अहमदाबाद

--Advertisement--

आग के सामने ‘जल श्री कृष्ण’, फायर ब्रिगेड ने बचाया 30 हजार लीटर पानी

फायर ब्रिगेड ने पाइप और नोजल की डिजाइन बदली, अब आग बुझाने के दौरान हर मिनट 300 लीटर पानी की बचत होगी।

Dainik Bhaskar

Mar 28, 2018, 01:54 PM IST
आग बुझाने के लिए फायर की 7 टीमों के बीच स्पर्धा का आयोजन किया गया था। आग बुझाने के लिए फायर की 7 टीमों के बीच स्पर्धा का आयोजन किया गया था।

अहमदाबाद। शहर में पिछले 24 घंटों के दौरान 12 स्थानों में आग लगी। इसमें सबसे भीषण आग कर्णावती क्लब से एयरपोर्ट जाने वाले बस में लगी। मंगलवार से ही फायर ब्रिगेड ने पानी बचाने की नई कवायद शुरू की है। इसका पहला प्रयोग शाहपुरा दरवाजे के पास गोदाम में लगी आग बुझाने में किया गया। इसमें करीब 30 हजार लीटर पानी की बचत करने का दावा फायर ब्रिगेड ने किया है। बस समेत चार वाहन जले…

चीफ फायर आफिसर एम.एफ दस्तूर ने बताया कि पिछले दिनों कर्णावती क्लब के पास बीआरटीएस की बस के अलावा इंडिका कार, डस्टर कार और एक रिक्शे में आग लगी थी। ओढव में एक एस्टेट, शाहपुरा में एक गोदाम में, नारोल की एक फैक्टरी में और इसनपुर के एक घर में गैस सिलेंडर में आग लगी थी। इस तरह से 24 घंटों कें अंदर आग की एक दर्जन घटनाएं हुई।

अब 40 हजार के बजाए 10 हजार लीटर पानी लगेगा

फायर ब्रिगेड भी अब आधुनिक हो गया है। उसने अपने संसाधनों की डिजाइन बदल दी है। अब उसे 40 हजार के बजाए 10 हजार लीटर पानी की आवश्यकता होती है। फायर आफिसर दस्तूर बताते हैं कि यह आइडिया दिल्ली में रहने वाले एक दोस्त ने दिया। इस तकनीक से अब पानी की भारी बचत होने लगी है।

आग बुझाने के लिए फायर ब्रिग्रेड भी अपडेट हुई। आग बुझाने के लिए फायर ब्रिग्रेड भी अपडेट हुई।
63एमएम के बदले 38 एमएम का पाइप। 63एमएम के बदले 38 एमएम का पाइप।
तीन पाइप्स को जोड़ने के लिए ट्रिपल डिवाइडिंग ब्रिजिंग तैयार किया गया। तीन पाइप्स को जोड़ने के लिए ट्रिपल डिवाइडिंग ब्रिजिंग तैयार किया गया।
नोजल बदलकर 6 एमएम किया गया, जिससे पानी की बचत हुई। नोजल बदलकर 6 एमएम किया गया, जिससे पानी की बचत हुई।
X
आग बुझाने के लिए फायर की 7 टीमों के बीच स्पर्धा का आयोजन किया गया था।आग बुझाने के लिए फायर की 7 टीमों के बीच स्पर्धा का आयोजन किया गया था।
आग बुझाने के लिए फायर ब्रिग्रेड भी अपडेट हुई।आग बुझाने के लिए फायर ब्रिग्रेड भी अपडेट हुई।
63एमएम के बदले 38 एमएम का पाइप।63एमएम के बदले 38 एमएम का पाइप।
तीन पाइप्स को जोड़ने के लिए ट्रिपल डिवाइडिंग ब्रिजिंग तैयार किया गया।तीन पाइप्स को जोड़ने के लिए ट्रिपल डिवाइडिंग ब्रिजिंग तैयार किया गया।
नोजल बदलकर 6 एमएम किया गया, जिससे पानी की बचत हुई।नोजल बदलकर 6 एमएम किया गया, जिससे पानी की बचत हुई।
Click to listen..