पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • The Woman Went To The Kitchen To Cook, As The Lighters Exploded; 5 People Including Three Innocent Scorched In Accident

खाना बनाने किचन में गई थी महिला, लाइटर जलाते ही हो गया ब्लास्ट; हादसे में तीन मासूम समेत 5 लोग झुलसे

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हादसे में घायल आशा यादव - Dainik Bhaskar
हादसे में घायल आशा यादव
  • सिलेंडर में रात से ही गैस लीकेज हो रही थी, शनिवार सुबह हुआ हादसा
  • हादसे में घायल सभी का इलाज चल रहा है, हालत नाजुक बनी हुई है

सूरत. कडोदरा स्थित कुबेर पैलेस में शनिवार को खाना बनाने के दौरान आग लगने से एलपीजी सिलेंडर में ब्लास्ट हो गया। हादसे में एक महिला, उसके तीन बेटे और एक रिश्तेदार गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके बाद उन्हें अस्पताल लेकर गए, जहां सभी की हालत नाजुक बताई जा रही है। 

कैसे हुआ हादसा
जानकारी के मुताबिक, सिलेंडर में रात से ही गैस लीकेज हो रही थी। सुबह खाना बनाने के लिए महिला आशा यादव ने जैसे ही गैस चालू किया, तो आग लगने से सिलेंडर में ब्लास्ट हो गया। इसके बाद फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई। मौके पर पहुंचकर दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पाया। आग में गंभीर घायल हुए सभी को अस्पताल लेकर पहुंचे। पिछले एक महीने में यह चौथी घटना है। पीड़ितो में आशा यादव (28), लवकुश (6), मिथुन (3), कुणाल (8) और एक रिश्तेदार सोनू यादव (22) सभी को बचाने के दौरान घायल हो गया।

घर आया रिश्तेदार सोनू बच्चों को बचाने गया, बुरी तरह झुलसा 
आशा के घर पर रिश्तेदार सोनू यादव आया हुआ था। इस हादसे में बुरी तरह झुलस गया। उसकी हालत नाजुक है। 

एक महीने में सिलेंडर ब्लास्ट की चौथी घटना

  • 5 मार्च को वेडरोड के लक्ष्मी नगर सिलेंडर ब्लास्ट में गोपाल जाधव (29), उसकी पत्नी पूनम (25) और बेटा हनी (2) झुलस गए थे। पूनम ने पानी गर्म करने के लिए गैस चालू किया था।
  • 20 फरवरी को उधना हरिनगर-2 के विजया नगर के रहने वाले 45 साल के रोहित जगदीश चौधरी कि पत्नी रश्मिता 5 बजे खाना बनाने के लिए किचन में गई थी। मचिस जलाते ही किचन में आग लग गई। लीकेज की वजह से आग पूरे किचन में फैल गई थी।
  • 5 फरवरी वेसू के एसएमसी में रहने वाले प्रवीण शाह की पत्नी ज्योत्स्ना 5 फरवरी को सुबह घर में पानी गर्म कर रही थी। इसी बीच सिलेंडर लीकेज से आग लगी और ब्लास्ट हो गया। इसमें प्रवीण, उसकी पत्नी ज्योत्स्ना और तीन बच्चे सोना, अंशु और सोहन झुलस गए थे। पड़ोसी विनोद गोस्वामी ने बच्चों को तो बचा लिया, लेकिन अपनी जान गंवा बैठा।
खबरें और भी हैं...