--Advertisement--

मानसून की विदाई करीब, गुजरात में तीन चौथाई से भी कम बारिश

गुजरात में अक्सर 15 सितंबर तक विदा हो जाता है मानसून

Danik Bhaskar | Sep 15, 2018, 12:05 PM IST

अहमदाबाद। प्रदेश मेें मानसून की विदाई (विदड्राॅल) की सामान्य तिथि 15 सितंबर में अब दो ही दिन बचे हैं पर अब तक राज्य में सालाना औसत मानसूनी वर्षा के तीन चौथाई से भी कम बारिश ही हुई है। आधिकारिक आंकड़े के अनुसार राज्य में मात्र 73.87 प्रतिशत वर्षा दर्ज की गई है। अभी भी आशा है, बारिश होगी...

आने वाले दिनों में अच्छी मानसूनी बारिश की मामूली संभावना के चलते इस साल औसत के पूरा होने की भी काफी कम उम्मीद है। हालांकि उम्मीद की किरण इस बात पर टिकी है कि वर्ष 2011 से लेकर पिछले साल तक मानसून की विदाई की प्रक्रिया हर बार विलंब से ही होती रही है। अगर ऐसा इस साल भी हुआ और इस बीच वर्षा हुई तो कुछ हद तक भरपायी हो सकती है।

कच्छ क्षेत्र में अब तक मात्र 26.51 प्रतिशत वर्षा

यहां मौसम केंद्र के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य के कच्छ क्षेत्र में अब तक मात्र 26.51 प्रतिशत वर्षा ही हुई है। दस प्रतिशत से भी कम वर्षा वाले राज्य के तीन में से दो तालुका लखपत (3.44 प्रतिशत) और रापर (5.65) कच्छ जिले में ही हैं। इसके अलावा बनासकांठा के वाव तालुका में भी मात्र 5.56 प्रतिशत वर्षा ही हुई है। उत्तर गुजरात में अब तक 42.93, मध्य पूर्व गुजरात में 66.83, सौराष्ट्र में 72.20 तथा दक्षिण गुजरात 94.79 प्रतिशत वर्षा हुई है। 33 में से मात्र पांच जिले वलसाड, गिर सोमनाथ, नवसारी, आणंद और भरूच में ही औसत अथवा इससे अधिक वर्षा हुई है। पिछले साल 110 प्रतिशत से अधिक वर्षा हुई थी। इस साल मानसून का आगमन 22 जून को हुआ था।

नर्मदा परियोजना से हो रही है खेतों की सिंचाई

वर्षा में अब हो रही देरी के कारण राज्य सरकार ने नर्मदा परियोजना के पानी को सिंचाई के लिए देने के निर्देश दिए हैं। अब तक औसत से कम वर्षा के बावजूद मध्य प्रदेश से पानी की बेहतर आवक के कारण सरदार सरोवर नर्मदा बांध से जुड़े जलाशय का जलस्तर अब 125 मीटर से ऊपर पहुंच गया है।

कहां कितनी कम बारिश हुई

पाटण आैर भरूच 62%

बनासकांठा 60%

गांधीनगर और महेसाणा 57%

अहमदाबाद 53%

मोरबी 51%

सामान्य से अधिक बारिश

दीव 121%

गिर सोमनाथ 69%

डांग 19%

नवसारी 17%

वलसाड 15%

जूनागढ़ 12%

सूरत, आणंद और अमरेली 7%

दादरा नगर हवेली 3%

भरूच 2%

बढ़ने लगा तापमान

मध्य प्रदेश में सक्रिय हुए अपर एयर साइक्लोनिक सर्कुलेशन सिस्टम का असर प्रदेश में भी दिखाई दे रहा है। गुरुवार को दिनभर आसमान में बादल छाने के बावजूद तापमान में वृद्धि दर्ज की गई। 33.8 डिग्री अधिकतम तापमान के साथ कंडला एयरपोर्ट प्रदेश में सबसे गर्म रहा। अगले दो दिनों से यही स्थिति बनी 9रहने का अनुमान है। प्रदेश के 13 शहरों में अधिकतम तापमान 32 डिग्री से ऊपर रहा। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार गुरुवार को अहमदाबाद का अधिकतम तापमान 32.9 डिग्री और न्यूनतम तापमान 23.0 डिग्री रहा। वडोदरा का अधिकतम तापमान 33.4, गांधीनगर का 33.5, भावनगर का 33.7, कंडला एयरपोर्ट का 33.8 डिग्री रहा। मध्य प्रदेश में सक्रिय हुए अपर एयर साइक्लोनिक सर्कुलेशन के असर से प्रदेश के तटीय क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। अधिकतम तापमान में 1 से 2 डिग्री तक गिरावट होने की संभावना है।