--Advertisement--

क्रिकेटर जसप्रीत बुमराह के दादा अहमदाबाद से गुम, तलाश जारी

84 वर्षीय संतोख सिंह उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले के किच्छा में आवास विकास कॉलोनी में किराए के मकान में रहते हैं।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 02:05 PM IST
जसप्रीत के 84 वर्षीय दादा संतोख सिंह बुमराह अब उत्तराखंड में रहते हैं। वह अहमदाबाद अपनी बेटी के घर आए हुए थे। जसप्रीत के 84 वर्षीय दादा संतोख सिंह बुमराह अब उत्तराखंड में रहते हैं। वह अहमदाबाद अपनी बेटी के घर आए हुए थे।

अहमदाबाद। भारतीय क्रिकेटर जसप्रीत बुमराह के दादा संतोख सिंह बुमराह के गुम होने की रिपोर्ट अहमदाबाद के वस्त्राल पुलिस थाने में लिखाई गई है। यह रिपोर्ट उनकी बेटी ने लिखवाई है। वे अपने नाती से मिलने आए थे। पुलिस अब 84 वर्षीय संतोष सिंह की तलाश कर रही है। वस्त्रापुर के एक अपार्टमेंट में रहता है परिवार…

पुलिस सूत्रों के अनुसार भारतीय क्रिकेटर जसप्रीत बुमराह का परिवार यहां वस्त्रापुर के पास एक अपार्टमेंट में रहता है। उनके 84 वर्षीय दादा संतोख सिंह बुमराह उत्तराखंड में रहते हैं। उनकी बेटी अहमदाबाद यहीं रहती है। अपने नाती से मिलने आए नाना संतोख सिंह कल दोपहर से गुम हो गए है। यह सूचना पुलिस थाने में उनकी बेटी रंजीद कौर ने दी।

संतोख सिंह की अहमदाबाद में पहले 3 फैक्ट्री थीं

-84 वर्षीय संतोख सिंह उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले के किच्छा में किराए के मकान में रहते हैं। पिता की मौत के बाद जसप्रीत और उनकी मां दलजीत पारिवारिक कारणों से अपने दादा से अलग हो गए थे। उसके बाद उनकी मुलाकात नहीं हुई।

-संतोख सिंह की अहमदाबाद में कभी फ्रेब्रिकेशन की 3 फैक्ट्री थी। संतोख सिंह मूल रूप से अहमदाबाद के ही हैं। 2001 में पीलिया से उनके बेटे जसप्रीत के पिता जसवीर सिंह का देहांत हो गया। बेटे की मौत से उन्हें बड़ा आघात लगा। उधर फैक्टरियां भी आर्थिक संकट में फंस गई। बैंकों का कर्ज बढ़ जाने के कारण उन्हें तीनों फैक्ट्री बेचनी पड़ी।

-संतोख सिंह 2006 में उत्तराखंड के उधमसिंह नगर चले गए, जहां उन्होंने चार ट्रक खरीदे और उसे किच्छा से रुद्रपुर के बीच चलवाने लगे। एक ट्रक वे खुद चलाते थे। यहां भी नसीब ने उनका साथ नहीं दिया, फिर उन्हें अपने तीन ट्रक बेचने पड़े। जसप्रीत के चाचा विकलांग हैं, उनकी दादी की मौत 2010 में हो चुकी है।

-अहमदाबाद में रहने वाली जसप्रीत की बुआ ने पिता और अपने भाइयों का लम्बे समय तक खर्च उठाया था। जसप्रीत बुमराह और उनका परिवार आज भी अहमदाबाद में ही रहता है।

जसप्रीत बुमराह के दादा संतोख सिंह उत्तराखंड में ट्रक चलाते थे। जसप्रीत बुमराह के दादा संतोख सिंह उत्तराखंड में ट्रक चलाते थे।
संतोख सिंह मूल रूप से अहमदाबाद के हैं, जहां कभी उनकी फेब्रिकेशन की तीन फैक्ट्री थीं। संतोख सिंह मूल रूप से अहमदाबाद के हैं, जहां कभी उनकी फेब्रिकेशन की तीन फैक्ट्री थीं।
मां और बहन के साथ जसप्रीत। मां और बहन के साथ जसप्रीत।
माता-पिता के साथ जसप्रीत बुमराह। माता-पिता के साथ जसप्रीत बुमराह।