--Advertisement--

गुजरात से शुरू हुआ आसाराम का व्यापार, वर्तमान में 400 आश्रम, 2300 करोड़ की सम्पत्ति

Dainik Bhaskar

Apr 25, 2018, 05:37 PM IST

आखिर शिष्या से दुष्कर्म के आरोप में हो ही गई आजीवन कारावास की सजा।

शिष्या से दुष्कर्म मामले में आखिर आसाराम दोषी पाया गया, उसे उम्रकैद की सजा हुई।(फाइल फोटो) शिष्या से दुष्कर्म मामले में आखिर आसाराम दोषी पाया गया, उसे उम्रकैद की सजा हुई।(फाइल फोटो)

अहमदाबाद। आखिर जोधपुर अदालत ने आसाराम को नाबालिग शिष्या से दुष्कर्म का दोषी मानकर उसे उम्र कैद की सजा सुना दी गई। 60 के दशक मे आसाराम ने लीलाशाह से आध्यात्मिक दीक्षा लेने के बाद 1972 में अहमदाबाद से करीब 10 किलोमीटर दूर मोटेरा कस्बे में अपनी पहली कुटिया बनाई। यहीं से शुरू हुआ उसका साम्राज्य, जो आगे चलकर पहले राज्य फिर देश और उसके बाद पूरे विश्व मेें फैल गया। 2300 करोड़ की सम्पत्ति उजागर…

-जून में आईटी डिपार्टमेंट ने 2300 करोड़ की अघोषित सम्पत्ति उजागर की थी।

-जून 2016 में इंकमटैक्स डिपार्टमेंट ने आसाराम की 2300 करोड़ रुपए की अघोषित सम्पत्ति की घोषणा की, तब मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उसके दुनिया भर में करीब 400 आश्रम हैं।

-उसके द्वारा भक्तों से धन लिया जाता, जैसे-जैसे वह विख्यात होता गया, उसने अपनी भक्ति कारोबार को खूब फैलाया। भक्तों से प्राप्त राशि का उपयोग उसने अपने ब्रांड की पत्रिकाएं, प्रार्थना पुस्तकों,सीडी, साबुन, धूपबत्ती आदि बेचने के लिए किया।

-इतना ही नहीं, आश्रम के नाम पर कई एकड़ जमीन भी हड़प ली, इससे उसका खजाना भी लगातार बढ़ता गया। इससे उसकी आय 10 करोड़ रुपए वार्षिक हो गई।

-भक्तों को लुभाने के लिए वह प्रसाद के रूप में मुफ्त में भोजन देता।

-मुफ्त के इस भोजन ने उसके भक्तों की संख्या तेजी से बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

-आसाराम की अधिकृत वेबसाइट के अनुसार आज दुनियाभर में उसके चार करोड़ अनुयायी हैं। भक्तों की संख्या बढ़ने से राजनेताओं को भी उसमें अपने वाेट दिखाई दिए।

-उनके भक्तों की सूची में अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी से लेकर नरेंद्र मोदी और नीतिन गडकरी भी शामिल हैं।

-इसके अलावा उनके भक्तों की सूची में दिग्विजय सिंह, कमलनाथ, मोती लाल वोरा जैसे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता भी शामिल हैं।

1972 में अहमदाबाद से करीब 10 किलोमीटर दूर मोटेरा कस्बे में उसने अपनी पहली कुटिया बनाई थी। (फाइल फोटो) 1972 में अहमदाबाद से करीब 10 किलोमीटर दूर मोटेरा कस्बे में उसने अपनी पहली कुटिया बनाई थी। (फाइल फोटो)
जून 2016 में इंकम टैक्स डिपार्टमेंट ने आसाराम की 2300 करोड़ रुपए की अघोषित सम्पत्ति की घोषणा की। (फाइल फोटो) जून 2016 में इंकम टैक्स डिपार्टमेंट ने आसाराम की 2300 करोड़ रुपए की अघोषित सम्पत्ति की घोषणा की। (फाइल फोटो)
भक्तों को लुभाने के लिए आसाराम प्रवचन के बाद प्रसाद के नाम पर मुफ्त में भोजन देता। (फाइल फोटो) भक्तों को लुभाने के लिए आसाराम प्रवचन के बाद प्रसाद के नाम पर मुफ्त में भोजन देता। (फाइल फोटो)
उसकी अधिकृत वेबसाइट के अनुसार पूरे विश्व में उसके 4 करोड़ अनुयायी हैं। (फाइल फोटो) उसकी अधिकृत वेबसाइट के अनुसार पूरे विश्व में उसके 4 करोड़ अनुयायी हैं। (फाइल फोटो)
भक्तों की लिस्ट में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी। (फाइल फोटो) भक्तों की लिस्ट में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी। (फाइल फोटो)
इस लिस्ट में दिग्विजय सिंह, कमलनाथ और मोतीलाल वोरा जैसे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता भी शामिल हैं। (फाइल फोटो) इस लिस्ट में दिग्विजय सिंह, कमलनाथ और मोतीलाल वोरा जैसे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता भी शामिल हैं। (फाइल फोटो)
X
शिष्या से दुष्कर्म मामले में आखिर आसाराम दोषी पाया गया, उसे उम्रकैद की सजा हुई।(फाइल फोटो)शिष्या से दुष्कर्म मामले में आखिर आसाराम दोषी पाया गया, उसे उम्रकैद की सजा हुई।(फाइल फोटो)
1972 में अहमदाबाद से करीब 10 किलोमीटर दूर मोटेरा कस्बे में उसने अपनी पहली कुटिया बनाई थी। (फाइल फोटो)1972 में अहमदाबाद से करीब 10 किलोमीटर दूर मोटेरा कस्बे में उसने अपनी पहली कुटिया बनाई थी। (फाइल फोटो)
जून 2016 में इंकम टैक्स डिपार्टमेंट ने आसाराम की 2300 करोड़ रुपए की अघोषित सम्पत्ति की घोषणा की। (फाइल फोटो)जून 2016 में इंकम टैक्स डिपार्टमेंट ने आसाराम की 2300 करोड़ रुपए की अघोषित सम्पत्ति की घोषणा की। (फाइल फोटो)
भक्तों को लुभाने के लिए आसाराम प्रवचन के बाद प्रसाद के नाम पर मुफ्त में भोजन देता। (फाइल फोटो)भक्तों को लुभाने के लिए आसाराम प्रवचन के बाद प्रसाद के नाम पर मुफ्त में भोजन देता। (फाइल फोटो)
उसकी अधिकृत वेबसाइट के अनुसार पूरे विश्व में उसके 4 करोड़ अनुयायी हैं। (फाइल फोटो)उसकी अधिकृत वेबसाइट के अनुसार पूरे विश्व में उसके 4 करोड़ अनुयायी हैं। (फाइल फोटो)
भक्तों की लिस्ट में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी। (फाइल फोटो)भक्तों की लिस्ट में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी। (फाइल फोटो)
इस लिस्ट में दिग्विजय सिंह, कमलनाथ और मोतीलाल वोरा जैसे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता भी शामिल हैं। (फाइल फोटो)इस लिस्ट में दिग्विजय सिंह, कमलनाथ और मोतीलाल वोरा जैसे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता भी शामिल हैं। (फाइल फोटो)
Astrology

Recommended

Click to listen..