Hindi News »Gujarat »Ahmedabad» Lesbian Woman Jumps To Death In River With A Baby

पहले मासूम को फेंका...फिर एक-दूजे को दुपट्टे से बांध खुद भी कूद गई नदी में; लिपिस्टिक से प्लेट पर लिख गईं ये मैसेज

रास्ते पर खुरचकर लिखा सुसाइड नोट, पहले बच्ची को नदी में फेंका फिर खुद भी कूद गईं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 12, 2018, 02:16 PM IST

  • पहले मासूम को फेंका...फिर एक-दूजे को दुपट्टे से बांध खुद भी कूद गई नदी में; लिपिस्टिक से प्लेट पर लिख गईं ये मैसेज
    +1और स्लाइड देखें

    • समलैंगिक जोड़े ने साबरमती नदी में कूद कर दे दी जान
    • छलांग लगाने से पहले तीन साल की बच्ची को नदी में फेंका
    • सुसाइड नोट में लिखा- ...ये दुनिया हमें जीने नहीं दे रही

    अहमदाबाद.दो शादीशुदा महिलाओं ने सोमवार को साबरमती नदी में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि पिछले सात महीने से दोनों रिलेशन में थे। सुसाइड से पहले दोनों महिलाओं में से एक ने पहले अपनी तीन साल की बच्ची को नदी में फेंका फिर खुद एक-दूसरे को दुपट्टे से बांधकर कूद गईं। दोनों ने पुल के पास कांक्रीट को खुरचकर एक सुसाइड नोट भी लिखा है। इसके आलावा एक डिस्पोजल प्लेट पर भी लिपिस्टिक से मैसेज छोड़ गई हैं। क्या लिखा है उसमें...

    - मृतका की पहचान 30 साल की आशा ठाकोर और 28 साल की भावना ठाकोर के रूप में हुई है। वहीं, बच्ची का नाम मेघा है, जो आशा की बेटी थी। रेस्क्यू टीम जब मौके पर पहुंची तब तक बच्ची की सांसे चल रही थी। उसे फौरन व्हीएस हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे डेड डिक्लेयर कर दिया।

    - दोनों महिलाएं अहमदाबाद जिले के राजोड़ा गांव में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करती थीं। स्थानीय पुलिस ने बताया कि महिला ने एलिसब्रिज के पास कांक्रीट के रास्ते पर खुरचकर एक सुसाइड नोट लिखा है। इसमें उन्होंने लिखा है- 'हमने दुनिया से खुद को अलग कर लिया था ताकि हम साथ रहें, लेकिन ये दुनिया हमें जीने नहीं दे रही।'

    डिस्पोजल प्लेट पर भी छोड़ा मैसेज
    - दोनों ने मरने से पहले थर्मोकॉल की बनी प्लेट पर लिपिस्टिक से एक मैसेज छोड़ा है। इसमें उन्होंने लिखा है- 'ये दुनिया हमें एक साथ नहीं रहने दे रही। हम कब एक होंगे? कब हम मिलेंगे...शायद अगले जन्म में हम फिर मिलेंगे।'
    - आशा बावला में घनश्याम रेसीडेंसी में रहती थी। दस साल पहले ही उसकी शादी थी। मेघना के अलावा छह साल की एक और बच्ची है। वहीं, भावना बावला के पास राजोड़ा गांव में रहती थी। वह अपने पीछे 14 और 13 साल के दो बेटों को छोड़ गई है।

  • पहले मासूम को फेंका...फिर एक-दूजे को दुपट्टे से बांध खुद भी कूद गई नदी में; लिपिस्टिक से प्लेट पर लिख गईं ये मैसेज
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ahmedabad News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Lesbian Woman Jumps To Death In River With A Baby
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ahmedabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×