Hindi News »Gujarat »Ahmedabad» Property Of Asaram Bapu Having 400 Ashrams Worldwide

गुजरात से शुरू हुआ आसाराम का व्यापार, वर्तमान में 400 आश्रम, 2300 करोड़ की सम्पत्ति

आखिर शिष्या से दुष्कर्म के आरोप में हो ही गई आजीवन कारावास की सजा।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 26, 2018, 12:45 PM IST

  • गुजरात से शुरू हुआ आसाराम का व्यापार, वर्तमान में 400 आश्रम, 2300 करोड़ की सम्पत्ति
    +6और स्लाइड देखें
    शिष्या से दुष्कर्म मामले में आखिर आसाराम दोषी पाया गया, उसे उम्रकैद की सजा हुई।(फाइल फोटो)

    अहमदाबाद। आखिर जोधपुर अदालत ने आसाराम को नाबालिग शिष्या से दुष्कर्म का दोषी मानकर उसे उम्र कैद की सजा सुना दी गई। 60 के दशक मे आसाराम ने लीलाशाह से आध्यात्मिक दीक्षा लेने के बाद 1972 में अहमदाबाद से करीब 10 किलोमीटर दूर मोटेरा कस्बे में अपनी पहली कुटिया बनाई। यहीं से शुरू हुआ उसका साम्राज्य, जो आगे चलकर पहले राज्य फिर देश और उसके बाद पूरे विश्व मेें फैल गया।2300 करोड़ की सम्पत्ति उजागर…

    -जून में आईटी डिपार्टमेंट ने 2300 करोड़ की अघोषित सम्पत्ति उजागर की थी।

    -जून 2016 में इंकमटैक्स डिपार्टमेंट ने आसाराम की 2300 करोड़ रुपए की अघोषित सम्पत्ति की घोषणा की, तब मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उसके दुनिया भर में करीब 400 आश्रम हैं।

    -उसके द्वारा भक्तों से धन लिया जाता, जैसे-जैसे वह विख्यात होता गया, उसने अपनी भक्ति कारोबार को खूब फैलाया। भक्तों से प्राप्त राशि का उपयोग उसने अपने ब्रांड की पत्रिकाएं, प्रार्थना पुस्तकों,सीडी, साबुन, धूपबत्ती आदि बेचने के लिए किया।

    -इतना ही नहीं, आश्रम के नाम पर कई एकड़ जमीन भी हड़प ली, इससे उसका खजाना भी लगातार बढ़ता गया। इससे उसकी आय 10 करोड़ रुपए वार्षिक हो गई।

    -भक्तों को लुभाने के लिए वह प्रसाद के रूप में मुफ्त में भोजन देता।

    -मुफ्त के इस भोजन ने उसके भक्तों की संख्या तेजी से बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

    -आसाराम की अधिकृत वेबसाइट के अनुसार आज दुनियाभर में उसके चार करोड़ अनुयायी हैं। भक्तों की संख्या बढ़ने से राजनेताओं को भी उसमें अपने वाेट दिखाई दिए।

    -उनके भक्तों की सूची में अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी से लेकर नरेंद्र मोदी और नीतिन गडकरी भी शामिल हैं।

    -इसके अलावा उनके भक्तों की सूची में दिग्विजय सिंह, कमलनाथ, मोती लाल वोरा जैसे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता भी शामिल हैं।

  • गुजरात से शुरू हुआ आसाराम का व्यापार, वर्तमान में 400 आश्रम, 2300 करोड़ की सम्पत्ति
    +6और स्लाइड देखें
    1972 में अहमदाबाद से करीब 10 किलोमीटर दूर मोटेरा कस्बे में उसने अपनी पहली कुटिया बनाई थी। (फाइल फोटो)
  • गुजरात से शुरू हुआ आसाराम का व्यापार, वर्तमान में 400 आश्रम, 2300 करोड़ की सम्पत्ति
    +6और स्लाइड देखें
    जून 2016 में इंकम टैक्स डिपार्टमेंट ने आसाराम की 2300 करोड़ रुपए की अघोषित सम्पत्ति की घोषणा की। (फाइल फोटो)
  • गुजरात से शुरू हुआ आसाराम का व्यापार, वर्तमान में 400 आश्रम, 2300 करोड़ की सम्पत्ति
    +6और स्लाइड देखें
    भक्तों को लुभाने के लिए आसाराम प्रवचन के बाद प्रसाद के नाम पर मुफ्त में भोजन देता। (फाइल फोटो)
  • गुजरात से शुरू हुआ आसाराम का व्यापार, वर्तमान में 400 आश्रम, 2300 करोड़ की सम्पत्ति
    +6और स्लाइड देखें
    उसकी अधिकृत वेबसाइट के अनुसार पूरे विश्व में उसके 4 करोड़ अनुयायी हैं। (फाइल फोटो)
  • गुजरात से शुरू हुआ आसाराम का व्यापार, वर्तमान में 400 आश्रम, 2300 करोड़ की सम्पत्ति
    +6और स्लाइड देखें
    भक्तों की लिस्ट में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी। (फाइल फोटो)
  • गुजरात से शुरू हुआ आसाराम का व्यापार, वर्तमान में 400 आश्रम, 2300 करोड़ की सम्पत्ति
    +6और स्लाइड देखें
    इस लिस्ट में दिग्विजय सिंह, कमलनाथ और मोतीलाल वोरा जैसे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता भी शामिल हैं। (फाइल फोटो)
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Ahmedabad News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Property Of Asaram Bapu Having 400 Ashrams Worldwide
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Ahmedabad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×