Hindi News »Gujarat »Ahmedabad» Red Cross Put Out Of Muslim Societies

मुस्लिम सोसाइटियों के बाहर लगाया जा रहा था रेडक्रॉस, ये है इसकी सच्चाई

मुस्लिम सोसाइटियों के बाहर लगे रेडक्रॉस का मामला निर्वाचन आयोग पहुंचने से भारी विवाद शुरू हाे गया था।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 18, 2017, 04:45 AM IST

  • मुस्लिम सोसाइटियों के बाहर लगाया जा रहा था रेडक्रॉस, ये है इसकी सच्चाई

    अहमदाबाद.शहर के पालडी क्षेत्र में मुस्लिम सोसाइटियों के बाहर लगे रेडक्रॉस का मामला निर्वाचन आयोग पहुंचने से भारी विवाद शुरू हाे गया था। जांच के बाद पुलिस ने बताया कि कचरा उठाने के लिए तकनीकी व्यवस्था के अंतर्गत रेडक्रॉस का निशान लगाया गया था।

    महानगरपालिका द्वारा निर्धारित किए गए प्वाइंट ऑफ इंटरेस्ट (घर-घर से कचरा एकत्रीकरण के लिए गाड़ी सोसाइटी के गेट पर आती है) तक कांट्रैक्टर की गाड़ी जाती है या नहीं इसकी जांच के लिए गाड़ियों पर जीपीएस लगाया गया है। निर्धारित प्वाइंट ऑफ इंटरेस्ट पर गाड़ी के पहुंचते ही मॉनिटरिंग करने वाले अधिकारी के मोबाइल का सोफ्टवेर रेड से ग्रीन सिग्नल बताने लगता है। जब तक गाड़ी निशान तक नहीं पहुंचती तब तक रेड निशान ही रहता है। रेड का मतलब है कि कचरा उठाया नहीं गया। ड्राइवरों की सुविधा के लिए सोसाइटियों में रेडक्रॉस का निशान लगाया गया है।

    प्वाइंट आफ आॅर्डर यानी कचरा उठाने की जगह


    अहमदाबाद शहर में कार्पोरेशन ने लगभग 25000 प्वाइंट ऑफ आर्डर निर्धारित किए हैं। प्वाइंट ऑफ आर्डर यानी कचरा उठाने का स्थल। हर सोसाइटी, फ्लैट में पीओआई निर्धारित है। टेक्नोलॉजिकल सुविधा के लिए निर्धारित प्वाइंट ऑफ आर्डर से गूगल में लेट लोंग तय होता है। कचरा उठाने वाली गाड़ी उस जगह जाती है या नहीं इसे जीपीएस बेस्ड सिस्टम से मोबाइल में रेड या ग्रीन सिग्नल से जाना जा सकता है। रेड सिग्नल का मतलब है कि गाड़ी कचरा लेने नहीं आई।

    पीओआई पर गाड़ियों के लिए 50 सेकेंड से 1 मिनट का समय फिक्स


    हर प्वाइंट ऑफ इंटरेस्ट पर 50 सेकेंड से एक मिनट गाड़ियों के रुकने का समय फिक्स है। यानी कि रेडक्रॉस वाली सोसाइटी में बिना रुके ही गाड़ी आगे निकल जाती है तो रेड सिग्नल दिखाई देता है। निर्धारित समय तक प्वाइंट पर गाड़ी के रुकने पर सिग्नल ग्रीन हो जाता है।

    ड्राइवरों की सुविधा के लिए सोसाइटी के गेट पर रेडक्रॉस का निशान जरूरी


    सभी जोन में लाल स्टिकर लगाने का निर्णय लिया गया है। दक्षिण जोन में लगभग यह प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। पश्चिम जोन में ड्राइवरों की सुविधा के लिए रेडक्रॉस का निशान लगाया गया है। विवाद होने के बाद निशान मिटाकर वहां स्टिकर लगेगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ahmedabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×