दिक्कत / खेरगाम-धरमपुर को जोड़ने वाला कोजवे टूटा, 27 दिन से डूबा था



Causeway connecting Khergam-Dharampur broken
X
Causeway connecting Khergam-Dharampur broken

  • भारी बारिश में महीने भर तक पानी में डूबा था कोजवे
  • नदी से आवागमन बंद 

Dainik Bhaskar

Aug 16, 2019, 03:24 PM IST

खेरगाम. पिछले एक महीने से जारी भारी बारिश के चलते खेरगाम तालुका के चिमनपाडा और धरमपुर तालुका के मरधमाल को जोड़ने वाला कोजवे लगभग 20 से 25 दिन पानी में डूबा रहा था। जिससे आसपास के लोगों को आवागमन के लिए यहां पर प्रतिबंध लगाया गया था। 


पूरी तरह से टूट चुका है कोज वे
बुधवार को पानी का स्तर कम हो जाने के बाद कोजवे दिखाई तो देने लगा लेकिन पूरी तरह से टूट चुका है। जिससे आवागमन करने के लिए लोगों को काफी तकलीफें हो रही है। खेरगाम तालुका सहित ऊपरी क्षेत्र से भारी बारिश के चलते खेरगाम तालुका से गुजरने वाली तान नदी में बरसाती पानी की आवक बढ़ने के कारण खेरगाम और धरमपुर तालुका को जोड़ने वाला कोजवे पिछले लगभग महीने भर से पानी में डूबा था। इसके बाद महीने भर तक धरमपुर तालुका के मरधमाल, विरवल सहित अन्य गांव के लोगों के लिए खेरगाम तालुका के साथ साथ पूरी तरह से संपर्क टूट गया था। जिससे लोगों को 15 किलोमीटर तक का फेरा लगाकर गंतव्य स्थान तक पहुंचना पड़ता था।


तान नदी का जल स्तर कम हुआ
वर्तमान में तान नदी का जल स्तर कम हो गया है जिससे यहां का कोजवे पूरी तरह दिखाई देने लगा है। महीनेभर तक पानी में डूबे रहने के कारण कोजवे की हालत पूरी तरह से तहस-नहस हो गई है। टूट चुके इस कोजवे से वाहनों का आवागमन बहुत मुश्किल है इसलिए लोगों को राहत मिलने की बजाए परेशानी बनी ही रहने वाली है। इसलिए इस कोजवे का मरम्मत काम पूरा कर राहत प्रदान करने की मांग हो रही है। 


15 किलोमीटर दूरी का फेरा 
धरमपुर तालुका के मरधमाल गांव के रमणभाई पटेल ने बताया कि मरधमाल से चिमनपाडा होकर खेरगाम जाने के लिए हमें तान नदी का कोजवे का इस्तेमाल करते आए है, लेकिन हर साल की तरह इस साल भी यहां का कोजवे जलमग्न हो जाने के बाद हमें खेरगाम जाने के लिए लगभग 15 किलोमीटर का फेरा लगाने की नौबत आती है। 


पुल की दुर्दशा, बंद रहेगा आवागमन 
चिमनपाडा और मरधमाल को जोड़ने वाली तान नदी का कोजवे पिछले महीने भर से जलमग्न रहने के बाद अभी वह पूरी तरह से टूट चुका है। जगह-जगह पत्थर और गड़ढों के चलते यहां से वाहन निकालना मुश्किल है। इस कोजवे की ऊंचाई बढ़ाने के लिए कई बार शिकायत की गई लेकिन अभी तक संबंधित विभाग ने इस ओर ध्यान नहीं दिया है। - चंदूभाई पटेल, सरपंच पति, चिमनपाडा

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना