Hindi News »Gujarat »News» 9 Year Old Student Killed In Chikana Village Of Mehsana Dist

लापता हीरेन की लाश 9 दिनों बाद स्कूल के पीछे गड्ढे में मिली

प्राथमिक रिपोर्ट में यही कहा गया है कि हत्या गला दबाकर की गई है।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 02, 2018, 12:12 PM IST

  • लापता हीरेन की लाश 9 दिनों बाद स्कूल के पीछे गड्ढे में मिली
    +6और स्लाइड देखें
    इस हालत में मिली मासूम की लाश।

    महेसाणा। सतलासणा तहसील के चिफणा गांव में 23 दिसम्बर को पतंग उड़ाने जा रहा हूं कहकर निकले 9 साल के हीरेन ठाकोर की लाश स्कूल के पीछे गड्ढे में दबी हुई मिली। छात्र की मौत गला दबाने से हुई है, एेसा प्राथमिक रिपोर्ट में कहा गया है। हत्या किसने और किस उद्देश्य से की गई, यह अभी रहस्य है। लोगों ने पुलिस की कार्रवाई की निंदा की है, इससे गांव वालोें में आक्रोश है। अल्पेश ठाकोर ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की…

    इस दौरान ठाकोर सेना के अध्यक्ष और राघनपुर के विधायक अल्पेश ठाकोर ने पीड़ित परिवार से मुलाकात की। उन्होंने पुलिस कार्रवाई की निंदा की। लाश का मुआइना करने के बाद यह पाया गया कि हत्या 5 दिन पहले की गई है। हीरेन 7 दिनों से लापता था, पर पुलिस ने इस दिशा में कोई ठोस कार्रवाई नहीं की। गांव वालों का कहना है कि आरोपी गांव का ही है, पर उसका सुराग नहीं मिल रहा है। पुलिस को गांव के एक-एक घर की तलाशी लेनी चाहिए। लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

  • लापता हीरेन की लाश 9 दिनों बाद स्कूल के पीछे गड्ढे में मिली
    +6और स्लाइड देखें
    छात्र हीरेन ठाकोर
  • लापता हीरेन की लाश 9 दिनों बाद स्कूल के पीछे गड्ढे में मिली
    +6और स्लाइड देखें
  • लापता हीरेन की लाश 9 दिनों बाद स्कूल के पीछे गड्ढे में मिली
    +6और स्लाइड देखें
  • लापता हीरेन की लाश 9 दिनों बाद स्कूल के पीछे गड्ढे में मिली
    +6और स्लाइड देखें
  • लापता हीरेन की लाश 9 दिनों बाद स्कूल के पीछे गड्ढे में मिली
    +6और स्लाइड देखें
  • लापता हीरेन की लाश 9 दिनों बाद स्कूल के पीछे गड्ढे में मिली
    +6और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×