पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Entertainment
  • Tv
  • Jay Zaveri, Who Plays Das Ganu In The Show 'Mere Sai', Said– This Show Has Been An Integral Part Of My Acting Career,I Would Like To Stick With It Till The End

मेरे साईं:शो में दास गणु का किरदार निभा रहे जय जवेरी, बोले- यह शो मेरे एक्टिंग करियर का एक अभिन्न हिस्सा रहा है, मैं अंत तक इससे जुड़े रहना चाहूंगा

एक महीने पहलेलेखक: किरण जैन
  • कॉपी लिंक

टी.वी शो 'मेरे साईं- श्रद्धा और सबुरी' में इस समय दास गणु महाराज के सफर की कहानी दिखाई जा रही है, जहां एक हवलदार संगीत के प्रति अपनी लगन का पालन करता है और एक प्रसिद्ध कीर्तनकार बनने का प्रयास करता है। शो में दास गणु महाराज का किरदार जय जवेरी निभा रहे हैं। उनका मानना है कि इस शो में उनका रोल, बाबा के आशीर्वाद से कम नहीं है, क्योंकि इस शो के जरिए ही उन्होंने अपनी सच्ची लगन पहचानी है। दैनिक भास्कर से खास बातचीत के दौरान जय जवेरी ने कहा कि यह शो उनके एक्टिंग करियर का एक अभिन्न हिस्सा रहा है और वो अंत तक इससे जुड़े रहना चाहूंगे।

Q.दास गणु महाराज की कथा को बहुत माना जाता है। इस बारे में आपकी क्या राय है?
A.दास गणु महाराज साईं बाबा के सबसे बड़े भक्तों में से एक थे। उन्होंने पूरे भारत में साईं बाबा के भजन और कीर्तन का प्रचार किया था। इसलिए, इस किरदार को निभाना मेरे लिए चुनौतीपूर्ण था। मुझे उम्मीद है कि मैं उनके किरदार के साथ न्याय कर पाऊंगा। जहां मैं एक संत का किरदार निभा रहा हूं, वहीं मुझे उस तरह से नजर भी आना होगा। वो बहुत शांत और रचनात्मक व्यक्ति थे, जो जाहिर तौर पर मैं नहीं हूं। मैं बहुत जल्दी हाइपर हो जाता हूं, इसलिए निश्चित रूप से मुझे इस किरदार में ढलने में मुश्किल हुई। लेकिन पेशेंस और प्रैक्टिस के साथ, मैं इसके नतीजों से बेहद खुश हूं। उम्मीद है दर्शक भी इसे नोटिस करेंगे।

Q.'मेरे साईं' में इस रोल के लिए आपने किस बात से प्रेरित होकर हां कहा?
A.इस किरदार ने ही मुझे हां कहने पर मजबूर कर दिया। दास गणु महाराज की भूमिका निभाना एक बड़ी जिम्मेदारी है, इसलिए मैंने इसे एक चुनौती के रूप में लिया।

Q.'मेरे साईं' एक ऐसा शो है, जो हर ट्रैक के साथ हमेशा गहरा ज्ञान और सीख देता है। इस ट्रैक से आपकी सबसे बड़ी सीख क्या रही?
A.मैं कहूंगा कि जब मुझे यह जानकारी दी गई कि दास गणु महाराज ने साईं बाबा के मार्ग पर चलने के बाद अपना पेशा बदल दिया था, तो मैं इससे जुड़ गया। मैं एक प्रोफेशनल और कॉर्पोरेट बैकग्राउंड से हूं, लेकिन मुझमें हमेशा एक्टिंग की लगन थी। इसलिए, जब मैंने 3 साल पहले एक्टिंग की शुरुआत की थी, तो मैं वाकई में इस उलझन में था कि क्या मुझे इसे करना चाहिए और फिर यह रोल मुझे मिल गया। यह ट्रैक, एक तरह से मेरे लिए आशीर्वाद है, क्योंकि मुझे लगता है कि साईं बाबा ने जिस तरह दास गणु को संगीत की ओर लाया, उन्होंने एक्टिंग के मामले में मेरे लिए भी वही किया। दर्शकों को मेरा किरदार पसंद आ रहा है और इसके लिए मुझे ढेर सारी तारीफें भी मिली हैं।

Q.क्या आपको अपने किरदार के लिए कोई खास तैयारी करनी पड़ी?
A.जी हां। दास गणु एक कीर्तनकार थे, वे अपनी कविताएं और सभी रचनाएं गाते थे, लेकिन मैं बिल्कुल भी अच्छा गायक नहीं हूं, इसलिए मुझे उस किरदार में ढल के लिए काफी तैयारी करनी पड़ी है। सौभाग्य से, मुझे गाने की जरूरत नहीं पड़ी क्योंकि बैकग्राउंड में संगीत बज रहा था, लेकिन मुझे सीक्वेंस से तालमेल बनाने के लिए गाना सीखने में बहुत मेहनत करनी पड़ी।

Q.आपकी भविष्य की क्या योजनाएं हैं?
A.वैसे, मैं 'मेरे साईं' में तब तक काम करता रहूंगा, जब तक वे मुझे काम करने देंगे और जब तक लोग मुझे इस खास किरदार के लिए पसंद करते रहेंगे। यह शो मेरे एक्टिंग करियर का एक अभिन्न हिस्सा रहा है और मैं अंत तक इससे जुड़े रहना चाहूंगा।