--Advertisement--

अहमदाबाद के रामेश्वर मंदिर में 11,111 रुद्राक्ष से बनाया था शिवलिंग, अब प्रसाद के रूप में बंटेंगे

आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा सैटेलाइट में 500 किलो सेब से 12 फीट ऊंचा शिवलिंग भी शिव भक्तों के आकर्षण का केन्द्र

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 02:08 PM IST

अहमदाबाद। रविवार को गुजराती सावन माह पूरा हाे गया। दूसरे दिन सोमवार को भी शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही। शहर के मुख्य शिव मंदिर काशी विश्वनाथ, कामेश्वर, चकुड़िया महादेव मंदिर, नीलकंठ महादेव में रविवार और सोमवार को श्रद्धालुओं की भारी भीड़ थी। गुजराती सावन के अंतिम दिन श्रद्धालुओं का सैलाब...

गुजराती सावन के आखिरी दिन शिवालयों में महारुद्राभिषेक किया गया। सोमवार को भी दिनभर भक्तों का तांता लगा रहा। रविवार को निर्णय सागर के रामेश्वर मंदिर में 11,111 रुद्राक्ष से शिवलिंग बनाया गया था। इस रुद्राक्ष को अब श्रद्धालुओं में प्रसाद के रूप में बांटा जाएगा। आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा सेटेलाइट में 500 किलो सेब से 12 फीट ऊंचा शिवलिंग बनाया गया था।

शिवजी की शोभायात्रा

दूसरे ओर रविवार को सावन माह के अंतिम दिन पश्चिम क्षेत्र में कामेश्वर महादेव मंदिर में शिवजी की शोभायात्रा निकाली गई। जो घाटलोडिया, अंकुर, नारणपुर से होते हुए निज मंदिर में आई। सोमवार को भी मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ लगी रही। पूर्व क्षेत्र के सबसे प्राचीन काशी विश्वनाथ मंदिर में सुबह से ही ब्राह्मणों द्वारा महारुद्राभिषेक किया गया और शिवजी को सहस्र कमल से शृंगार भी किया गया। रविवार और सोमवार को शिवालयों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही।

सेटेलाइट में कश्मीर से मंगाए गए सेब से शिवलिंग बनाया गया

सेटेलाइट में 500 किलो सेब से 12 फीट ऊंचा शिवलिंग बनाया गया था। सेब कश्मीर से मंगाए गए थे। इसके अलावा निर्णय नगर में 11,111 रुद्राक्ष से शिवलिंग बनाया गया जिसे अब प्रसाद के रूप में बांटा जा रहा है।