--Advertisement--

बायब्रंट गुजरात:150 से अधिक देशों को आमंत्रण, ट्रंप को बुलाने का होगा प्रयास

Dainik Bhaskar

Jun 02, 2018, 02:26 PM IST

मुख्य सचिव ने कहा- वाइब्रेंट समिट 2019 देश का सबसे बड़ा इवेंट होगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प को भी आमंत्रण भेजा जाएगा। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प को भी आमंत्रण भेजा जाएगा।

गांधीनगर। वाइब्रेंट समिट-2019 की तैयारी को राज्य सरकार ने अंतिम रूप देने की कवायद शुरू कर दी है। अमेरिका, चीन, जापान सहित 150 से अधिक देशों को आमंत्रण भेजे जाएंगे। इस बार समिट में 20 से अधिक देश कंट्री पार्टनर होंगेे। मुख्य सचिव जेएन सिंह ने बताया कि इस बार वाइब्रेंट समिट भव्य और अब तक का देश का सबसे बड़ा इवेंट होगा। 18 जनवरी को पीएम समिट का उद्घाटन करेंगे…

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 18 जनवरी को महात्मा मंदिर में वाइब्रेंट समिट का उद‌्घाटन करेंगे। मुख्य सचिव ने बताया कि इस बार वाइब्रेंट समिट में युवकों को आकर्षित करने की अनेक योजनाएं होंगी। वाइब्रेंट समिट को यादगार बनाने के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को आमंत्रित करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस बारे में राज्य नहीं बल्कि केंद्र स्तर पर निर्णय लिया जाएगा।

इवेंट को यादगार बनाने के लिए सीएम हाउस में हुई बैठक

वाइब्रेंट समिट-2019 की मेगा इवेंट को यादगार बनाने और रोड मैप तैयार करने के लिए शुक्रवार को मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के आवास पर बैठक हुई। मुख्यमंत्री ने राज्य के प्रथम पंक्ति के मंत्रियों और मुख्य सचिव सहित विभिन्न विभागों के सचिवों के साथ वाइब्रेंट समिट की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने वाइब्रेंट समिट में दुनियाभर के देशों के प्रमुखों और प्रतिनिधियों की मौजूदगी में प्रधानमंत्री मोदी के भव्य स्वागत की तैयारी करने की अधिकारियों को सूचना दी। खास करके 2013, 2015 और 2015 में गुजरात में जिन उद्योगों को अच्छा अनुभव हुआ है उनकी रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया है।

जुलाई-अगस्त से भेजेंगे आमंत्रण

जुलाई और अगस्त से विदेशों में आमंत्रण भेजने की शुरुआत होगी। राज्य सरकार के अधिकारियों और पदाधिकारियों का प्रतिनिधि मंडल विदेश जाएगा। चीन के साथ निकटता बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री रुपाणी खुद चीन को आमंत्रण देने जाएंगे। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विरोध बढ़ने के कारण इस बार पाकिस्तान और उत्तर कोरिया को आमंत्रित नहीं करेंगे।

50 से अधिक देशों के राष्ट्र प्रमुखों को एक मंच पर लाने का प्रयास

दुनियाभर के 150 से अधिक देशों में आमंत्रण भेजा जाएगा। जिसमें से 50 से अधिक देशों के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति को एक मंच पर लाने की योजना है। अमेरिका, चीन, जापान, कनाडा और ताइवान सहित 150 से अधिक देशों के डेलीगेट्स वाइब्रेंट समिट में हिस्सा लेंगे। अब तक 12 कंट्री पार्टनर थे इस बार यह संख्या 20 के पार होगी।

इंटरेस्ट ऑफ इन्वेस्टमेंट जैसे करार होंगे

इस बार ट्रेड एंड सर्विस सेक्टर पर अधिक जोर देंगे। एमओयू के बदले इंटरेस्ट ऑफ इन्वेस्टमेंट जैसे करार होंगे ताकि निवेश न होने की स्थिति में सरकार पर इसका दोषारोपण न हो। टेक्सटाइल, ऑटोमोबाइल्स जैसे सेक्टर के साथ बैटरी ऑपरेटेड और रिन्युअल एनर्जी में गुजरात में बड़े पैमाने पर निवेश कराने की योजना भी बनेगी।

The initiative to bring head of over 150 countries, including Trump in Vibrant
X
अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प को भी आमंत्रण भेजा जाएगा।अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प को भी आमंत्रण भेजा जाएगा।
The initiative to bring head of over 150 countries, including Trump in Vibrant
Astrology

Recommended

Click to listen..