मजबूरी / वाहन न मिलने से श्रमिक परिवार 240 कि.मी. पैदल ही निकल पड़ा

श्रमिक वर्ग के लोग सूरत से छोटाउदेपुर जाते हुए श्रमिक वर्ग के लोग सूरत से छोटाउदेपुर जाते हुए
X
श्रमिक वर्ग के लोग सूरत से छोटाउदेपुर जाते हुएश्रमिक वर्ग के लोग सूरत से छोटाउदेपुर जाते हुए

  • सूरत से छोटाउदेपुर के लिए निकला परिवार दो दिनों से भूखा भी
  • 250 बिस्तर वाले अस्पताल बनाने का काम युद्धस्तर पर

दैनिक भास्कर

Mar 25, 2020, 03:51 PM IST

वडोदरा. पूरे गुजरात में लाॅकडाउन के चलते वाहन पूरी तरह से बंद हो गए हैं। ऐसे में श्रमिक परिवार को काम नहीं मिल रहा है। इसलिए उन्हें अब भूखे रहना पड़ रहा है। इसके बाद भी कुछ परिवार सूरत से छोटाउदेपुर जाने के लिए निकल पड़े हैं।
 

बुधवार को राजपीपला पहुंचे
8 लोगों का परिवार सूरत से 120 किलोमीटर का रास्ता काटकर दो दिनों बाद बुधवार को राजपीपला पहुंचा। पूरा परिवार दो दिनों से भूखा है। छोटाउदेपुर पहुंचने में उन्हें दो दिन और लगेंगे।
 

250 बिस्तरों वाला अस्पताल बनाने का काम तेज
कोरोनावायरस के मरीजों के लिए 250 बेड का अस्पताल बनाने का काम युद्ध स्तर पर शुरू हो गया है। इस संबंध में गोत्री जनरल हॉस्पिटल के सुपरिटेंडेंट डॉ. विशाला पंड्या ने बताया कि अभी हॉस्पिटल का काम चल रहा है। यह अस्पताल बहुत ही जल्द शुरू हो जाएगा।
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना