अहमदाबाद

--Advertisement--

इशरत मामले में नरेंद्र मोदी को आराेपी बनाना चाहती थी आईपीएस की जांच टीम

इस मामले में तत्कालीन सीएम से गुप्त रूप से पूछताछ भी हुई थी, पर रिकॉर्ड गायब हैं-वंजारा

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2018, 12:33 PM IST
वंजारा ने दावा किया है कि जांच टीम ने नरेंद्र मोदी से गोपनीय तरीके से पूछताछ की थी। वंजारा ने दावा किया है कि जांच टीम ने नरेंद्र मोदी से गोपनीय तरीके से पूछताछ की थी।

गांधीनगर। इशरत जहां एनकाउंटर मामले के आरोपी और पूर्व आईपीएस अधिकारी डी.जी. वंजारा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गोपनीय रूप से पूछताछ हुई थी। यह दावा करते हुए वंजारा ने कहा कि तत्कालीन मुख्यमंत्री के रूप में उनसे पूछताछ हुई थी। पर इसे रिकॉर्ड में नहीं रखा गया है। इससे यह साफ हो जाता है कि यह पूरा मामला झूठा है। आईपीएस की जांच टीम मोदी को आरोपी बनाना चाहती थी...

वंजारा ने बताया कि अाईपीएस सतीश वर्मा समेत जांच टीम हर हालत में मोदी तक पहुंचकर उन्हें आरोपी बनाना चाहती थी। इससे पूरी चार्जशीट तैयार की गई। दूसरी तरफ सीबीआई जज जे.के. पंड्या ने इन्हें मान्य सबूत के रूप में स्वीकार नहीं किया। वंजारा ने कोर्ट में यह भी दलील दी कि इस मामले में सहआरोपी डीजीपी पी.पी.पांडे को 3 सप्ताह पहले ही आरोपमुक्त कर दिया गया था।

पूछताछ के सारे रिकॉर्ड गायब कर दिए गए हैं। पूछताछ के सारे रिकॉर्ड गायब कर दिए गए हैं।
Modi private inquiry into Ishrat case: Vanzara
Modi private inquiry into Ishrat case: Vanzara
X
वंजारा ने दावा किया है कि जांच टीम ने नरेंद्र मोदी से गोपनीय तरीके से पूछताछ की थी।वंजारा ने दावा किया है कि जांच टीम ने नरेंद्र मोदी से गोपनीय तरीके से पूछताछ की थी।
पूछताछ के सारे रिकॉर्ड गायब कर दिए गए हैं।पूछताछ के सारे रिकॉर्ड गायब कर दिए गए हैं।
Modi private inquiry into Ishrat case: Vanzara
Modi private inquiry into Ishrat case: Vanzara
Click to listen..