--Advertisement--

बहू की उम्र पता चलते ही सास ने बेटे से कहा- दुल्हन के पास भूलकर भी न जाना, वरना उसका भविष्य खराब हो जाएगा

मां ने अपने बेटे को समझाया अभी दुल्हन से रहे दूर...

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2018, 01:34 PM IST
Positive story of mother-in-law in gujrat

हिम्मतनगर (गुजरात)। कैंसर से जूझते हुए पति की मौत हो गई। लंबे समय तक पति का इलाज चलने से आर्थिक तंगी की गिरफ्त में आई महिला ने नाबालिग बेटी का पैसे लेकर अंतरजातीय विवाह कर दिया। इसके एवज में उसे एक लाख रुपए मिले। ये नाबालिग जिसकी दुल्हन बन कर गई, सामाजिक कारणों से उसका विवाह होने में दिक्कत हो रही थी। पैसे देकर विवाह करने के बाद भी जब सास को पता चला कि बेटे की बहू नाबालिग है तो सास ने हैल्पलाइन 181 पर फोन कर इसकी सूचना दे दी। वजह, लड़की पढ़ना चाहती थी।

बेबशी में मां ने एक लाख लेकर कर दी थी शादी

सास ने उसकी इच्छा पूरी करने के लिए पहले नाबालिग की मां से संपर्क साधा लेकिन तीन सप्ताह तक उसने कोई जवाब नहीं दिया। अत: सास ने पुलिस से हस्तक्षेप कर नाबालिग को पुन: मां के पास भेज दिया। नाबालिग लड़की हिम्मतनगर जिले की भिलोड़ा तहसील की है। नवंबर में इसका विवाह मां ने एक लाख रुपए लेकर अंतरजातीय विवाह किया था।

मां ने अपने बेटे को समझाया दुल्हन से रहे दूर


दूल्हे की मां को जैसे ही पता चला कि बहू नाबालिग है। उसने पुलिस को सूचना देने के साथ-साथ बेटे को भी समझाया कि दुल्हन के पास भूलकर भी न जाए। उससे दूरी बनाकर रहे। यह सब इसलिए ताकि बहू का भविष्य खराब न हो।


काउंसलर बीनलबेन ने कहा- पैसे खर्च हो जाने की वजह से बेटी को लेने नहीं आ रही थी मां


हेल्पलाइन की काउंसलर बीनलबेन पटेल ने बताया कि नाबालिग ने बातचीत में बताया कि उसकी जबरन शादी करवाई गई है। वह पढ़ाई करना चाहती है। अभी सास के ही साथ रहती है। हालांकि वह वापस लौटना चाहती है लेकिन मां है कि लेने नहीं आ रही थी। हमने नाबालिग की मां से संपर्क कर उसे कानूनी प्रावधानों की जानकारी दी, तब जाकर वह बेटी को साथ ले गई। लड़की की सास की भूमिका प्रशंसनीय रही। एक लाख रुपए जो दिए गए थे वे खर्च हो गए, इस कारण पेंच आ रहा था। इस पर लड़के के परिवार ने कहा- जब आपके पास पैसा हो जाए, तब दे देना। इस तरह नाबालिग मां के पास रहने गई।

X
Positive story of mother-in-law in gujrat
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..