अव्यवस्था / दिल्ली-मुंबई ट्रेन रूट 6 घंटे रहा जाम, दोपहर ढाई से रात 11 बजे तक काेई ट्रेन नहीं आई सूरत

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2019, 12:47 PM IST



दोपहर ढाई से रात 11 बजे तक सूरत का प्लेटफार्म-1 यात्रियों से खचाखच भरा रहा। दोपहर ढाई से रात 11 बजे तक सूरत का प्लेटफार्म-1 यात्रियों से खचाखच भरा रहा।
नीचे झुका गर्डर नीचे झुका गर्डर
X
दोपहर ढाई से रात 11 बजे तक सूरत का प्लेटफार्म-1 यात्रियों से खचाखच भरा रहा।दोपहर ढाई से रात 11 बजे तक सूरत का प्लेटफार्म-1 यात्रियों से खचाखच भरा रहा।
नीचे झुका गर्डरनीचे झुका गर्डर

  • लॉन्चिंग के दौरान नीचे झुका गर्डर राजधानी
  • गरीब रथ समेत 20 ट्रेनें 6 घंटे लेट हुईं 

सूरत. मुंबई-अहमदाबाद मेन लाइन पर घोलवड-उमरगांव स्टेशन के बीच बोर्डी रेलवे स्टेशन के पास रेलवे ने ब्रिज के गर्डर लॉन्चिंग के लिए दोपहर 12 से दोपहर 2 बजे का ब्लॉक लिया था, लेकिन इसकी ब्लॉक में लॉन्चिंग के दौरान गर्डर अपनी जगह पर स्थापित होने के बजाय खिसककर नीचे की ओर झुक गया। इसके बाद मुंबई-अहमदाबाद-दिल्ली मेन लाइन पर ट्रेनों को रोका गया। जिससे सूरत की ओर आने वाली और सूरत से मुंबई की ओर जाने वाली ट्रेनों की आवाजाही ठप्प हो गईं। इस समस्या से यात्री सूरत समेत विभिन्न स्टेशनों पर ट्रेन के इंतजार में परेशान हुए। स्टेशनों पर यात्रियों की भारी भीड़ रही। 


तीन घंटे बढ़ाकर पांच घंटे किया गया ब्लाॅक 
बुधवार को घोलवड -उमरगांव स्टेशन के बीच एलसी क्रॉसिंग बंद करने के लिए रेलवे ने ओवरब्रिज बनाने के लिए गर्डर लॉन्चिंग के लिए ब्लॉक लिया। इस दौरान क्रेन से गर्डर लांच करते वक्त तकनीकी समस्या की वजह से अचानक गर्डर अपनी जगह से खिसककर नीचे की ओर झुकने लगा। इससे ब्लॉक को तीन घंटे और बढ़ा दिया गया। इससे एक दर्जन से ज्यादा ट्रेनें अपनी अपनी जगह पर रोक दी गईं। 
उमरगांव के पास गर्डर लॉन्चिंग के दौरान एफओबी गर्डर नीचे झुका। 


राजधानी ट्रेन दो घंटे तक विरार पर रुकी रही 
इस घटना से बुधवार को सूरत स्टेशन के प्लेटफार्म-1 पर यानी अहमदाबाद दिल्ली की ओर जाने के लिए दोपहर ढाई बजे के बाद पश्चिम एक्सप्रेस के अलावा एक भी ट्रेन नहीं आ सकी। दोपहर ढाई से रात 9 के बीच प्लेटफार्म एक पर लगभग 20 प्रमुख ट्रेनें आती हैं, लेकिन वहां सन्नाटा पसरा रहा। रेलवे लगातार घोषणा करके यात्रियों को ताजा स्थिति बताती रही। रात आठ बजे झुके हुए गर्डर को उसकी सही जगह पर स्थापित किया गया। उसके बाद अप-डाउन मेन लाइन को परिचालन के लिए बहाल किया गया। सूरत के लिए मुंबई से पहली ट्रेन रात 11 बजे सूरत पहुंची। इस दौरान सभी ट्रेनें अलग अलग जगह पर रुकी रही। इस दौरान राजधानी ट्रेन दो घंटे तक विरार स्टेशन रुकी रही। 


6 घंटे तक अंधेरी और दहानू के बीच रुकी रही ट्रेनें 
इस दौरान बांद्रा टर्मिनस-दिल्ली सराय रोहिल्ला, गरीब रथ एक्सप्रेस, हरिद्वार एक्सप्रेस, सूर्यनगरी एक्सप्रेस, कर्णावती एक्सप्रेस, अहमदाबाद डबलडेकर, दादर -बीकानेर एक्सप्रेस, दादर भुज एक्सप्रेस, रणकपुर एक्सप्रेस, महाराष्ट्र संपर्कक्रांति, सयाजी नगरी, अगस्त क्रांति राजधानी, मुंबई राजधानी, कच्छ एक्सप्रेस, सौराष्ट्र जनता, अवंतिका, जयपुर सुपरफास्ट, गोल्डन टेम्पल, सौराष्ट्र मेल, भावनगर सुपरफास्ट, अरावली एक्सप्रेस, और पुणे-इंदौर एक्सप्रेस अंधेरी, बांद्रा, वसई, केलवे रोड, पालघर, दहानू के बीच रुकी रहीं। इन ट्रेनों को दोपहर ढाई से रात 9 के बीच डाउन लाइन सूरत स्टेशन पर आना था। इस दौरान ये ट्रेनें सूरत की ओर आने में लगभग 6 घंटे तक लेट रहीं। जिससे स्टेशनों पर भारी भीड़ रही। 
 

COMMENT