--Advertisement--

इंजीनियर्स और MBA बन रहे हैं गुजरात पुलिस में कांस्टेबल

Dainik Bhaskar

May 05, 2018, 01:23 PM IST

उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले युवा सिक्योर जॉब चाहते हैं, फिर वह जॉब भले ही कम वेतन वाली ही क्यों न हो।

नवरंगपुरा पुलिस स्टेशन में लोकरक्षक दल में नियुक्त होने वाले हरेश विट्ठल के पास एमबीए की डिग्री है। नवरंगपुरा पुलिस स्टेशन में लोकरक्षक दल में नियुक्त होने वाले हरेश विट्ठल के पास एमबीए की डिग्री है।

अहमदाबाद। युवाओं को रोजगार न मिलने के कारण वे अपनी क्वालिफिकेशन से जुड़ी नौकरी के बजाए अन्य क्षेत्रों में रोजगार तलाशने लगे हैं। राजधानी के नवरंगपुरा पुलिस स्टेशन में लोक रक्षक दल ( LRD) में सिलेक्ट हुए हरेश विट्ठल के पास MBA की डिग्री है। दूसरे भी हैं हाईक्वालिफाइड….

एक अन्य महिला कांस्टेबल भी मैनेजमेंट ग्रेजुएट है। उसे हाल ही में ट्रांसफर मिला है। इसके अलावा पुलिस स्टेशन में अन्य पांच लाेकरक्षक दल के जवान हैं, जिनके पास BCA, BA, BED, PGDCA और MSC की डिग्री है। हालांकि, इस पद के लिए आवश्यक क्वालीफिकेशन सिर्फ 12 वीं पास है।

1000 उम्मीदवार के पास प्रोफेशनल डिग्री

गुजरात पुलिस के डेटा के अनुसार 2017 में LRD के रूप में चयन किए गए उम्मीदवारों में से करीब 1000 प्रत्याशी प्रोफेशनल डिग्री वाले हैं। LRDs को 5 साल के लिए फिक्स वेतन दिया जाता है। इसके अलावा उन्हें रेग्यूलर कांस्टेबल की क्लास 3 की पोस्ट दी जाती है।

छोटी पोस्ट के लिए बड़ी डिग्री वाले

2017 में लोकरक्षक दल की भर्ती के चेयरमेन और वडोदरा रेंज के IGP जीएस मलिक बताते हैं कि चयन किए गए 17532 एलडीआर के जवानों में से 50% से अधिक ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट हैं।

एफआईआर लिखने का काम नहीं दिया जाता

MBA डिग्रीधारी LRD के एक जवान का कहना है कि मैंने सब-इंस्पेक्टर और LRD दोनों की परीक्षा दी थी। किंतु मेरा सेलेक्शन LRD के लिए हुआ। मैं दूसरे कंपेटिटीव एक्जाम की भी तैयारी कर रहा हूं। इसके लिए मैंने यह जॉब स्वीकार की है। यहां हमें एफआईआर या कंप्यूटर ऑपरेशन जैसे काम नहीं दिए जाते। अधिकांश समय हम रोड पर ड्यूटी करते रहते हैं।

सुरक्षित नौकरी की इच्छा

गुजरात यूनिवर्सिटी के समाजशास्त्र विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर गौरांग जानी के अनुसार प्राइवेट सेक्टर में अच्छे वेतन की नौकरियों की कमी है। उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले युवा सिक्योर जॉब चाहते हैं। फिर वह जॉब भले ही कम वेतन वाली ही क्यों न हो।

17532 एलआरडी के जवानों में से 50 प्रतिशत से अधिक ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट हैं। 17532 एलआरडी के जवानों में से 50 प्रतिशत से अधिक ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट हैं।
अधिकांश समय व्यवस्था बनाए रखने के लिए रोड पर ही ड्यूटी करते हैं। अधिकांश समय व्यवस्था बनाए रखने के लिए रोड पर ही ड्यूटी करते हैं।
ऊंची शिक्षा प्राप्त करने वाले युवाओं को सिक्याेर जॉब चाहते हैं। फिर चाहे उस जॉब में वेतन कम क्यों न हो। ऊंची शिक्षा प्राप्त करने वाले युवाओं को सिक्याेर जॉब चाहते हैं। फिर चाहे उस जॉब में वेतन कम क्यों न हो।
X
नवरंगपुरा पुलिस स्टेशन में लोकरक्षक दल में नियुक्त होने वाले हरेश विट्ठल के पास एमबीए की डिग्री है।नवरंगपुरा पुलिस स्टेशन में लोकरक्षक दल में नियुक्त होने वाले हरेश विट्ठल के पास एमबीए की डिग्री है।
17532 एलआरडी के जवानों में से 50 प्रतिशत से अधिक ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट हैं।17532 एलआरडी के जवानों में से 50 प्रतिशत से अधिक ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट हैं।
अधिकांश समय व्यवस्था बनाए रखने के लिए रोड पर ही ड्यूटी करते हैं।अधिकांश समय व्यवस्था बनाए रखने के लिए रोड पर ही ड्यूटी करते हैं।
ऊंची शिक्षा प्राप्त करने वाले युवाओं को सिक्याेर जॉब चाहते हैं। फिर चाहे उस जॉब में वेतन कम क्यों न हो।ऊंची शिक्षा प्राप्त करने वाले युवाओं को सिक्याेर जॉब चाहते हैं। फिर चाहे उस जॉब में वेतन कम क्यों न हो।
Astrology

Recommended

Click to listen..