन दिया था। उन्होंने कहा था कि सास-बहू के ढेर सारे कंटेंट के बीच उनका लक्ष्य छोटे पर्दे पर थोड़ी 'पॉजिटिविटी' लाना है।

दिलीप ने की अपने स्ट्रगल पर बात

दिलीप से जब स्ट्रगल के बारे में पूछा गया तब जवाब में उन्होंने कहा कि एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री एक 'असुरक्षित' प्रोफेशन है। दिलीप कहते हैं, "इसमें ऐसा नहीं है कि अगर आपका कोई एक रोल हिट हो गया हो तो आगे जिंदगी भर आपको काम मिलता रहेगा। जैसे तारक मेहता का उल्टा चश्मा मुझे मिला, उसके पहले 1-1.5 साल तक मेरे पास कोई काम नहीं था।"

एक समय ऐसा था जब दिलीप के पास बिल्कुल काम नहीं था

दिलीप आगे कहते हैं, "जो सीरियल था वो बंद हो गई था। प्ले का रन पूरा हो गया था। तो मेरे पास बिल्कुल काम नहीं था। वो जो पीरियड था, काफी स्ट्रगल था। समझ में नहीं आ रहा था कि अब क्या करें, इस उमर में अब कौनसी नई लाइन पकड़ें।" दिलीप ने कहा शुक्र है कि, मेरे संघर्ष का अंत तब हुआ जब मुझे तारक मेहता का उल्टा चश्मा में जेठा लाल का रोल ऑफर हुआ।