--Advertisement--

जब मगरमच्छों से भरे तालाब में कूद गए मोदी, बचपन में ऐसे थे PM

लंदन विजिट के दौरान दिए आम जनता के सवालों के जवाब के बाद चर्चा में हैं मोदी।

Danik Bhaskar | Apr 19, 2018, 06:37 PM IST

वडनगर. पीएम नरेंद्र मोदी इन दिनों लंदन यात्रा पर हैं। अगर वे अपने मकसद में कामयाब होते हैं तो भारत को ब्रिटेन समेत 53 कॉमनवेल्थ देशों का नेतृत्व मिल जाएगा। जिन अंग्रेजों ने हम पर 200 साल राज किया था, वह भारत के नेतृत्व में काम करेगा।

इस मौके पर DainikBhaskar.com अपने रीडर्स को देश के प्रधानमंत्री के बचपन से जुड़ा दिलेरी वाला किस्सा बता रहा है।

अकेले कूद गए थे मगरमच्छ से भरे तालाब में

- लेखक एंडी मरीनो द्वारा लिखित नरेंद्र मोदी की बायोग्राफी में उनके बचपन का एक रोचक किस्सा दर्ज है।
- किताब के मुताबिक मोदी को उनके गृहनगर वडनगर में बने शरमिष्ठा तालाब में तैरना बहुत पसंद था। उस तालाब में कई मगरमच्छ भी थे।
- तालाब के किनारे से थोड़ा अंदर एक टीला सा बना था, जहां लोगों ने एक छोटा मंदिर बनाया था। उस मंदिर में वडनगर वासियों की काफी श्रद्धा थी। मंदिर के शिखर पर लगे झंडे को समय-समय पर बदला जाता था।
- एक बार सावन के महीने में मंदिर का टीला काफी डूब गया। बारिश से परेशान मगरमच्छ भी टीले के आसपास घूम रहे थे। मंदिर का ध्वज खराब हो रहा था और उसे बदलना जरूरी था।
- मगरमच्छों का खतरा देखते हुए सभी ने झंडा बदलने से इनकार कर दिया। ऐसे में मोदी ने आगे बढ़कर यह जिम्मेदारी उठाई थी।
- किनारे पर खड़े लोग मगरमच्छों का ध्यान बंटाने के लिए ढोल-नगाड़े बजाते रहे, वहीं मोदी फुर्ती से तैरकर टीले तक पहुंचे और मंदिर का ध्वज बदलकर किनारे तक सुरक्षित लौट आए।
- उनके इस कारनामे की पूरे वडनगर में काफी प्रशंसा हुई थी।