अहमदाबाद

--Advertisement--

2500 करोड़ का है PM मोदी का रिवरफ्रंट, यहां ऐसे नजर आ चुकी हैं कैटरीना

जानें साबरमती रिवर फ्रंट से जुड़े कुछ इंटरेस्टिंग फैक्ट्स।

Danik Bhaskar

Dec 12, 2017, 05:43 PM IST
कैटरीना कैफ और सिद्धार्थ मल्होत्रा अपनी फिल्म 'बार बार देखो' के प्रमोशन के लिए साबरमती रिवरफ्रंट आए थे। कैटरीना कैफ और सिद्धार्थ मल्होत्रा अपनी फिल्म 'बार बार देखो' के प्रमोशन के लिए साबरमती रिवरफ्रंट आए थे।

अहमदाबाद. नरेंद्र मोदी मंगलवार को पहली बार सीप्लेन के जरिए साबरमती रिवर फ्रंट से धरोई डैम पहुंचे। वहां से वे सड़क के रास्ते अंबाजी मंदिर गए और दर्शन किए। यह दूरी तय करने में उन्हें 3 घंटे लगे। सीप्लेन से सफर करने वाले वे भारत के पहले पीएम हैं। उनकी इस उपलब्धि ने साबरमती रिवरफ्रंट को एक बार फिर चर्चाओं में ला दिया। DainikBhaskar.com अपने रीडर्स को गुजरात सरकार के इस खूबसूरत प्रॉजेक्ट से जुड़ी बातें बता रहा है।

2500 करोड़ में बना था साबरमती रिवरफ्रंट

- रिवरफ्रंट गांधीजी के साबरमती आश्रम का एक्सटेंशन है। इस प्रॉजेक्ट की टोटल कॉस्ट 2500 करोड़ रुपए है।
- इसी साल मई में आई रिपोर्ट के मुताबिक साबरमती रिवरफ्रंट के आसपास मॉल और होटल प्रॉजेक्ट्स के लिए जमीन बेचकर अहमदाबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन को 6 हजार करोड़ रुपए कमा सकता है। यानी सीधे 3500 करोड़ का प्रॉफिट।
- इस प्रॉजेक्ट का पहला प्रपोजल 1961 में फ्रेंच आर्किटेक्ट बर्नार्ड कॉन ने बनाया था।
- यह प्रॉजेक्ट साबरमती रिवर फ्रंट डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड की देखरेख में बना है।
- इसका इनॉग्रेशन 15 अगस्त 2012 को तात्कालीन गुजरात सीएम नरेंद्र मोदी ने किया था।
- रिवरफ्रंट के कंस्ट्रक्शन से पहले उस एरिया में झुग्गी बस्ती थी। वहां रह रहे 12 हजार परिवारों को गुजरात सरकार ने रिहैबिलिटेट किया है। इस काम में प्रॉजेक्ट का 50 फीसदी फंड यूज हुआ।
- साबरमती रिवरफ्रंट 22 किमी लंबा है।
- एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा और एकट्रेस कटरीना कैफ ने अपनी फिल्म 'बार-बार देखो' का प्रमोशन साबरमती रिवरफ्रंट पर किया था।
- यहां कई गुजराती फिल्मों की शूटिंग भी हो चुकी है।

Click to listen..