--Advertisement--

30 साल पहले दूरदर्शन में दिखाए गए सीरियल का विराेध नहीं हुआ था पद्मावती का

तब श्याम बेनेगल के इस धारावाहिक की एडिटिंग की थी संजय लीला भंसाली ने।

Dainik Bhaskar

Jan 27, 2018, 02:06 PM IST
30 साल पहले बने श्याम बेनेगल के धारावाहिक में सीमा केलकर ने पद्मावती की भूमिका निभाई थी। 30 साल पहले बने श्याम बेनेगल के धारावाहिक में सीमा केलकर ने पद्मावती की भूमिका निभाई थी।

अहमदाबाद। ‘पद्मावत’ फिल्म को लेकर पूरे देश में हाहाकार मचा है। इस फिल्म को रिलीज करने के लिए सुप्रीमकोर्ट ने आदेश भी दे दिया है, उसके बाद भी कई राज्यों में यह फिल्म रिलीज नहीं हो पाई है। 30 साल पहले श्याम बेनेगल ने दूरदर्शन के लिए पद्मावती पर धारावाहिक का निर्माण किया था। इसमें ओमपुरी ने अलाउद्दीन खिलजी की भूमिका निभाई थी। तब इसका कहीं किसी ने विरोध नहीं किया था। नेहरुजी की किताब भारत एक खोज पर आधारित…

1988 में श्याम बेनेगल ने जवाहर लाल नेहरु की किताब भारत एक खोज पर धारावाहिक का निर्माण किया था। इस धारावाहिक के 26 वे एपिसोड में दिल्ली सल्तनत भाग 3 में पद्मावती और तुगलक खानदान में इस कहानी को प्रस्तुत किया गया था। दिलचस्प बात यह है कि उस धारावाहिक में खिलजी ने दर्पण में रानी पद्मावती के दर्शन किए थे। उसने राजा रतनसिंह की सभी शर्ताें काे मान भी लिया था। एपिसोड में इसका भी जिक्र है। इन दिनों यह एपिसोड खूब वायरल हो रहा है। 30 साल पहले बने इस धारावाहिक में संजय लीला भंसाली ने उस धारावाहिक की एडिटिंग का काम किया था।

चित्तौड़ की बहादुरी की प्रशंसा

इस एपिसोड में खिलजी बने ओमपुरी कहते हैं कि 1303 में खिलजी ने पद्मावती के रूप-सौंदर्य पर मोहित होकर चित्तौड़ पर आक्रमण कर दिया था। बहादुरी में चित्तौड़ का पहले जैसा ही जोश था। परंतु उसकी सैन्य पद्धति नाकाम हो गई थी, इसलिए खिलजी की सशस्त्र सेना ने उसे कुचल दिया था। उसने चित्तौड़ को लूट लिया था। यह कहानी सामंतवादी युग की परंपराओं का दृष्टांत है। इसमें नैतिक उपदेश ऐतिहासिक सत्य की अपेक्षा अधिक महत्वपूर्ण है।

राजस्थानी गायकों ने गाए थे गीत

सीरियल में पद्मावती से संबंधित एपिसोड में गीत गाने वाले राजस्थानी कलाकार ही थे। मेरे अलावा इला अरुण और शम्सुद्दीन ने भी गीत गाए थे। ईश्वर दत्त माथुर, लोकगायक

ओमपुरी बने थे खिलजी

मलिक मोहम्मद जायसी के एक रूपक काव्य पर आधारित इस सीरियल में ओमपुरी ने अलाउद्दीन खिलजी की भूमिका निभाई थी। राजा रतनसिंह की भूमिका राजेंद्र गुप्ता ने निभाई थी। कुवैत में पैदा हुई मॉडल और अभिनेत्री सीमा केलकर ने रानी पद्मावती की भूमिका निभाई थी। सीमा ने इसके अलावा टीवी धारावाहिक टीपू सुल्तान में भी काम किया था। हिंदी फिल्म लव यू में भी उसने अभिनय किया था।

धारावाहिक के मुख्य संवाद

‘तांत्रिक राघव चेतन राजा रतनसिंह के संबंध में अलाउद्दीन खिलजी से कहता है- वह नाम का रत्न है। वैसे ठीकरे से भी बदतर है। हमेशा खुशियों से घिरा रहता है। बहादुर ऐसा कि उसकी तलवार कभी म्यान से बाहर ही नहीं निकलती। बेहिसाब दौलत का मालिक है। लेकिन ऐय्याश ऐसा कि कभी अंत:पुर से बाहर ही नहीं निकलना चाहता। वो राजा के नाम पर कलंक है।’

इसके बाद खिलजी कहता है-

‘दरबार से निकाले गए हो, इसलिए मालिक को जलील कर रहे हो। जमीरफरोश लगते हो’ शुरुआत में पद्मावती का मजाक उड़ाते हुए खिलजी कहता है ‘काहे की पद्मावती, हमारी 1600 बेगमों में से किसी की लड़की को भी देख लोगे, तो नमक की तरह पिघल जाओगे।’

जोहर का उल्लेख नहीं

पद्मावती की इस कहानी में चित्तौड़गढ में जोहर का उल्लेख नहीं किया गया था। साथ ही घूमर नृत्य में पद्मावती अन्य महिलाओं के साथ खड़ी रहती हैं, वे नृत्य में भाग नहीं लेती।

ओमपुरी बने थे अलाउद्दीन खिलजी। ओमपुरी बने थे अलाउद्दीन खिलजी।
राजा रतनसिंह का अभिनय राजेंद्र गुप्ता ने किया था। राजा रतनसिंह का अभिनय राजेंद्र गुप्ता ने किया था।
धारावाहिक में जोहर का उल्लेख नहीं है। धारावाहिक में जोहर का उल्लेख नहीं है।
ये कलाकार टीवी सीरियल में थे। ये कलाकार टीवी सीरियल में थे।
X
30 साल पहले बने श्याम बेनेगल के धारावाहिक में सीमा केलकर ने पद्मावती की भूमिका निभाई थी।30 साल पहले बने श्याम बेनेगल के धारावाहिक में सीमा केलकर ने पद्मावती की भूमिका निभाई थी।
ओमपुरी बने थे अलाउद्दीन खिलजी।ओमपुरी बने थे अलाउद्दीन खिलजी।
राजा रतनसिंह का अभिनय राजेंद्र गुप्ता ने किया था।राजा रतनसिंह का अभिनय राजेंद्र गुप्ता ने किया था।
धारावाहिक में जोहर का उल्लेख नहीं है।धारावाहिक में जोहर का उल्लेख नहीं है।
ये कलाकार टीवी सीरियल में थे।ये कलाकार टीवी सीरियल में थे।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..