--Advertisement--

DB Interview : राहुल से कहा कि सरकार बने, तो हम जिसे कहें उसे गृहमंत्री बनाना : अल्पेश

अल्पेश ने कहा कि सरकार ने हमारे साथ आफिशियली बातचीत की कोशिश ही नहीं की। सरकार को गरीबों की भाषा समझ नहीं आती।

Dainik Bhaskar

Nov 25, 2017, 04:23 AM IST
ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर ने कुछ दिन पहले अहमदाबाद में एक रैली के दौरान कांग्रेस ज्वाइन किया था। ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर ने कुछ दिन पहले अहमदाबाद में एक रैली के दौरान कांग्रेस ज्वाइन किया था।

अहमदाबाद. गुजरात के युवा ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर हाल ही में कांग्रेस में शामिल हुए हैं। माना जाता है कि अल्पेश की अपनी समाज में काफी पकड़ है और कुछ सीटों पर अल्पेश का होना कांग्रेस के लिए काफी फायदेमंद और निर्णायक हो सकता है। अल्पेश का कांग्रेस में शामिल होना गुजरात चुनाव के लिहाज से राष्ट्रीय मीडिया के लिए भी बड़ी खबर थी। कांग्रेस नेता अल्पेश ने DainikBhaskar.com के साथ एक्सक्लूसिव मुलाकात में अपने आंदोलन, कांग्रेस के साथ गठबंधन और आगे की स्ट्रैटजी पर बातचीत की।

Q. आपका आंदोलन बीजेपी सरकार की कृपा से चला, ऐसा आरोप है।

- सरकार ने हमारे साथ ऑफिशियली बातचीत का प्रयास किया ही नहीं। सरकार को गरीबों की भाषा कभी समझ में आती ही नहीं।

Q. आपको बीजेपी में शामिल होने का ऑफर मिला था ?
- मुझे कहा गया था कि बीजेपी का खेस (पट्टा) पहन लो, बाद में कुछ करेंगे।

Q. कांग्रेस की सरकार बनेगी तो शराबबंदी कानून सख्त बनेगा, विश्वास है?
- सरकार बनेगी तो नया कानून बनाएंगे। कम से कम हम जिसे कहेंगे, उसे गृहमंत्री बनाया जाएगा, जिससे ये काम कर सकेंगे।

Q. कांग्रेस ने कभी हार्दिक को मनाने के लिए कहा था?
- हमारे बीच कम्युनिकेशन अच्छा है। हम सहजता से बात करते हैं। हमारा गुनाह बस इतना है कि हम गरीबों की बात करते हैं।

Q. आपके आंदोलन की पद्धति योग्य नहीं, ऐसा कहा जाता है।
- हमने बहुचराजी से अहमदाबाद तक बेरोजगार रैली निकाली। पूरी रैली शांतिपूर्ण थी, यह सरकार को अच्छा नहीं लगा। हमने गुजरात में जातियों को बंटने नहीं दिया। यदि नौकरी मांगने जाएं तो कहते हैं कि रोजगार मांगने यहां नहीं आओ। तो आखिर युवा कहां जाएं? इस सवाल का जवाब किसी नेता के पास नहीं है। बीजेपी का कोई नेता यह नहीं बता रहा कि इस दौरान कितने रोजगार पैदा हुए।


Q. इस चुनाव में कितनी टिकट मिलेगी?
- आंकड़े पर न जाओ। ईमानदार कार्यकर्ताओं का आगे आना जरूरी है।

Q. यदि बीजेपी जीतेगी तो उनका मैन्डेट आपके आंदोलन के खिलाफ नहीं माना जाएगा?

- बीजेपी जीतेगी ही नहीं। कांग्रेस 125 सीटें जीतेगी।

Q. यह चुनाव विकास और जातिवाद के बीच लड़ाई है?
- रोजगार मांगना, शराबबंदी की मांग करना जातिवाद है? बीजेपी इसे जातिवाद का मोहरा बनाना चाहती है। यह जातिवाद नहीं, गुजरात का आक्रोश है।

कौन हैं अल्पेश ठाकोर?
- ठाकोर ओबीसी, एससी-एसटी एकता मंच और ठाकोर क्षत्रिय सेना के फाउंडर हैं। अल्पेश ने पाटीदार आरक्षण आंदोलन का विरोध किया था। जब हार्दिक पटेल ने 2015 में पाटीदारों को सरकारी नौकरियों और एजुकेशन में OBC के तय कोटे के तहत रिजर्वेशन देने के लिए आंदोलन शुरू किया तो ठाकोर ने भी उनके जवाब में ओबीसी, एससी और एसटी कम्युनिटी के लिए आंदोलन शुरू कर दिया।
- इसी साल जुलाई में ठाकोर की अगुआई में गुजरात के किसानों ने कर्ज माफी की मांग करते हुए हाईवेज पर कई लीटर दूध बहा दिया था। एक साल पहले ठाकोर की अगुआई में अवैध शराब कारोबार के खिलाफ भी आंदोलन चला था। ठाकोर राज्य में बाबा साहेब अंबेडकर की भव्य प्रतिमा लगवाने के लिए भी आंदोलन कर चुके हैं।

गुजरात में 30 फीसदी ओबीसी हैं। गुजरात में 30 फीसदी ओबीसी हैं।
X
ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर ने कुछ दिन पहले अहमदाबाद में एक रैली के दौरान कांग्रेस ज्वाइन किया था।ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर ने कुछ दिन पहले अहमदाबाद में एक रैली के दौरान कांग्रेस ज्वाइन किया था।
गुजरात में 30 फीसदी ओबीसी हैं।गुजरात में 30 फीसदी ओबीसी हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..