--Advertisement--

पति की पूर्व प्रेमिका की ‘आत्मा’ करती थी परेशान, पत्नी के सुसाइड नोट में खुलासा

शादी के पहले कुणाल एक युवती से प्यार करता था, पर शादी नहीं हो पाई, इससे युवती ने सुसाइड कर लिया था।

Dainik Bhaskar

Sep 15, 2018, 12:06 PM IST
कुणाल और कविता। कुणाल और कविता।

अहमदाबाद। नरोडा में कास्मेटिक के कारोबारी कुणाल त्रिवेदी की पत्नी कविता और बेटी श्रीन के साथ सुसाइड करने की घटना को लेकर पूरे शहर में सनसनी है। इस मामले में पहले यह माना जा रहा था कि आर्थिक कारणों से कुणाल ने पहले पत्नी और बेटी को जहर देकर मार डाला, फिर खुद फांसी लगा ली। पर अब पत्नी के सुसाइड नोट से यह खुलासा हुआ है कि पति कुणाल की पूर्व प्रेमिका की आत्मा परेशान करती थी, इसलिए कुणाल ने यह कदम उठाया। कुणाल प्रेमिका से शादी नहीं कर पाया…

इस मामले में कुणाल के रिश्तेदारों ने पुलिस को बताया कि शादी से पहले कुणाल की एक प्रेमिका थी। किंंतु पारिवारिक कारणों से दोनों की शादी नहीं हो पाई। इसके बाद प्रेमिका ने सुसाइड कर लिया। उसी की आत्मा कुणाल को परेशान किया करती थी।

एक करोड़ में घर बेचा

सुसाइड नोट में कविता ने लिखा है कि मां-बाबूजी प्रणाम, आज तक की तकलीफों के लिए मुझे माफ कर देंगे। मां, हमने एक करोड़ में मकान बेच दिया है। सभी को पैसे चुका दिए गए हैं। जो बचे हैं, उसे मैंने और कुणाल ने बांट लिए हैं। मैं मेरे हिस्से की सारी राशि आपको सौंपकर जा रही हूं। आज तक मैंने जो कुछ बचाया है, वह अपने और बेटी श्रीन के लिए बचाया। आज मैं श्रीन का हिस्सा भी आपको देना चाहती हूं।

न तो मरने दे रही है और न ही जीने दे रही है

आत्मा के परेशान करने के संबंध में कविता ने लिखा है कि वह न तो हमें जीने देना चाहती है और न ही मार डालना चाहती है। हम काफी सोच-विचार कर यह कदम उठा रहे हैं। अाप कभी ऐसा मत सोचना कि क्या इंसान को इतनी परेशानियां हो सकती हैं कि हर दो-चार दिनों में एक नई बात सुनने को मिले। वह हमें न तो शांति से जीने देना चाहती है और न ही मार डालना चाहती है। दुनिया इस बात को नहीं समझेगी, उल्टा हमें पागल ही समझा जाएगा। इसलिए हम जा रहे हैं। इसके लिए कुणाल ने कोई जबर्दस्ती नहीं की है। मैंने इस दिशा में खूब विचार कर यह निर्णय लिया, क्योंकि कुणाल के बिना जीना मुश्किल है। ये दुनिया हम मां-बेटी को जीने नहीं देगी। मैं जल्दी में हूं। मेरी भूलों को क्षमा करना।

मेरी सास इन सबसे वाकिफ है

कविता ने सुसाइड नोट में लिखा है- मैं श्रीन को साथ ले जा रही हूं। इस रुपए से घर को अच्छे से बना लेना। कोई दान-पुण्य करना हो, तो वह भी कर लेना। इसमें से 7 बच्चों को जरूरत के हिसाब से दे देना। इस राशि से 10 हजार सरिता और 10 हजार नीतू को दे देना, क्योंकि ये राशि उन्होंने मुझे दी थी। मां, इस राशि से तुम्हारा काम थोड़ा तो चल ही जाएगा। क्योंकि अब मैं उस आत्मा से परेशान हो गई हूं। इन सब बातों से मेरी सास अच्छी तरह से वाकिफ है।

कोई युवती कुणाल से प्यार करती थी

कविता ने आखिरी पेज पर कुणाल की प्रेमिका के बारे में लिखा है कि मेरी सास इन हालात को जानती-समझती है। क्योंकि हमारे जीवन में आई तमाम तकलीफों का कारण वहीं हैं। यदि कोई युवती कुणाल को चाहती थी, तो उसे इन्हीं लोगों ने कहा था कि कुणाल अपने माता-पिता की मर्जी के खिलाफ शादी करना चाहता है। परंतु उस युवती ने बाद में आत्महत्या कर ली। आज हम पर उसी कारण से परेशानियां आ रही हैँ। वह कुणाल को अपने साथ ले जाने के लिए बार-बार प्रयास कर रही थी। यही नहीं, उससे कुछ न कुछ गलत काम भी करवा रही थी। उसी कारण हमारी परेशानियां बढ़ रही थीं। हम असहनीय हो गया है, क्योंकि वह बेटी श्रीन पर भी हमला करने लगी है।

Ahmedabad suicide case: krunal died lovers soul upset a family
बेटी श्रीन के साथ कुणाल बेटी श्रीन के साथ कुणाल
X
कुणाल और कविता।कुणाल और कविता।
Ahmedabad suicide case: krunal died lovers soul upset a family
बेटी श्रीन के साथ कुणालबेटी श्रीन के साथ कुणाल
Bhaskar Whatsapp
Click to listen..