--Advertisement--

कभी विदेश नहीं गए गुजराती को मिला ऑस्ट्रेलिया का ट्राफिक मेमो

ट्रॉफिक का नियम तोड़ने पर उसे 273 डॉलर का दंड भरने के लिए कहा गया है।

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2018, 03:29 PM IST
यह मेमो 100 रुपए का नहीं, बल्कि 273 डॉलर का है। यह मेमो 100 रुपए का नहीं, बल्कि 273 डॉलर का है।

अहमदाबाद। देश में कभी-कभी कहीं न कहीं ऐसी घटनाएं होती ही रहती हैं, जो हमें आश्चर्य में डाल देती हैं। पर जो आदमी कभी भारत से बाहर गया ही नहीं, उसे यदि ऑस्ट्रेलिया का ट्रॉफिक मेमो मिल जाए, तो इसे क्या कहा जाए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से उसे 273 डॉलर (भारतीय मुद्रा के अनुसार 13880 रुपए) का जुर्माना किया गया है। यह मेमो उसे बाकायदा उसके पते पर डाक से मिला है। उसे समझ में नहीं आ रहा है कि क्या किया जाए? पुराने पते पर पहुंचा मेमो….

गांधीनगर में सर्वेयर ऑफ इंडिया में काम करने वाले नीलेश मिस्त्री आज तक कभी भारत से बाहर नहीं गए। ऐसे में पिछले दिनों उसका दोस्त उसके घर आया, उसके हाथ में एक लिफाफा था, जो उसके पुराने पते पर था। उसके दोस्त ने बताया कि तुम्हारे नाम का यह पत्र आया है। नीलेश ने जब पत्र खोला, तो उसे बहुत आश्चर्य हुआ। पत्र ऑस्ट्रेलिया से आया था, जिसमें यह लिखा था कि आपने यहां का ट्रॉफिक नियम तोड़ा है, इसलिए आपको 273 डॉलर का दंड दिया जाता है।

हमारे देश में यह संभव

हमारे देश भारत में अक्सर ऐसा होता है कि दस्तावेज किसी और के और तस्वीर किसी और की होती है। तो तस्वीर देखे बिना वह कागजात संबंधित पते पर पहुंच जाता है। यह तो यहां सिस्टम के अभाव में हो सकता है। परंतु ऑस्ट्रेलिया जैसे विकसित देश में भी ऐसा हो सकता है, ऐसा शायद पहली बार देखने को मिला है। अब नीलेश भाई पसोपेश मेें हैं कि इस मेमो का क्या किया जाए?

गांधीनगर में सर्वेयर ऑफ इंडिया में काम करने वाले नीलेश मिस्त्री आज तक कभी भारत से बाहर गए ही नहीं हैं। गांधीनगर में सर्वेयर ऑफ इंडिया में काम करने वाले नीलेश मिस्त्री आज तक कभी भारत से बाहर गए ही नहीं हैं।
ऑस्ट्रेलिया जैसे देश से ऐसी गलती हो सकती है, यह नहीं मान सकता-नीलेश मिस्त्री। ऑस्ट्रेलिया जैसे देश से ऐसी गलती हो सकती है, यह नहीं मान सकता-नीलेश मिस्त्री।
मैंने मेमो का बारकोड स्केन किया है, उसमें भी मेमो ओरिजनल होने का पता चलता है। मैंने मेमो का बारकोड स्केन किया है, उसमें भी मेमो ओरिजनल होने का पता चलता है।
पत्र के अनुसार नीलेश ने ऑस्ट्रेलिया के हाइवे पर कार चलाई थी, वहां उन्होंने ट्रॉफिक नियम तोड़ा है। पत्र के अनुसार नीलेश ने ऑस्ट्रेलिया के हाइवे पर कार चलाई थी, वहां उन्होंने ट्रॉफिक नियम तोड़ा है।
X
यह मेमो 100 रुपए का नहीं, बल्कि 273 डॉलर का है।यह मेमो 100 रुपए का नहीं, बल्कि 273 डॉलर का है।
गांधीनगर में सर्वेयर ऑफ इंडिया में काम करने वाले नीलेश मिस्त्री आज तक कभी भारत से बाहर गए ही नहीं हैं।गांधीनगर में सर्वेयर ऑफ इंडिया में काम करने वाले नीलेश मिस्त्री आज तक कभी भारत से बाहर गए ही नहीं हैं।
ऑस्ट्रेलिया जैसे देश से ऐसी गलती हो सकती है, यह नहीं मान सकता-नीलेश मिस्त्री।ऑस्ट्रेलिया जैसे देश से ऐसी गलती हो सकती है, यह नहीं मान सकता-नीलेश मिस्त्री।
मैंने मेमो का बारकोड स्केन किया है, उसमें भी मेमो ओरिजनल होने का पता चलता है।मैंने मेमो का बारकोड स्केन किया है, उसमें भी मेमो ओरिजनल होने का पता चलता है।
पत्र के अनुसार नीलेश ने ऑस्ट्रेलिया के हाइवे पर कार चलाई थी, वहां उन्होंने ट्रॉफिक नियम तोड़ा है।पत्र के अनुसार नीलेश ने ऑस्ट्रेलिया के हाइवे पर कार चलाई थी, वहां उन्होंने ट्रॉफिक नियम तोड़ा है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..