--Advertisement--

एक ही हुक पर तीनों ने किया सुसाइड, बेटी की मौत के बाद माता-पिता ने उसके मुंह में तुलसी पत्र रखा

22 साल पहले सुसाइड कर चुकी कुणाल की प्रेमिका की आत्मा अब बेटी पर हमला करने लगी थी।

Danik Bhaskar | Sep 15, 2018, 12:04 PM IST
हंसती-मुस्कराती बेटी के साथ कुणाल। हंसती-मुस्कराती बेटी के साथ कुणाल।

अहमदाबाद। यहां नरोडा में अवनि स्कॉय अपार्टमेंट में मंगलवार को कारोबारी कुणाल त्रिवेदी, उसकी पत्नी कविता और बेटी श्रीन ने सुसाइड कर लिया। इस मामले में कविता के सुसाइड नोट से नया मोड़ आया है। कविता ने लिखा हे कि 22 साल पहले कुणाल की प्रेमिका कुणाल से शादी करना चाहती थी, पर शादी न होने के कारण उसने आत्महत्या कर ली। इसके बाद उसकी आत्मा उन्हें काफी परेशान कर रही थी। जब उसने बेटी पर हमला करना शुरू कर दिया, तब कुणाल ने सामूहिक रूप से आत्महत्या करने का फैसला किया। सबसे पहले बेटी की बलि…

इस मामले में सबसे पहले बेटी को फांसी लगाने को कहा गया। अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि उस समय बेटी श्रीन होश में थी या नहीं। पर जब उसका शव नीचे उतारा गया, तो माता-पिता ने उसके मुंह में तुलसी पत्र डालकर अंतिम विदाई दी। उसके बाद कविता ने फांसी लगाकर आत्महत्या की। तब उसकी लाश को कुणाल ने नीचे सुला दिया। कविता के गले में फांसी का निशान मिला।

17 गोलियां कहां गई?

घटनास्थल से अल्पराजोलेम की 17 गोलियां नहीं मिली। ये गोलियां श्रीन को दी गई थीं, या नहीं, इसमें से मां कविता को कितनी गोलियां दी गई, यह भी अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है।

आत्महत्या के पहले कुणाल ने अपने दोनों हाथ कैसे बांधे?

सुसाइड के लिए उपयोग में लाई गई दो चादरों में से एक फट गई। लेकिन यह रहस्य बरकरार है कि आत्महत्या के पहले कुणाल ने अपने दोनों हाथों को क्यों और किस तरह से बांधा?

बेटी को पलंग पर सुलाकर चादर ढांक दी। बेटी को पलंग पर सुलाकर चादर ढांक दी।
17 गोलियां कहां गई? 17 गोलियां कहां गई?
कुणाल के दोनों हाथ बंधे हैं, कैसे बांधा, यह रहस्य। कुणाल के दोनों हाथ बंधे हैं, कैसे बांधा, यह रहस्य।
कुणाल और कविता7 कुणाल और कविता7
कुणाल, कविता और बेटी श्रीन कुणाल, कविता और बेटी श्रीन

Related Stories