मानसून मेहरबान / वापी-वलसाड में नदियां उफान पर, 2 दिनों में 25 इंच बारिश



रेल्वे ट्रेक पर भरा पानी रेल्वे ट्रेक पर भरा पानी
नदियां उफान पर नदियां उफान पर
निचली बस्तियों में पानी भरा निचली बस्तियों में पानी भरा
सड़कें लबालब सड़कें लबालब
X
रेल्वे ट्रेक पर भरा पानीरेल्वे ट्रेक पर भरा पानी
नदियां उफान परनदियां उफान पर
निचली बस्तियों में पानी भरानिचली बस्तियों में पानी भरा
सड़कें लबालबसड़कें लबालब

  • कपराडा तहसील में 10 इंच बारिश 
  • दिन भर हुई बारिश
  • रात में 1 घंटे में ही हुई 4 इंच बरसात
  • शहर की सड़कें हुईं लबालब 

Dainik Bhaskar

Jul 01, 2019, 12:50 PM IST

सूरत. रविवार को शहर में सामान्य बारिश हुई, जिससे मौसम दिन भर सुहाना बना रहा। रात में 1 घंटे में ही 4 इंच बारिश हुई, जिससे शहर की सड़कें लबालब हो गईं। अलग-अलग इलाकों में 3 से 13 मिमी तक बारिश हुई। सेंट्रल में 3, वराछा में 5, कतारगाम में 2, उधना में 13, लिंबायत में 2 और अठवा जोन में 4 मिमी बारिश हुई।

 
तापमान गिरा
रविवार को अधिकतम तापमान 30.4 और न्यूनतम 26.8 डिग्री रहा। जिले के बारडोली में 33, मांगरोल में 70, पलसाणा में 45 और उमरपाड़ा में 53 मिमी बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को भी सामान्य बारिश की संभावना है। शाम 6 बजे काॅजवे का जलस्तर 5.52 मीटर और उकाई डैम का जलस्तर 275.84 फीट मापा गया। 


ट्रैक पर जलभराव, सूरत आने जाने वाली ट्रेनें 20 मिनट लेट 
रविवार को दिन भर बरसात की वजह से मेन लाइन की ट्रेनों की आवाजाही देरी से हो रही थी। वलसाड स्टेशन के पास बारिश के कारण दोपहर 2.42 से शाम 6.15 के बीच मेन लाइन के अप और डाउन ट्रैक पर भारी जलभराव रहा, जिससे मुंबई से अहमदाबाद की ओर जाने वाली और वहां से आने वाली ट्रेनें अपने निर्धारित समय से 20 मिनट की देरी से चल रही थीं। शाम 6.30 के बाद ट्रेनें अपने समयानुसार चलने लगीं। इस दौरान किसी भी ट्रेन को रद्द नहीं किया गया, न ही ट्रेनें रिशेड्यूल हुई। इससे यात्रियों को ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ा। 


वणजार नदी का हाईलेवल ब्रिज ढहा
वलसाड तहसील के वांकल-कचीगाम और पारडी के परवासा को जोड़ने वाले 42 गांवों के लिए 12 करोड़ की लागत से तैयार हो रहे ब्रिज का दो साल से काम अधूरा पड़ा है। स्टेट हाइ वे द्वारा दो गाला के सेंटिंग के लोहे के एंगल और फ्रेम के साथ खड़ा ढांचा नदी के तेज बहाव के कारण ढह गया। वलसाड तहसील में सुबह से हो रही तेज बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात बने है। 


अंबिका देवधा डैम उफनाया
पांच दिनों से लगातार बारिश के कारण अंबिका नदी में बड़े पैमाने पर पानी आ रहा है। वहीं मौसम विभाग ने आगामी 48 घंटों के दौरान भारी बारिश होने की चेतावनी दी है। जिससे कलेक्टर ने समुद्र किनारे के 23 गांवों को अलर्ट किया है। अंबिका नदी में भारी मात्रा में पानी की आवक होने से देवध डैम उफना गया है। नदी के कैचमेंट एरिया में अच्छी बारिश होने के कारण पानी की आवक और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए डैम के 40 में से 20 दरवाजे खोल दिए हैं। साथ ही  देवसर, तोरणगाम, कालियारी, गणदेवी, कछोली, तलियारा आदि लोगों को सुरक्षित स्थान पर रहने को कहा गया है। 


दानह के लुहारी गांव की कंपनी में भरा पानी
सिलवासा| दानह में पिछले चार दिनों से हो रही बारिश के कारण कई जगहों पर पानी भराव होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है। यहां के लुहारी गांव स्थित बी नानजी औद्योगिक वसाहत और डूंगर के किनारे स्थित डीए टैप कंपनी में पानी भर गया। पानी का प्रेशर बढ़ने पर विजन कंपनी की दीवार तोड़ पानी निकाला गया। विजन कंपनी के अधिकारी मोहन भाई ने बताया कि पानी अपना रास्ता बनाकर निकल गया। पानी भरने के कारण किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है। 


सेलवार: बस डिपो में भरा पानी 
वलसाड जिले में पिछले दो दिन से जारी भारी बारिश के कारण जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। शनिवार रात 8 बजे से रविवार शाम 4 बजे तक 20 घंटें में भारी बारिश हुई। सबसे अधिक बारिश कपराडा तहसील में 10 इंच दर्ज की गई। वहीं धरमपुर में 8.5 इंच, वलसाड में 9 और वापी में 9 इंच बारिश दर्ज की गई। बारिश के कारण वलसाड-खेरगाम को जोड़ने वाली औरंगा नदी के ब्रिज पर पानी भरने से कैलास नगर रोड पर और धमडाची गांव में प्रवेश बंद कर दिया गया। जिससे आवागमन ठप हो गया और बड़ी संख्या में वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। बारिश के कारणलोग जरूरी काम होने पर बाहर निकल रहे है। बारिश के कारण दैनिक उपयोग की वस्तुएं और सब्जी का संकट भी खड़ा हो रहा है। वापी में जगह-जगह पानी भरने के कारण कई इलाके जलमग्न हो गए।

 
निचले इलाकों की दुकानों-मकानों में पानी भरा 
दक्षिण गुजरात के गणदेवी सहित अन्य तहसीलों में रविवार को जमकर बारिश हुई। पिछले 24 घंटों के दौरान 82 मिमी बारिश दर्ज की गई। वहीं बिलीमोरा के भारी बारिश के कारण निचले इलाकों में चीमोडिया, नाका, रेलवे अंडरपास के पास पानी भरने से वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। नवसारी में 24 घंटों के दौरान 2 इंच और चिखली में 2.5 इंच बारिश हुई। खेरगाम में बारिश के कारण दुकानों और मकानों में पानी भर गया। यहां 24 घंटों के दौरान 3 इंच से अधिक बारिश दर्ज की गई। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना