गुटबाजी / चार भाजपा नेताओं ने मिलकर दलित युवक को जमकर पीटा

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 02:58 PM IST


Ahmedabad News BJP leaders beat Dalit youth at chandkheda
X
Ahmedabad News BJP leaders beat Dalit youth at chandkheda
  • comment

  • भाजपा युवा मोर्चे में गुटबाजी-जातिवाद
  • दोनों पक्षों ने परस्पर रिपोर्ट दर्ज कराई

अहमदाबाद. चांदखेड़ा में भाजपा युवा मोर्चे में आंतरिक गुटबाजी और जातिवाद का मामला सामने आया है। युवा माेर्चा की बॉडी में शामिल होने के लिए दलित युवक ने चांदखेड़ा भाजपा युवा मोर्चे के दो महामंत्री और कार्यकर्ताओं के बीच नोकझोंक हुई, जो मारपीट में बदल गई। युवक और उसके भाई को अस्पताल में भर्ती किया गया है। पुलिस ने अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है।


दलित युवक को मोर्चे में लेने से किया इंकार
चांदखेड़ा में रहने वाले और सत्यमेव हॉस्पिटल के पास डभोड़िया पान पॉर्लर वाले गौरांग आसोड़िया और उसका भाई मंगलवार की दोपहर गल्ले पर बैठकर धंधा कर रहे थे। तभी चांदखेड़ा भाजपा युवा मोर्चा के महामंत्री कमलेश गोस्वामी, विनोद व्यास और मनोज बब्बर समेत चार लोग वहां पहुंचे। सभी दोनों भाइयों ने हुज्जत करने लगे। उनका कहना था कि उन्हें भाजपा की युवा मोर्चे की बॉडी में शामिल नहीं करेंगे। इस पर उनसे बहस होने लगी। यह बहस बाद में मारपीट में बदल गई। कमलेश गोस्वामी और विनोद व्यास ने मारपीट शुरू कर दी। गौरांग का भाई हितेश जब उन्हें छुड़ाने लगा, तो उसकी भी पिटाई शुरू कर दी।


भाजपा का महामंत्री होने की धमकी
पुलिस के अनुसार विनोद व्यास के पास चाकू जैसा कोई हथियार था, जिसे बताकर धमकी दी कि ‘मैं भाजपा का महामंत्री हूं, मेरी पहुंच ऊपर तक है। तुम मेरा कुछ भी नहीं बिगाड़ सकते। मैं चाहूं, तो तुम्हें झूठे मामले में तड़ीपार भी करवा सकता हूं। तुम पर पासा का केस चलवा सकता हूं, तुमसे जो होता हो, वह कर लो।’


पुलिस के पास दोनों गुट ने एफआईआर लिखवाई
इस हमले में हितेश, गौरांग और उसके पिता घायल हो गए। जिन्हें अस्पताल ले जाया गया। गौरांग ने कमलेश गोस्वामी, विनोद व्यास और मनोज बब्बर समेत चार लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। उधर विनोद व्यास ने भी शिकायत लिखवाई है कि कमलेश गोस्वामी को हितेश परमार ने उठाकर सत्यमेव अस्पताल के पास ले गया, जहां हितेश ने उससे गाली-गलौज की। इसके अलावा परिवार को जान से मारने की धमकी भी दी।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें