Hindi News »Gujarat News »Ahmedabad News» This Gujarati Got Australian Traffic Memo In Gandhinagar

कभी विदेश नहीं गए गुजराती को मिला ऑस्ट्रेलिया का ट्राफिक मेमो

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 15, 2018, 03:29 PM IST

ट्रॉफिक का नियम तोड़ने पर उसे 273 डॉलर का दंड भरने के लिए कहा गया है।
  • कभी विदेश नहीं गए गुजराती को मिला ऑस्ट्रेलिया का ट्राफिक मेमो
    +4और स्लाइड देखें
    यह मेमो 100 रुपए का नहीं, बल्कि 273 डॉलर का है।

    अहमदाबाद। देश में कभी-कभी कहीं न कहीं ऐसी घटनाएं होती ही रहती हैं, जो हमें आश्चर्य में डाल देती हैं। पर जो आदमी कभी भारत से बाहर गया ही नहीं, उसे यदि ऑस्ट्रेलिया का ट्रॉफिक मेमो मिल जाए, तो इसे क्या कहा जाए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से उसे 273 डॉलर (भारतीय मुद्रा के अनुसार 13880 रुपए) का जुर्माना किया गया है। यह मेमो उसे बाकायदा उसके पते पर डाक से मिला है। उसे समझ में नहीं आ रहा है कि क्या किया जाए? पुराने पते पर पहुंचा मेमो….

    गांधीनगर में सर्वेयर ऑफ इंडिया में काम करने वाले नीलेश मिस्त्री आज तक कभी भारत से बाहर नहीं गए। ऐसे में पिछले दिनों उसका दोस्त उसके घर आया, उसके हाथ में एक लिफाफा था, जो उसके पुराने पते पर था। उसके दोस्त ने बताया कि तुम्हारे नाम का यह पत्र आया है। नीलेश ने जब पत्र खोला, तो उसे बहुत आश्चर्य हुआ। पत्र ऑस्ट्रेलिया से आया था, जिसमें यह लिखा था कि आपने यहां का ट्रॉफिक नियम तोड़ा है, इसलिए आपको 273 डॉलर का दंड दिया जाता है।

    हमारे देश में यह संभव

    हमारे देश भारत में अक्सर ऐसा होता है कि दस्तावेज किसी और के और तस्वीर किसी और की होती है। तो तस्वीर देखे बिना वह कागजात संबंधित पते पर पहुंच जाता है। यह तो यहां सिस्टम के अभाव में हो सकता है। परंतु ऑस्ट्रेलिया जैसे विकसित देश में भी ऐसा हो सकता है, ऐसा शायद पहली बार देखने को मिला है। अब नीलेश भाई पसोपेश मेें हैं कि इस मेमो का क्या किया जाए?

  • कभी विदेश नहीं गए गुजराती को मिला ऑस्ट्रेलिया का ट्राफिक मेमो
    +4और स्लाइड देखें
    गांधीनगर में सर्वेयर ऑफ इंडिया में काम करने वाले नीलेश मिस्त्री आज तक कभी भारत से बाहर गए ही नहीं हैं।
  • कभी विदेश नहीं गए गुजराती को मिला ऑस्ट्रेलिया का ट्राफिक मेमो
    +4और स्लाइड देखें
    ऑस्ट्रेलिया जैसे देश से ऐसी गलती हो सकती है, यह नहीं मान सकता-नीलेश मिस्त्री।
  • कभी विदेश नहीं गए गुजराती को मिला ऑस्ट्रेलिया का ट्राफिक मेमो
    +4और स्लाइड देखें
    मैंने मेमो का बारकोड स्केन किया है, उसमें भी मेमो ओरिजनल होने का पता चलता है।
  • कभी विदेश नहीं गए गुजराती को मिला ऑस्ट्रेलिया का ट्राफिक मेमो
    +4और स्लाइड देखें
    पत्र के अनुसार नीलेश ने ऑस्ट्रेलिया के हाइवे पर कार चलाई थी, वहां उन्होंने ट्रॉफिक नियम तोड़ा है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ahmedabad News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: This Gujarati Got Australian Traffic Memo In Gandhinagar
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From Ahmedabad

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×