--Advertisement--

कंडला बंदरगाह के आइल जहाज में भीषण आग:एक की मौत, 25 को बचाया

डीटीपी और मरीन विभाग द्वारा 10 से अधिक निजी-सरकार टग की मदद से आग बुझाने का प्रयास किया गया।

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2018, 01:06 PM IST
दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट में खाली होने के लिए आया डीजल से भरा आइल टैंकर जहाज ओटीबी में अपनी राह देख रहा था। दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट में खाली होने के लिए आया डीजल से भरा आइल टैंकर जहाज ओटीबी में अपनी राह देख रहा था।

गांधीधाम। दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट में खाली हाेने के लिए आया डीजल से भरा आयल टैंकर जहाज ओटीबी में अपनी राह देख रहा था। तभी उसमें अचानक आग लग गई। आग इंजन रूम से होते हुए डीजल के पात्र तक पहुंच गई। इसी के साथ मरीन विभाग द्वारा अाग बुझाने की मशक्कत शुरू हो गई। जो देर रात बुझाई जा सकी। इस दौरान 26 क्रू मेम्बर को बाहर निकाला गया। इसमें से एक की इलाज के दौरान मौत हो गई। आग घर्षण से लगी होगी…

बुधवार की शाम साढ़े 6 बजे मुम्बई से डीजल भरकर जीनोसा जहाज दीनदयाल पोर्ट कंडला पहुंचा। वह खाली कराने वाले अन्य टैंकरों की लाइन में खड़ाथा। अचानक उसके इंजन के कमरे से धुआं उठने लगा। मशीन के काम के दौरान घर्षण से ऐसा हो गया होगा। यह मानकर क्रू मेम्बर वहां पहुंच गए। कुछ ही देर में आग की लपटें निकलने लगी। हालात बेकाबू हो गए। आग की सूचना करीब के दोनों पोर्ट पर दे दी गई।

30 हजार एमटी डीजल भरा था

पोर्ट द्वारा एसओएस का संदेश भेजा गया। इससे आसपास के जहाज, टग की मदद से आग को बुझाने की कोशिश की गई। कुछ ही देर में एक टग और तीन अन्य टग फायर फाइटर की टीम भी वहां पहुंच गई। इन सबने मिलकर देर रात तक आग पर काबू पाया। उस जहाज के टैंकर में 30 हजार एमटी डीजल भरा हुआ था।

दो आंशिक रूप से झुलस गए थे

पुलिस के अनुसार अंदर 26 क्रू मेम्बर घटना के समय जहाज में सवार थे। जब उन्हें बाहर निकाला गया, तो उसमें से दो आंशिक रूप से झुलस गए थे। इन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया। इसमें से एक मेनलीन फर्नाण्डो की इलाज के दौरान मौत हो गई।

अचानक जहाज के इंजन रूम से धुआं निकलने लगा। अचानक जहाज के इंजन रूम से धुआं निकलने लगा।
डीटीपी और मरीन विभाग द्वारा 10 से अधिक निजी-सरकार टग की मदद से आग बुझाने का प्रयास किया गया। डीटीपी और मरीन विभाग द्वारा 10 से अधिक निजी-सरकार टग की मदद से आग बुझाने का प्रयास किया गया।
देर रात तक आग पर काबू पाया गया। देर रात तक आग पर काबू पाया गया।
आग लगने के बाद जहाज में 26 लोग सवार थे, जिन्हें बाहर निकाला गया, इसमें से दो आंशिक रूप से झुलस गए थे। इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान एक की मौत हो गई। आग लगने के बाद जहाज में 26 लोग सवार थे, जिन्हें बाहर निकाला गया, इसमें से दो आंशिक रूप से झुलस गए थे। इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान एक की मौत हो गई।
पात्र में 30 हजार एमटी डीजल भरा हुआ था। पात्र में 30 हजार एमटी डीजल भरा हुआ था।
आग लगते ही आसपास के पोर्ट को इसकी जानकारी दी गई, जहां से आग बुझाने के संसाधन के साथ टीम पहुंची। आग लगते ही आसपास के पोर्ट को इसकी जानकारी दी गई, जहां से आग बुझाने के संसाधन के साथ टीम पहुंची।
A Dangerous Fire In Oil Tanker Ship Near Kandla
X
दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट में खाली होने के लिए आया डीजल से भरा आइल टैंकर जहाज ओटीबी में अपनी राह देख रहा था।दीनदयाल पोर्ट ट्रस्ट में खाली होने के लिए आया डीजल से भरा आइल टैंकर जहाज ओटीबी में अपनी राह देख रहा था।
अचानक जहाज के इंजन रूम से धुआं निकलने लगा।अचानक जहाज के इंजन रूम से धुआं निकलने लगा।
डीटीपी और मरीन विभाग द्वारा 10 से अधिक निजी-सरकार टग की मदद से आग बुझाने का प्रयास किया गया।डीटीपी और मरीन विभाग द्वारा 10 से अधिक निजी-सरकार टग की मदद से आग बुझाने का प्रयास किया गया।
देर रात तक आग पर काबू पाया गया।देर रात तक आग पर काबू पाया गया।
आग लगने के बाद जहाज में 26 लोग सवार थे, जिन्हें बाहर निकाला गया, इसमें से दो आंशिक रूप से झुलस गए थे। इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान एक की मौत हो गई।आग लगने के बाद जहाज में 26 लोग सवार थे, जिन्हें बाहर निकाला गया, इसमें से दो आंशिक रूप से झुलस गए थे। इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान एक की मौत हो गई।
पात्र में 30 हजार एमटी डीजल भरा हुआ था।पात्र में 30 हजार एमटी डीजल भरा हुआ था।
आग लगते ही आसपास के पोर्ट को इसकी जानकारी दी गई, जहां से आग बुझाने के संसाधन के साथ टीम पहुंची।आग लगते ही आसपास के पोर्ट को इसकी जानकारी दी गई, जहां से आग बुझाने के संसाधन के साथ टीम पहुंची।
A Dangerous Fire In Oil Tanker Ship Near Kandla
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..