Hindi News »Gujarat »Ahmedabad» Woman Campaigning For Daughter In Law In Gujrat Election

नाराज सास बहू का प्रचार करने पहुंची, बेटा बोला- मैं MP प्रभात को पिता नहीं मानता

MP की बहू सुमन चौहान को टिकट मिलने से सास रंगेश्वरी नाराज हो गईं थी।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 26, 2017, 03:42 AM IST

  • नाराज सास बहू का प्रचार करने पहुंची, बेटा बोला- मैं MP प्रभात को पिता नहीं मानता
    +3और स्लाइड देखें
    बहू को टिकट देने से नाराज सांसद पत्नी एक दिन बाद ही बहू के साथ नजर आईं।

    गोधरा (गुजरात).गोधरा से BJP MP प्रभात सिंह चौहान की पत्नी रंगेश्वरी देवी ने शनिवार को बहू प्रवीण चौहान के लिए चुनाव प्रचार करने निकलीं। बता दें कि MP की बहू सुमन प्रवीण चौहान को टिकट मिलने से सास रंगेश्वरी नाराज हो गईं थी। उन्होंने सांसद पति को चुनौती दी थी कि वह बहू का प्रचार करके दिखाएं। पर एक दिन बाद ही वह कालोल के मौजूदा पार्टी विधायक अनूप राठौर के घर बहू के साथ नजर आईं। वह बहू के लिए प्रचार करने बाहर भी निकलीं। सांसद प्रभात सिंह ने टिकट पर पुनर्विचार को लेकर पार्टी अध्यक्ष को खत लिखा है। वहीं, बेटे प्रवीण ने कहा है कि मैं उन्हें (प्रभात) पिता नहीं मानता हूं।

    सास-बहू के झगड़े से परेशान MP का शाह को लेटर

    कालोल विधानसभा सीट पर ‘35 साल की सास और 50 साल की बहू’ के कथित झगड़े से परेशान प्रभातसिंह चौहाण ने शनिवार को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिख कर टिकट पाने वाली बहू आैर अपने बेटे पर गंभीर आरोप लगाते हुए कैंडिडेट बदलने की मांग कर डाली। पंचमहाल लोकसभा सीट के आदिवासी MP प्रभातसिंह चौहाण ने अपने ही संसदीय क्षेत्र के तहत आने वाली कालोल सीट के लिए अपनी चौथी पत्नी 35 साल की रंगेश्वरी चौहाण के लिए टिकट की मांग की थी पर शुक्रवार को जारी टिकटों की पांचवीं लिस्ट में BJP ने यहां से उनके बेटे प्रवीणसिंह चाैहान की 50 साल की पत्नी सुमनबेन को कैंडिडेट बना दिया। फिर घर का झगड़ा बाहर आ गया और रंगेश्वरी ने एक फेसबुक पोस्ट (जिसे बाद में हटा लिया गया) कर अपने पति को बहू के लिए प्रचार कर दिखाने की चुनौती तक दे डाली थी। रंगेश्वरी ने कहा था कि वह बेहतर कैंडिडेट हो सकती हैं उनकी बहू का तो स्थानीय वोटर लिस्ट में नाम तक नहीं है।

    बहू ने कहा- कांग्रेस से भाजपा में आए हैं चौहान

    प्रभातसिंह चौहाण पहले कांग्रेस में थे और बाद में भाजपा में आए थे। उनके बेटे ने भी भाजपा छोड़ कर कांग्रेस का दामन थामा था और अभी कुछ ही समय पहले वह वापस पार्टी में लौटे थे। चौहाण ने अमित शाह को लिखे पत्र में अपने पॉलिटिकल करियर और कांग्रेस छोड़ भाजपा में आने की परिस्थितियों और इसके बाद क्षेत्र में पार्टी का प्रभाव बढ़ने की चर्चा की है। साथ ही उन्होंने अपने बेटे के शराब के धंधे में लिप्त होने का आरोप लगाया है।

    MP ने लेटर में लिखी ये बातें

    प्रभातसिंह ने लिखा है कि प्रवीण और सुमनबेन दोनों जेल भी जा चुके हैं। पत्नी के साथ उन्होंने भी कैंडिडेट बदलने की मांग की है। उन्होंने इस बात पर दु:ख व्यक्त किया है कि टिकट के बारे में उनसे सलाह नहीं ली गई। उन्होंने लिखा है कि इस सीट और बगल की गोधरा सीट पर BJP हार जाएगी तो इसके लिए उन्हें जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकेगा।

    MP की पत्नी निर्दलीय भरेंगी पर्चा

    रंगेश्वरीबेन निर्दलीय कैंडिडेट के रूप में नॉमिनेशन भरने की बात पर भी कायम हैं। बहू को टिकट मिलने से वे काफी नाराज हैं। गौरतलब है कि गुजरात के एक और MP लीलाधर वाघेला ने डीसा सीट पर अपने बेटे के लिए टिकट की मांग की है और ऐसा नहीं होने पर इस्तीफे की चेतावनी दी है। डीसा के लिए कैंडिडेट की अभी घोषणा नहीं की गई है। इस पर भी विवाद होने की संभावना है।

  • नाराज सास बहू का प्रचार करने पहुंची, बेटा बोला- मैं MP प्रभात को पिता नहीं मानता
    +3और स्लाइड देखें
    प्रभातसिंह की पत्नी रंगेश्वरीबेन ने भी बीजेपी से टिकट मांगा था, लेकिन उन्हें नहीं मिला। -फाइल
  • नाराज सास बहू का प्रचार करने पहुंची, बेटा बोला- मैं MP प्रभात को पिता नहीं मानता
    +3और स्लाइड देखें
    बहू सुमनबेन का कहना था कि वे सास रंगेश्वरी से नहीं डरतीं, चुनाव जीतकर दिखाएंगी। -फाइल
  • नाराज सास बहू का प्रचार करने पहुंची, बेटा बोला- मैं MP प्रभात को पिता नहीं मानता
    +3और स्लाइड देखें
    प्रभात सिंह ने कहा था कि अच्छा है परिवार में ही टिकट मिला है। -फाइल
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Ahmedabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×