अहमदाबाद

--Advertisement--

कमजोर याददाश्त के चलते वृद्धा घर भूली, FB-Whatsapp ने परिजनों से मिलवाया

युवती ने वाट्सएप पर बताया कि उक्त वृद्धा रायखड में रहने वाली जूली की दादी की तरह लगती है।

Dainik Bhaskar

Mar 07, 2018, 03:29 PM IST
युवक ने वृद्धा से बात कर उसका वीडियो फेसबुक पर डाला। जिसमें उसने अपना मोबाइल नम्बर दे दिया। युवक ने वृद्धा से बात कर उसका वीडियो फेसबुक पर डाला। जिसमें उसने अपना मोबाइल नम्बर दे दिया।

अहमदाबाद। शहर में आधी रात को एक वृद्धा वॉशरुम जाने के लिए उठी, फिर वह भूल गई कि वह कहां है। वृद्धा घर के बाहर आ गई। कमजोर याददाश्त के कारण वह अपना पता भी भूल गई। शहर के एलिसब्रिज के पास महालक्ष्मी मंदिर के बरामदे पर वह महिला बैठ गई। एक युवक ने उससे बातचीत कर FB में डाला, आखिर कुछ घंटों की मशक्कत के बाद वृद्धा को उसके परिजन घर ले गए। देर रात एक महिला मंदिर के बरामदे में…

सोमवार की देर रात एलिसब्रिज के पास महालक्ष्मी मंदिर के बरामदे में एक महिला बैठी थी। वह कुछ बड़बड़ा रही थी। एक युवक ने उससे बातचीत करनी चाही। जिससे यह पता चला कि वह महिला क्रिश्चियन है। वह युवक भी क्रिश्चियन था। तब उसने उस महिला से बातचीत कर उसे एफबी पर डाल दिया। उस पर अपना मोबाइल नम्बर भी दे दिया। साथ ही यह अपील की कि इस महिला की याददाश्त कमजोर है। वह अपना घर भूल गई है, जो इसे जानता है, वह मुझसे मोबाइल पर कांटेक्ट करे। क्रिश्चियन समाज के लोगों ने उसे वाट्सएप के कई ग्रुप्स में डाल दिया।

वृद्धा के बारे में पता चला कि वह जूली की दादी है

एक युवती ने युवक को वाट्सएप पर बताया कि उक्त वृद्धा रायखड में रहने वाली जूली की दादी की तरह लगती है। पुलिस ने भी इस मामले में दिलचस्पी लेते हुए जूलियस क्रिश्चियन नाम के व्यक्ति को फोन लगा, तब पता चला कि वृद्धा उनकी बुआ रुक्मणि बेन परमार है।

भतीजा उन्हें ही खोज रहा था

पुलिस जब जूलियस से सम्पर्क करना चाह रही थी, तो वह फोन काट दे रहा था। आखिर में उसने झल्लाकर कहा कि मैं अपनी बुआ को खोज रहा हूं, किसी से फोन पर बात नहीं करना चाहता। तब उसे बताया गया कि आपकी बुआ मिल गई है। हम उसी संबंध में बात करना चाहते हैं। तब उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। बाद में पता चला कि वृद्धा अपने घर में रात को वॉशरूम जाने के लिए उठी थीं। फिर वह भूल गई और घर से बाहर निकलकर सड़क पर आ गई। वह राणीपुर गांव की रहने वाली हैं। काफी समय से वह पूंजालाल की चाली में रह रही थीं।

फोन से पता चला कि वृद्धा रुक्मणि बेन परमार हैं। फोन से पता चला कि वृद्धा रुक्मणि बेन परमार हैं।
बुआ की सूचना जब भतीजे को दी गई, तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। बुआ की सूचना जब भतीजे को दी गई, तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।
घर से बाहर निकली वृद्धा सब कुछ भूल गई। घर से बाहर निकली वृद्धा सब कुछ भूल गई।
Ahmedabads boy help the an old woman to find her family thorugh fb live
X
युवक ने वृद्धा से बात कर उसका वीडियो फेसबुक पर डाला। जिसमें उसने अपना मोबाइल नम्बर दे दिया।युवक ने वृद्धा से बात कर उसका वीडियो फेसबुक पर डाला। जिसमें उसने अपना मोबाइल नम्बर दे दिया।
फोन से पता चला कि वृद्धा रुक्मणि बेन परमार हैं।फोन से पता चला कि वृद्धा रुक्मणि बेन परमार हैं।
बुआ की सूचना जब भतीजे को दी गई, तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।बुआ की सूचना जब भतीजे को दी गई, तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।
घर से बाहर निकली वृद्धा सब कुछ भूल गई।घर से बाहर निकली वृद्धा सब कुछ भूल गई।
Ahmedabads boy help the an old woman to find her family thorugh fb live
Click to listen..