सूरत

--Advertisement--

5 टिकट पर 100 रुपए अवैध वसूले, यात्री की शिकायत; 4 घंटे में टिकट क्लर्क सस्पेंड

सूरत स्टेशन पर चीफ टिकट क्लर्क कर रहा था अवैध वसूली, कई बार मिल चुकी थी शिकायतें

Dainik Bhaskar

Nov 17, 2017, 06:54 AM IST
Ticket clerk suspension at surat railway station

सूरत. सूरत रेलवे स्टेशन पर एक यात्री से पांच टिकट पर 100 रुपए अतिरिक्त वसूल करने की शिकायत पर चार घंटे के भीतर चीफ टिकट क्लर्क को सस्पेंड कर दिया गया। चीफ टिकट क्लर्क ने यात्री से सुपरफास्ट ट्रेन के चार्ज के नाम पर प्रति टिकट 20 रुपए अवैध रूप से वसूल लिए थे। मामला बुधवार की रात करीब 9 बजे का है। ओड़िशा के ब्रह्मपुर के रहने वाले कन्नुचरण शेट्टी अनारक्षित टिकट काउंटर नंबर 7 पर टिकट खरीदने गए थे।

उन्होंने ब्रह्मपुर जाने के लिए रात 10.30 बजे रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18402 ओखा-पुरी साप्ताहिक एक्सप्रेस के 5 जनरल टिकट खरीदे। चीफ टिकट क्लर्क ने सुपरफास्ट चार्ज के रूप में उनसे अतिरिक्त पैसे मांगे तो उन्होंने आपत्ति की। इस पर टिकट क्लर्क ने कहा कि रेलवे ने नया नियम जारी किया है।

जब शेट्‌टी ने नियम की जानकारी मांगी तो क्लर्क ने कहा कि अभी सार्वजनिक रूप से नियम घोषित नहीं किए गए हैं। इस पर शेट्‌टी को संदेह हुआ। उन्होंने सीयूजी नंबर पर मुख्य वाणिज्य निरीक्षक (सीएमआई) से शिकायत की। उसके बाद चीफ टिकट क्लर्क को सस्पेंड कर दिया गया।

शिकायत : यात्री ने हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर सीएमआई को घटना के बारे में बताया
जानकारी के मुताबिक काउंटर पर मुख्य टिकट क्लर्क तेजस देसाई ने कन्नुचरण शेट्टी से प्रति टिकट 20 रुपए अतिरिक्त मांगे। इस पर शेट्टी को आपत्ति हुई। जब शेट्टी ने अतिरिक्त रुपए मांगने की वजह जानना चाहा तो क्लर्क देसाई ने कहा कि ये अतिरिक्त पैसे सुपरफास्ट चार्ज के रूप में लिए जा रहे हैं। देसाई ने कहा कि नए टाइम टेबल में गाड़ियां सुपरफास्ट बनाई गई हैं। शेट्टी को संदेह हुआ जिससे उन्होंने सीधे स्टेशन के सीएमआई गणेश जाधव के सीयूजी हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत की। जानकारी मिलते ही सीएमआई जाधव रात 9.30 बजे टिकट काउंटर पर पहुंचे।

कार्रवाई : क्लर्क नहीं दे पाया जवाब, डीसीएम को भेजी रिपोर्ट, कर दिया तत्काल सस्पेंड
सीएमआई जाधव ने यात्री की शिकायत को संज्ञान में लिया और सीधे मुख्य टिकट क्लर्क तेजस देसाई को तलब किया। यात्री के समक्ष देसाई से अतिरिक्त वसूली प्रकरण की जानकारी मांगी, लेकिन देसाई अपने जवाब से आश्वस्त नहीं कर पाए। इसके बाद सीएमआई ने देसाई के खिलाफ रिपोर्ट बनाकर सीधे पश्चिम रेल मंडल की वाणिज्य प्रबंधक आरती परिहार को भेजी। उसके थोड़ी देर बाद परिहार ने आरोपी क्लर्क तेजस के खिलाफ तत्काल एक्शन लिया और फैक्स से उनके निलंबन का ऑर्डर भेजा। इसके बाद मुख्य टिकट क्लर्क तेजस को निलंबित कर दिया गया। परिहार ने कहा कि ऐसे मामले बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे।

अवैध वसूली के आरोप में सस्पेंड हुए थे 10 क्लर्क

जनरल टिकट पर अवैध रूप से अतिरिक्त वसूली के आरोप में 10 टिकट क्लर्कों को सस्पेंड किया गया था। इस मामले को अभी तीन महीने भी नहीं हुए, लेकिन फिर से अवैध वसूली चालू हो गई है। 20 अगस्त को ताप्ती गंगा एक्सप्रेस के यात्रियों से प्रति जनरल टिकट पर सुपरफास्ट चार्ज के नाम पर 30 रुपए की अतिरिक्त वसूली का स्टिंग किया गया था। मामले का खुलासा होने पर पश्चिम रेल की मंडल वाणिज्य प्रबंधक आरती परिहार के आदेश पर आरोपी क्लर्कों की छुट्टी कर दी गई थी। उसके हफ्ते बाद उन्हें डिवीजन से सस्पेंड कर दिया गया था।

X
Ticket clerk suspension at surat railway station
Click to listen..