Hindi News »Gujarat »Ahmedabad» Fire Brigade Will Save 300 Liters Of Water Every Minute While Fire Extinguishing

आग के सामने ‘जल श्री कृष्ण’, फायर ब्रिगेड ने बचाया 30 हजार लीटर पानी

फायर ब्रिगेड ने पाइप और नोजल की डिजाइन बदली, अब आग बुझाने के दौरान हर मिनट 300 लीटर पानी की बचत होगी।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Mar 28, 2018, 01:54 PM IST

  • आग के सामने ‘जल श्री कृष्ण’, फायर ब्रिगेड ने बचाया 30 हजार लीटर पानी
    +4और स्लाइड देखें
    आग बुझाने के लिए फायर की 7 टीमों के बीच स्पर्धा का आयोजन किया गया था।

    अहमदाबाद। शहर में पिछले 24 घंटों के दौरान 12 स्थानों में आग लगी। इसमें सबसे भीषण आग कर्णावती क्लब से एयरपोर्ट जाने वाले बस में लगी। मंगलवार से ही फायर ब्रिगेड ने पानी बचाने की नई कवायद शुरू की है। इसका पहला प्रयोग शाहपुरा दरवाजे के पास गोदाम में लगी आग बुझाने में किया गया। इसमें करीब 30 हजार लीटर पानी की बचत करने का दावा फायर ब्रिगेड ने किया है।बस समेत चार वाहन जले…

    चीफ फायर आफिसर एम.एफ दस्तूर ने बताया कि पिछले दिनों कर्णावती क्लब के पास बीआरटीएस की बस के अलावा इंडिका कार, डस्टर कार और एक रिक्शे में आग लगी थी। ओढव में एक एस्टेट, शाहपुरा में एक गोदाम में, नारोल की एक फैक्टरी में और इसनपुर के एक घर में गैस सिलेंडर में आग लगी थी। इस तरह से 24 घंटों कें अंदर आग की एक दर्जन घटनाएं हुई।

    अब 40 हजार के बजाए 10 हजार लीटर पानी लगेगा

    फायर ब्रिगेड भी अब आधुनिक हो गया है। उसने अपने संसाधनों की डिजाइन बदल दी है। अब उसे 40 हजार के बजाए 10 हजार लीटर पानी की आवश्यकता होती है। फायर आफिसर दस्तूर बताते हैं कि यह आइडिया दिल्ली में रहने वाले एक दोस्त ने दिया। इस तकनीक से अब पानी की भारी बचत होने लगी है।

  • आग के सामने ‘जल श्री कृष्ण’, फायर ब्रिगेड ने बचाया 30 हजार लीटर पानी
    +4और स्लाइड देखें
    आग बुझाने के लिए फायर ब्रिग्रेड भी अपडेट हुई।
  • आग के सामने ‘जल श्री कृष्ण’, फायर ब्रिगेड ने बचाया 30 हजार लीटर पानी
    +4और स्लाइड देखें
    63एमएम के बदले 38 एमएम का पाइप।
  • आग के सामने ‘जल श्री कृष्ण’, फायर ब्रिगेड ने बचाया 30 हजार लीटर पानी
    +4और स्लाइड देखें
    तीन पाइप्स को जोड़ने के लिए ट्रिपल डिवाइडिंग ब्रिजिंग तैयार किया गया।
  • आग के सामने ‘जल श्री कृष्ण’, फायर ब्रिगेड ने बचाया 30 हजार लीटर पानी
    +4और स्लाइड देखें
    नोजल बदलकर 6 एमएम किया गया, जिससे पानी की बचत हुई।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ahmedabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×