--Advertisement--

ऐसे बरसे नोट, भरने के लिए बाल्टियां लानी पड़ीं, यह थी वजह

मामला देवभूमि द्वारका जिले के लांबा गांव का है। यहां भागवत कथा के दौरान श्रोताओं ने खूब नोट बरसाए।

Dainik Bhaskar

Apr 14, 2018, 06:15 PM IST
नोट बरसे छप्पर फाड़ के: World of Mysteries and Adventures: Rainfall of Money

देवभूमि द्वारका, गुजरात। कहावत है-'ऊपरवाला जब भी देता, देता छप्पर फाड़ के!' गुजरात में यह कहावत जीवंत होते दिखी। मामला देवभूमि द्वारका जिले के लांबा गांव का है। यहां भागवत कथा के दौरान श्रोताओं ने खूब नोट बरसाए।

- दरअसल, गांव में भागवत कथा(लोक डायरा) के तहत भजन भी रखे गए थे। इसमें गुजरात के मशहूर सिंगर राजभा गढवी और संगीता लाबड़िया ने अपनी प्रस्तुति दी। भजनों पर मुग्ध श्रोताओं ने हवा में नोट उड़ाना शुरू कर दिए। यूं लग रहा था, मानों आसमान से नोट बरस रहे हों। देखते ही देखते मंच पर नोटों का ढेर लग गया।

X
नोट बरसे छप्पर फाड़ के: World of Mysteries and Adventures: Rainfall of Money
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..