Hindi News »Gujarat »Ahmedabad» चमत्कारिक चेंज के साथ दिखे सूमो बेबी: Interesting Video About Sumo Baby From Gujarat

अब घटते वजन के कारण चर्चा का विषय बने गुजरात के सूमो-भाई बहन

यह हैं उना के गांव वाजड़ी के रहने वाले सूमो-भाई बहन। इनका वजन एक बार फिर चर्चाओं में है।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 21, 2018, 04:21 PM IST

    • गिर सोमनाथ, गुजरात। यह हैं उना के गांव वाजड़ी के रहने वाले सूमो-भाई बहन। इनका वजन एक बार फिर चर्चाओं में है। इस बार ये घटते वजन के कारण मीडिया की सुर्खियों में हैं। योगिता का वजन 76 KG से घटकर 49 KG पर आ गया है। वहीं अमिषा का वजन 82 KG से घटकर 70 KG पर पहुंच गया है। योगिता-अमिषा की सर्जरी अहमदाबाद के एशियन बैरयाट्रिक्स हॉस्पिटल में हुई। बच्चों का ट्रीटमेंट डॉ. महेंद्र नरवरिया की देखरेख में हुआ। इनका एक छोटा भाई हर्ष है। लेकिन उसका वजन अभी कंट्रोल में है।

      - वाजड़ी के रहने वाले रमेश नंदवाणा के तीन बच्चे योगिता(8), अमिषा(7) और हर्ष(6) को सूमो बेबी के नाम से पुकारा जाता है। इनमें से दो बच्चों योगिता और अमिषा का वजन अहमदाबाद के एशियन बैरयाट्रिक्स हॉस्पिटल में हुई सर्जरी के बाद काफी काफी कम हुआ है।
      -इनका बढ़ता वजन परिवार के लिए टेंशन का कारण बन गया था। पैसों के अभाव में इनका सही तरीके से इलाज नहीं हो पा रहा था। गुजरात की तत्कालीन सीएम आनंदीबेन पटेल की पहल के बाद एक बार उन्हें अहमदाबाद इलाज के लिए लाया गया था। लेकिन उस वक्त सर्जरी फेल हो गई थी।
      -हालांकि एक बार फिर योगिता और अमिषा की सर्जरी संभव हुई। डॉक्टर के मुताबिक, जीन डिसऑर्डर के कारण बच्चों का वजन लगातार बढ़ रहा था।
      -उल्लेखनीय है कि ऑपरेशन से पहले अमिषा और योगिता रोज 30-35 रोटियां और 5 लीटर तक दूध पी जाते थे। वहीं, हर्ष रोज 10 रोटियां और डेढ़ लीटर दूध पीता था।

    • डॉक्टर के साथ सूमो बेबी बायें से योगिता, हर्ष और अनीषा।
    • अब घटते वजन के कारण चर्चा का विषय बने गुजरात के सूमो-भाई बहन
      +2और स्लाइड देखें
      अहमदाबाद के हॉस्पिटल में हुई सूमो बेबी की सर्जरी।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From Ahmedabad

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×