--Advertisement--

तब मोदी हमारी जीप के ड्राइवर होते-अपनी किताब के विमाेचन में आनंदी बेन ने कहा

किताब ‘कर्मयात्री’ के विमोचन के अवसर पर अमित शाह ने कहा कि मैं बेन के कंप्यूटर का इस्तेमाल करता था।

Danik Bhaskar | Mar 17, 2018, 01:08 PM IST
मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन की किताब का विमोचन। मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन की किताब का विमोचन।

अहमदाबाद। गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री और बहरहाल मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल की किताब ’कर्मयात्री‘ का शनिवार को विमोचन हुआ। इस अवसर पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी उपस्थित थे। लंबे समय बाद अमित शाह और आनंदी बेन एक मंच पर दिखाई दिए। सीएम की फिसली जुबान…

इस अवसर पर जब मुख्यमंत्री विजय रूपाणी संबाेधित कर रहे थे, तब उन्होंने अमित शाह को अमित भाई ओझा कहकर संबोधित किया। इससे पूरा हॉल लोगों की हंसी से गूंज उठा। अपने संबोधन में अमित शाह ने कहा कि एक समय ऐसा भी था, जब मैं आनंदी बेन के कंप्यूटर का इस्तेमाल करता था। उन्होंने कहा कि आनंदी बेन की किताब बेटियों के लिए गीता की तरह है।

मोदी हमारी जीप के ड्राइवर होते

इस अवसर पर आनंदी बेन ने कहा कि एक समय ऐसा भी था, जब नरेंद्र मोदी हमारी जीप के ड्राइवर होते। वे हमें गुजरात की यात्रा पर ले जाते। हम विभिन्न मोर्चों में उनके साथ थे। मोदी को अपना गुरु बताते हुए आनंदीबेन ने कहा कि मेरे राजनैतिक जीवन की शुरुआत से ही नरेंद्र भाई मेरे मार्गदर्शक रहे। मुझे राजनीति में लाने वाले मोदी ही थे। राजनीति में मेरे प्रवेश का निर्णय अहमदाबाद इंकमटैक्स चार रास्ते के पास एक पेड़ के नीचे लिया गया। हम स्कूल से नर्मदा की यात्रा पर निकले थे। जहां दो बेटियां डूब रही थी, जिसे मैंने बचाया, वह खबर अखबारों में प्रकाशित हुई, उसे पढ़कर नरेंद्र मोदी मुझसे मिलने आए और मुझसे भाजपा में आने के लिए कहा।

किताब ‘कर्मयात्री’ का विमोचन

आनंदी बेन पटेल की किताब ‘कर्मयात्री’ में उन्होंने किसान की बेटी होने से लेकर राजनीति से जुड़ने की बातें, शिक्षा से लेकर शिक्षिका बनने की यात्रा और संगठन से लेकर मुख्यमंत्री और राज्यपाल होने और पाटीदारों की नेता बनने का वर्णन किया है।