• Hindi News
  • Gujarat
  • Controversy in case of theft in Radhekrishna Textile Market for several months

सुरक्षा गार्ड ही चोर / आरकेटी में बंद रहीं 4 हजार दुकानें, सख्त कार्रवाई नहीं होने पर कल बंद होगा कपड़ा मार्केट



Controversy in case of theft in Radhekrishna Textile Market for several months
X
Controversy in case of theft in Radhekrishna Textile Market for several months

  • डुप्लीकेट चाबी बनाकर कई महीनों से कर रहे थे चोरी, एक गार्ड गिरफ्तार
  • पूरे दिन मार्केट में जमे रहे व्यापारी, मैनेजमेंट और सिक्योरिटी वाले नहीं आए

Dainik Bhaskar

Jan 11, 2019, 07:45 AM IST

सूरत.  राधेकृष्ण टेक्सटाइल मार्केट में पिछले कई महीनों से हो रही पार्सल चोरी के मामले को लेकर दूसरे दिन भी जमकर हंगामा रहा। गुरुवार को सलाबतपुरा पुलिस ने चोरी करने वाले एक सिक्योरिटी गार्ड को गिरफ्तार भी किया। शिकायतकर्ता आशीष राठी ने बताया कि सीसीटीवी के आधार पर 2768 से 2771 नंबर की चार दुकानों में हुई चोरियों में पिछले दो महीनों में चार से पांच लोग चोरी करते हुए नजर आ रहे हैं।

 

उसने बताया कि आरोपियों ने दुकान के शटर में लगे ताले सहित सेंटर लॉक और अंदर कांच दरवाजे पर लगे ताले को नकली चाबी का इस्तेमाल करके खोला। उसने बताया कि ज्यादातर चोरियों की वारदातों को रविवार को ही अंजाम दिया जाता है, जब 99 प्रतिशत दुकानें बंद रहती हैं। ताला खोलकर उसने दुकानों से ग्रे, कॉटन और ड्रेस मटेरियल के 360 से ज्यादा बंडल चुरा लिए। इसके बाद 24 लाख रुपए की चोरी का मामला दर्ज कराया गया।


जांच अधिकारी पीएच कछवाहा ने बताया कि रामभाई नामक आरोपी मार्केट में सिक्योरिटी का काम करता है, उसे गिरफ्तार किया गया है। मामले की जांच चल रही है। व्यापारियों के आक्रोश को देखते हुए सांसद सीआर पाटिल भी गुरुवार दोपहर मार्केट पहुंचे।

 

व्यापारियों ने कहा कि जब तक इस मामले का मुख्य सूत्रधार नहीं पकड़ लिया जाता, तब तक हम मार्केट बंद रखेंगे। इसके अलावा कहा कि अगर हमें सुरक्षा देने में प्रशासन नाकाम है तो हम यहां से दुकान खाली करेंगे। साथ ही मार्केट की मैनेजमेंट कमेटी को बर्खास्त कर इसमें केवल व्यापारियों को ही शामिल रखने की मांग की।

 

सिक्युरिटी एजेंसी की मिलीभगत से बड़े पैमाने पर हुई कपड़ा चोरी की घटना से व्यापारी आक्रोशित हैं। पुलिस की कार्रवाई से असंतुष्ट सैकड़ों कपड़ा व्यापारी गुरुवार देर शाम फोस्टा  ऑफिस पहुंचे और शुक्रवार को संपूर्ण कपड़ा मार्केट में अवकाश की घोषणा की मांग की। व्यापारियों का कहना था कि दो दिन बीतने पर भी पुलिस ने कोई ठोस कार्रवाई नहीं की।

 

रैकेट में सिक्योरिटी वाले से लेकर पोटले वाले, टेम्पो वाले और भी कई लोग शामिल हैं। उनके चेहरे सामने लाने में पुलिस को इतना वक्त क्यों लग रहा है, यह समझ नहीं आ रहा। व्यापारियों की बात सुन फोस्टा अध्यक्ष ने कहा कि एक दिन और इंतजार करते हैं। अगर पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो जरूर पड़ने पर संपूर्ण मार्केट बंद करने की घोषणा की जाएगी।

 

बड़ा सवाल- मार्केट की गैलेरी से कैमरे क्यों बंद करवाए थे
आमतौर पर किसी मार्केट में चोरी होने पर मार्केट अध्यक्ष और मैनेजमेंट व्यापारियों के साथ खड़ा रहता है। लेकिन, यहां तो मैनेजमेंट पर ही आरोप लगे हैं। इसीलिए गुरुवार को मार्केट अध्यक्ष और मैनेजमेंट में से कोई व्यापारियों के साथ  खड़ा नहीं रहा। यहां तक कि मार्केट भी नहीं आए। अब भी सवाल बना हुआ है कि मार्केट की गैलेरी से कैमरे क्यों बंद करवाए थे।

COMMENT