मांडवी / कच्छ के 2 पतंगबाज गोवा में रात को उड़ाएंगे पतंग

रात में उड़ाई जाने वाली पतंग रात में उड़ाई जाने वाली पतंग
X
रात में उड़ाई जाने वाली पतंगरात में उड़ाई जाने वाली पतंग

  • कच्छ के पतंगबाजों को मिला आमंत्रण
  • रात में एलईडी लाइट का होता है इस्तेमाल

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2020, 03:13 PM IST

मांडवी. यूं तो पूरे राज्य में इन दिनों पतंगोत्सव की धूम है। मांडवी के बीच, अहमदाबाद का रिवरफ्रंट समेत कई शहरों में इन दिनों खूब पतंगें उड़ाई जा रही हैँ। ऐसे में गाेवा में आयोजित इंटरनेशनल नाइट काइट फेस्टिवल में कच्छ मांडवी के दो पतंगबाजों को आमंत्रण मिलने से यहां लोगों में खुशी है। ये पतंगबाज गोवा में दिन में नहीं, बल्कि रात में पतंग उड़ाएंगे।


एलईडी लाइट का होगा इस्तेमाल
रात के अंधकार में आकाश में एलईडी लाइट से अम्ब्रेला, डेल्टा, हार्ट, एयरफोल्ड, समेत रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगाती पतंगें गोवा में भी देखने को मिलेंगी। कच्छ के पतंगबाज जयेश सिसोदिया और विराज सोलंकी को इस बार गोवा बुलाया गया है। ये दोनों अजीब तरह की पतंग बनाकर उसे उड़ाते हैं, यही उनका शौक भी है। अपनी इस खूबी के कारण इन्होंने कई स्पर्धाओं में भाग भी लिया है। गोवा टूरिज्म से आमंत्रण मिलने के बाद ये 16 जनवरी को वहां रात में एलईडी लाइट की मदद से पतंग उड़ाएंगे।


भारत की 25 टीमें शामिल होंगी
इस अंतरराष्ट्रीय रात्रिकालीन पतंगोत्सव में भारत की 25 टीमें भाग ले रही हैं। इसमें अहमदाबाद, वडोदरा और कच्छ समेत राज्य के कई शहरों से लोग शामिल होंगे। इसके अलावा विदेश की भी 25 टीमें इस स्पर्धा में भाग ले रहेी हैं। गोवा के बाद बेलगाम और हुबली में भी कच्छ के दोनों पतंगबाज शामिल होंगे।

बैटरी से एलईडी को करते हैं प्रकाशित
नाइट काइट बनाने की टेकनिक कुछ अलग है। इस तरह की पतंग में डेढ़, 9 और 3 वॉट की बैटरी का उपयोग किया जाता है। इस बैटरी से एलईडी लाइट पतंग में फीट की जाती है। ये सभी पतंगें ये अपने हाथ से हेी बना

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना