--Advertisement--

गुजरात / जेल में बंद पीएफ ऑफिसर पत्नी का पति 5 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार, रिमांड पर भेजा

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 02:59 PM IST


सीबीआई ने आरोपी अधिकारी के घर पर तलाशी ली। सीबीआई ने आरोपी अधिकारी के घर पर तलाशी ली।
आरोपी अधिकारी का घर। आरोपी अधिकारी का घर।
X
सीबीआई ने आरोपी अधिकारी के घर पर तलाशी ली।सीबीआई ने आरोपी अधिकारी के घर पर तलाशी ली।
आरोपी अधिकारी का घर।आरोपी अधिकारी का घर।

  • पीएफ प्रवर्तन अधिकारी पारू तिवारी 24 दिन पहले 1 लाख रिश्वत लेते हुए पकड़ी गई थी
  • कंस्ट्रक्शन कंपनी का सर्वे करने गई पारू ने 30 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी, उसी को लेने गया था पति
  • पीएफ विभाग में अधिकारी है पति, सीबीआई ने ली घर की तलाश

वडोदरा. सीबीआई ने पांच लाख रुपए की रिश्वत ले रहे पीएफ अधिकारी रजनीश तिवारी को गिरफ्तार कर शनिवार को स्पेशल कोर्ट में पेश किया। उसे तीन दिनों की रिमांड पर भेजा है। सीबीआई ने आरोपी का स्पेक्ट्रोग्राफी टेस्ट कराने के लिए कोर्ट से मंजूरी मांगी है। इससे पहले रजनीश की पीएफ प्रवर्तन अधिकारी पत्नी पारू तिवारी 17 दिसंबर को 1 लाख रिश्वत लेते हुए पकड़ी गई थी।

 

सूत्रों ने बताया कि कंस्ट्रक्शन कंपनी का सर्वे करने गई पारू ने 30 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। लेकिन बाद में एक लाख रिश्वत लेने के अन्य एक मामले में पारू गिरफ्तार हो गई थी। इसके बाद रजनीश उसके अधूरे काम को पूरा करने गया था। रजनीश ने उसी कंपनी से 20 लाख मांगा तो 10 लाख में मामला तय हुआ था।

 

शुक्रवार को जूना पादरा रोड पर रिलायंस मॉल के पास कंपनी से 5 लाख की पहली किस्त लेते हुए रजनीश को सीबीआई ने गिरफ्तार किया। सीबीआई की टीम ने पीएफ ऑफिस और रजनीश के घर 7 घंटे तक सर्च किया। गिरफ्तारी के बाद 9 अधिकारियों ने रजनीश से पूछताछ की।

 

पीएफ ऑफिस में प्रवर्तन अधिकारी के रूप में कार्यरत पति-पत्नी के रिश्वतखोरी में गिरफ्तार किए जाने का यह पहला मामला है। रजनीश ने 24 जून 1998 को वडोदरा में प्रोविडंड फंड ऑर्गेनाइजेशन में प्रवर्तन अधिकारी के रूप में नौकरी ज्वॉइन की थी। पारू ने 20 अगस्त 1998 यानी कि 58 दिन बाद इसी विभाग में प्रवर्तन अधिकारी नियुक्त हुई थी। एक साथ काम करते-करते दोनों में प्रेम हो गया। पारू और रजनीश ने 2 मार्च 2012 में प्रेम विवाह कर लिया था

 

पारू की भाई डॉ. राजू बाल तस्करी के आरोप में जेल में बंद
छोटा उदेपुर में केसर अस्पताल चलाने वाला और बाल तस्करी का मुख्य आरोपी डॉ. राजू, पारू का सगा भाई है। आरोप है कि राजू अब तक 20 बच्चों को बेच चुका है। 15 नवंबर को उसे गिरफ्तार किया गया था। 

Astrology

Recommended

Click to listen..