--Advertisement--

पिता द्वारा 80% नम्बर लाने का दबाव बना सुसाइड का कारण

पिता मोनिका को अपनी सगी मां के पास नहीं जाने देते थे, उन्होंने ही डाला था बेटी पर दबाव।

Dainik Bhaskar

Jan 22, 2018, 06:12 PM IST
हॉस्टल का दृश्य। हॉस्टल का दृश्य।

लीमखेड़ा। लीमखेड़ा आदर्श निवासी शाला के छात्रावास में रहने वाली दसवीं कक्षा की छात्रा ने अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उसके स्वेटर की जेब से एक लेटर मिला है, जिसमें लिखा है I Love You । छात्रा के पिता की शिकायत पर पुलिस ने अपराध दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जांच में यह सामने आया है कि पिता ने ही बेटी पर 80 प्रतिशत नम्बर लाने का दबाव बनाया था, जिसके चलते युवती ने सुसाइड कर लिया। केम्पस में छाया मातम…

मोरवा हडफ तहसील के मातरिया गांव में रहने वाले और वड़ोदरा जिले के सावली जेटको कंपनी के ऑपरेटर सौरभ भाई लालाभाई डामोर की 17 साल की बेटी माेनिका डामोर लीमखेड़ा के आदर्श निवासी शाला में दसवीं की छात्रा थी। वह वहीं स्कूल के हॉस्टल में रहती थी। शुक्रवार को माेनिका के पेेट और सिर में दर्द हो रहा था, इससे वह स्कूल नहीं गई। हॉस्टल के अपने कमरे में वह अकेली थी। सुबह 8 बजे मोनिका ने गले में फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया। इसकी जानकारी रिसेस के दौरान तब हुई, जब हॉस्टल की अन्य छात्राएं अपने कमरे में पहुंची। मोनिका के सुसाइड से पूरे केम्पस में मातम छा गया।

स्वेटर की जेब से मिला सुसाइड नोट

पुलिस के अनुसार मृतक के स्वेटर की जेब से अपने दोस्तों के नाम लिखी तीन पेज की चिट्ठी मिली है, जिसमें आई लव यू लिखा गया है। जब सबके सामने इस नोट को पढ़ा गया, तब यह सामने आया कि पिता ने ही बेटी पर 80 प्रतिशत अंक लाने के लिए दबाव डाला था। नोट में युवती ने यह भी लिखा है कि उसे माता-पिता का प्यार नहीं मिलता था।

सौतेली मां थी मोनिका की

सुसाइड नोट के अनुसार उसके पिता उसे अपनी मूल मां के पास नहीं जाने देते थे। सौतेली मां उसे काफी परेशान करती थी। घर के माहौल से माेनिका बहुत ही ज्यादा परेशान हो गई थी। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

सुसाइड नोट। सुसाइड नोट।
X
हॉस्टल का दृश्य।हॉस्टल का दृश्य।
सुसाइड नोट।सुसाइड नोट।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..