अहमदाबाद

--Advertisement--

नडियाद के डॉक्टर के बेटे को जर्मनी के हॉस्टल में बनाया बंधक

सांसद ने भारतीय दूतावास से बात करके आखिर उन्हें छुड़वा लिया।

Dainik Bhaskar

Apr 28, 2018, 12:38 PM IST
पिता और बहन के साथ रतिब्रता मुखोपाध्याय। पिता और बहन के साथ रतिब्रता मुखोपाध्याय।

नडियाद। यहां के किडनी हॉस्पिटल में काम करने वाले डॉक्टर बनिब्रता मुखोपाध्याय के जर्मनी में पढ़ाई करने वाले बेटे को बंधक बना लिया गया था। इसकी सूचना मिलते ही सांसद देवसिंह चौहान से मदद मांगी गई। इससे उन्होंने जर्मनी के संबंधित अधिकारियों से इस बारे में बात की। अाखिर वहां की एम्बेसी और पुलिस के सहयोग से बंधक बेटे को छुड़वा लिया गया। माता-पिता जर्मनी जाने को तैयार…

इस संबंध में पति-पत्नी दोनों ही जर्मनी जाने के लिए तैयार हो गए हैं। उनका पासपोर्ट बनना है, इसके लिए भी सांसद ने पासपोर्ट विभाग को कुछ समझाइश दी। दोनों अब जर्मनी जाने के लिए आवश्यक तैयारी कर रहे हैं। उनके बेटे का नाम रतिब्रता मुखोपाध्याय है। जिसे हॉस्टल में ही बंधक बना लिया गया था। इस मामले में ड्रग्स की कोई बात सामने आई थी, पर सांसद द्वारा एम्बेसी से बात करने के बाद बेटे काे छुड़वा लिया गया है।

माता-पिता और बहन के साथ। माता-पिता और बहन के साथ।
तिब्रता मुखोपाध्याय। तिब्रता मुखोपाध्याय।
तिब्रता मुखोपाध्याय। तिब्रता मुखोपाध्याय।
तिब्रता मुखोपाध्याय। तिब्रता मुखोपाध्याय।
X
पिता और बहन के साथ रतिब्रता मुखोपाध्याय।पिता और बहन के साथ रतिब्रता मुखोपाध्याय।
माता-पिता और बहन के साथ।माता-पिता और बहन के साथ।
तिब्रता मुखोपाध्याय।तिब्रता मुखोपाध्याय।
तिब्रता मुखोपाध्याय।तिब्रता मुखोपाध्याय।
तिब्रता मुखोपाध्याय।तिब्रता मुखोपाध्याय।
Click to listen..