--Advertisement--

उपमुख्यमंत्री की उपस्थिति में निकली भगवान जगन्नाथ की जलयात्रा

बेंड बाजा, हाथी-घोड़ा और भजन मंडलियों के साथ निकली जलयात्रा।

Dainik Bhaskar

Jun 28, 2018, 04:19 PM IST
नितीन पटेल एवं प्रदीप सिंह जाडेजा ने पूजन विधि में भाग लिया। नितीन पटेल एवं प्रदीप सिंह जाडेजा ने पूजन विधि में भाग लिया।

अहमदाबाद। यहां के विख्यात जगन्नाथ मंदिर में हर साल की तरह इस साल भी आषाढ़ महीने की द्वितीया को रथयात्रा निकलेगी। इसके मद्देनजर गुरुवार को मंदिर से जलयात्रा का आयोजन किया गया। इसमें उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल और गृहराज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा उपस्थित थे। दोनों ने पूजन विधि में भाग लिया। सर्वत्र सुख-शांति की कामना…

इस अवसर पर नीतिन पटेल ने कहा कि भगवान जगन्नाथ दशकों से नगरभ्रमण कर भक्तों को दर्शन दे रहे हैं। जगन्नाथ के ही आशीर्वाद से इस बार अच्छी बारिश होगी। इससे अच्छी खेती और अच्छा उत्पादन होगा। लोगों एवं पशुओं के लिए पीने के पानी की समस्या नहीं होगी। राज्य का विकास हो, सर्वत्र सुख-शांति हो, ऐसी प्रार्थना करते हैं।

जगन्नाथ यात्रा सच्चे अर्थों में लोकोत्सव

अपने उद्बोधन में प्रदीप सिंह जाडेजा ने कहा कि भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा सही अर्थों में लोकोत्सव है। इसमें बच्चे-बूढ़े, गरीब-अमीर सभी पूरी आस्था के साथ शामिल होते हैं। यह रथयात्रा केवल गुजरात की ही नहीं, बल्कि पूरे देश की आस्था का प्रतीक है। रथयात्रा के पहले निकलने वाली जलयात्रा का भी महत्व है। पवित्र जल के अभिषेक के बाद ही भगवान का शास्त्रोक्त विधि से पूजन किया जाता है। भगवान जगन्नाथ हम सभी को सुख-शांति और सामर्थ्य दे, ऐसी हम प्रार्थना करते हैं।

नदी का जल 108 कलश में लाया गया

141 वीं रथयात्रा अहमदाबाद में आषाढ़ द्वितीया को निकलेगी। इस पहले जलयात्रा में साबरमती नदी की पूजा की गई। इस अवसर पर साधू-संतों और गृृहराज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा भी उपस्थित थे। उन्होंने नदी में जलाभिषेक किया। इस नदी का पवित्र जल 108 कलश में लिया गया। यह जल मंदिर में लाया जाएगा। इस जल से भगवान जगन्नाथ का जलाभिषेक किया जाएगा।

रथयात्रा के पहले छोटी यात्रा यानी जलयात्रा। रथयात्रा के पहले छोटी यात्रा यानी जलयात्रा।
गुरुवार को मंदिर से जलयात्रा का आयोजन किया गया। गुरुवार को मंदिर से जलयात्रा का आयोजन किया गया।
नदी का पवित्र जल 108 कलशों में लाया गया। नदी का पवित्र जल 108 कलशों में लाया गया।
इस जल से भगवान जगन्नाथ का जलाभिषेक होगा। इस जल से भगवान जगन्नाथ का जलाभिषेक होगा।
X
नितीन पटेल एवं प्रदीप सिंह जाडेजा ने पूजन विधि में भाग लिया।नितीन पटेल एवं प्रदीप सिंह जाडेजा ने पूजन विधि में भाग लिया।
रथयात्रा के पहले छोटी यात्रा यानी जलयात्रा।रथयात्रा के पहले छोटी यात्रा यानी जलयात्रा।
गुरुवार को मंदिर से जलयात्रा का आयोजन किया गया।गुरुवार को मंदिर से जलयात्रा का आयोजन किया गया।
नदी का पवित्र जल 108 कलशों में लाया गया।नदी का पवित्र जल 108 कलशों में लाया गया।
इस जल से भगवान जगन्नाथ का जलाभिषेक होगा।इस जल से भगवान जगन्नाथ का जलाभिषेक होगा।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..