• Home
  • Gujarat
  • Deputy CM nitin patel says there is no need to forgive the farmers debt
--Advertisement--

डिप्टी सीएम नितिन पटेल बोले- किसानों का कर्ज माफ करने की कोई जरूरत नहीं है

केंद्र एक्साइज ड्यूटी घटाए तो पेट्रोल-डीजल का भाव कम होगा

Danik Bhaskar | Mar 24, 2018, 02:41 AM IST

गांधीनगर. विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस विधायकों के पेट्रोल-डीजल काे जीएसटी में शामिल करने और किसानों के कर्ज माफ करने की मांग की धज्जियां उड़ाते हुए उपमुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के किसान दिवालिया नहीं हैं, इसलिए कर्ज माफ करने की जरूरत ही नहीं है। किसान हर साल सहकारी बैंकों से 20 हजार करोड़ लोन लेते हैं और 95 फीसदी चुका देते हैं। कर्ज माफ करने के बदले सरकार किसानों को प्रोत्साहित करती है। उत्पादन और आय बढ़ाने के लिए सरकार विभिन्न योजनाओं को अमल में लाई है।


पेट्रोल-डीजल का मुद्दा उठाते हुए उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि देश में सबसे कम टैक्स गुजरात वसूलता है। केंद्र के एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद ही पेट्रोल-डीजल का भाव घटेगा। पेट्रोल-डीजल के जीएसटी में शामिल होने से 50 फीसदी टैक्स केंद्र के हिस्से में जाएगा। अभी पूरा टैक्स राज्य सरकार को मिल रहा है। राज्य के लिए पेट्रोल-डीजल से होने वाली आय महत्वपूर्ण है। प्रदेश को होने वाली आय में नुकसान होने के कारण पेट्रोल-डीजल को जीएसटी में शामिल करने का हम समर्थन नहीं कर रहे हैं।

नितिन पटेल ने कहा कि बजट में विकास खर्च गैर विकास खर्च से 41553 करोड़ ज्यादा है। 58 फीसदी रकम का प्रावधान सामाजिक सेवाओं के लिए किया गया है। सरकारी कर्ज घटकर 15.96 फीसदी होने का अनुमान है। वर्ष 2004 के बाद सरकार ने कभी भी ओवर ड्राफ्ट नहीं लिया। राज्य की प्रति व्यक्ति आय 1,56,691 रुपए है, जबकि कुल कर्ज 1,99,338 करोड़ है।

विधानसभा के कामकाज समिति की बैठक 26 को

विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ पेश अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का दिन तय करने के लिए शुक्रवार को होने वाली कामकाज समिति की बैठक अब 26 मार्च को होगी। उधर, विधायकों के निलंबन पर प्रतिपक्ष नेता परेश धानाणी ने कहा कि 14 मार्च को कांग्रेस के विधायकों को भड़काया गया था। विधानसभा के नियमों के नियम 52(2) के तहत सत्र तक विधायकों को सस्पेंड करने का प्रावधान है। भाजपा सरकार इस नियम का उल्लंघन करते हुए कांग्रेस के दो विधायकों को तीन और एक विधायक को एक साल के लिए सस्पेंड किया है। उन्होंने कहा कि विधायकों का निलंबन रद्द नहीं हुआ तो राज्यपाल से अपील करेंगे। परेश धानाणी ने कहा कि संविधान में राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री को भी वीटो पावर जैसी सत्ता नहीं दी गई है। कांग्रेस के विधायकों को सस्पेंड करना गैर संवैधानिक है।

36.20 करोड़ के खर्च से बनेगा नया स्पोर्ट‌्स क्लब
स्पोट‌्र्स अथॉरिटी ऑफ गुजरात द्वारा 36.20 करोड़ के खर्च से प्रदेश के अधिकांश जिलों में नया स्पोट‌्र्स क्लब बनेगा। विधानसभा के प्रश्नकाल के दौरान यह जानकारी सामने आई है। जिसमें सबसे ज्यादा 1180 लाख रुपए गांधीनगर में बनने वाले खेल परिसर पर खर्च होगा। प्रदेश के जिलों में बनने वाले खेल परिसर की बात करते तो गांधीनगर में 1180 लाख, राजकोट में 500, तापी जिले के व्यारा में 500, अहमदाबाद के बीबीपुर में 400, अहमदाबाद के मफलीपुर में 200, पाटण में 200, महेसाणा के वडनगर में 215, छोटा उदेपुर के नसवाड़ी में 125 और वडोदरा के करनाली में 300 लाख रुपए खर्च होंगे। इन जिलों में जल्द ही नए स्पोट‌्र्स क्लब बनाए जाएंगे।

टाटा नैनो को 584.82 करोड़ लोन दिया गया
विधानसभा के प्रश्नकाल में टाटा नैनो को 33 हजार करोड़ लोन देने के विपक्ष के दावे को खारिज करते हुए उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि टाटा नैनो को दिसंबर 2017 तक केवल 584.82 करोड़ का लोन दिया गया। वह भी उसके टैक्स काे ध्यान में रखते हुए। ब्याज कम है पर नैनो के आने से प्रदेश में मोटर उद्योग बढ़ा है। हालांकि नैनो का मॉडल फेल हो गया पर अन्य कंपनियों के आने से गुजरात ऑटो मोबाइल का हब बन गया है। इसका फायदा पूरे प्रदेश को मिला है।