• Hindi News
  • Gujarat
  • Deadly attack kills youth near Causeway, suspects murder in old fight at surat

मर्डर / ड्रग्स बेचने में रोड़ा बन रहा था भाई, मुखबिरी के शक में कर दी हत्या



Deadly attack kills youth near Causeway, suspects murder in old fight at surat
X
Deadly attack kills youth near Causeway, suspects murder in old fight at surat

  • ड्रग्स बेचने में रोड़ा बन रहा था भाई
  • मुखबिरी के शक में  कर दी हत्या

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2019, 01:51 PM IST

सूरत. वियर-कम-कोजवे पर एक भाई ने दूसरे भाई पर तलवार से हमला करके उसकी हत्या कर दी। एमडी ड्रग्स की मुखबिरी करने की रंजिश में बड़े भाई ने दो लोगों के साथ मिलकर छोटे भाई को मार डाला। घटना की जानकारी मिलते ही रांदेर पुलिस मौके पर पहुंच गई।


एक महीने पहले जानलेवा हमला किया था
पुलिस ने बताया कि आरोपी ने एक महीने पहले भी अपने भाई पर तलवार से जानलेवा हमला किया था। जानकारी के अनुसार रांदेर के इकबाल नगर में रहने वाला 38 वर्षीय आरिफ रहमान सैयद केटरर्स का काम करता था। गुरुवार को सलमान ने आरिफ से कहा कि तुझे तुफैल और अप्पू बुला रहे हैं। इसके बाद आरिफ को अपने साथ ले गए और सुल्तानिया जिमखाना के पास रुक गए। वहां पहले से तुफैल, अप्पू, शमशेर, अल्लारखा, रशीद, फरहाद मौजूद थे। तुफैल ने कहा कि अल्ताफ और इस्माइल के कहने पर आरिफ को लेकर आया हूं। इसके बाद शमशेर, लाला और रशीद ने आरिफ से कहा कि तू पुलिस को बहुत खबर देता है, बहुत बड़ा खबरी है। आज नहीं बचेगा। इसके बाद शमशेर, लाला, रशीद और फरहाद ने उसे पकड़कर बारी-बारी से तलवार से हमला करके फरार हो गए। आरिफ को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही रांदेर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी।


नौ लोगों ने हमला किया, 14 घाव लगे
फिरोज ने बताया कि आरिफ को अल्ताफ उसके बेटे साहिल, जमाई इस्माइल, उसके दो दोस्त मुजम्मिल, तुफैल और चार समेत नौ लोगों ने एक साथ हमला किया था। आरिफ को तलवार से 14 घाव लगे थे। आरिफ को बड़ी मुश्किल से ऑटो से अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। आरिफ को मारने का एक ही कारण था। वह अल्ताफ को ड्रग्स बेचने से मना कर रहा था।


नसेड़ी रात को मोहल्ले में जुटते थे, आरिफ विरोध करता था
फिरोज ने कहा कि रात को सारे नसेड़ी मोहल्ले में इकट्‌ठा होते थे। आरिफ इसका विरोध करता था तो अल्ताफ डांटता था। आरिफ ने ड्रग्स के कारोबार की पुलिस में भी शिकायत की थी। पुलिस इस पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही थी। फिरोज ने बताया कि अल्ताफ मुंबई और नवसारी से ड्रग्स लेकर आता था और सिटीलाइट समेत शहर भर में बेटे और दोस्तों के साथ मिलकर बेचता था।


पुलिस मामले की जांच कर रही है: डीसीपी
जोन-4 के डीसीपी पन्ना मोमाया ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस की जांच में पता चला कि एक महीने पहले भी अल्ताफ ने आरिफ पर तलवार से हमला किया था। ड्रग्स की मुखबिरी करने की आशंका ने अल्ताफ ने तलवार से हमला करके अपने भाई की हत्या कर दी। पुलिस जांच कर रही है।


पुलिस छापा मारती तो अल्ताफ अपने भाई पर शक करता
मृतक की बहन कौसर ने बताया कि अल्ताफ को शक था कि आरिफ पुलिस को उसके धंधे की जानकारी देता है। अल्ताफ कई बार आरिफ को समझाया था। पुलिस छापा मारती तो अल्ताफ अपने भाई पर ही शक करता था। अल्ताफ चाय की लारी चलाने के बहाने ड्रग्स बेचता था। वह मोहल्ले की लड़कियों से छेड़छाड़ करता है और रात में महिला को अकेला पाकर घर में घुस जाता है।


चाय की लारी चलाने की आड़ में बेचता था ड्रग्स
मृतक के भाई फिरोज सैयद ने बताया कि अल्ताफ चाय की लारी चलाने की आड़ में एमडी ड्रग्स बेचता था। आरिफ ने अल्ताफ को ड्रग्स बेचने से मना किया था, पर वह नहीं मान रहा था। एक महीने पहले अल्ताफ ने आरिफ पर तलवार से हमला किया था। अल्ताफ ने आरिफ को मोहल्ले में दिखाई देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। आरिफ एक महीने तक घर नहीं आया, इधर-उधर भटकता रहा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना