• Hindi News
  • Gujarat
  • Penalty for one lakh rupees and imprisonment up to three years on water theft in Gujarat

पहली बार / गुजरात में पानी चोरी पर एक लाख रुपए तक का जुर्माना और तीन साल तक की कैद संभव



Penalty for one lakh rupees and imprisonment up to three years on water theft in Gujarat
X
Penalty for one lakh rupees and imprisonment up to three years on water theft in Gujarat

  • गुजरात सरकार पानी चोरी पर लगाम लगाने के लिए लाएगी सख्त कानून

Dainik Bhaskar

Jul 24, 2019, 10:14 AM IST

गांधीनगर. गुजरात सरकार पानी चोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कानून लाने जा रही है। इसमें सजा और जुर्माना दोनों का प्रावधान होगा। पालिकाओं की पानी की मेन पाइप लाइन में पाइप जोड़कर या मोटर से पानी खिंचने और पानी के नेटवर्क को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों को अब एक महीने से लेकर तीन साल तक जेल हो सकती है। इसके अलावा दो हजार रुपए से लेकर एक लाख रुपए तक का जुर्माना भी देना पड़ सकता है।

 

इसके लिए घरेलू उपयोगी पानी आपूर्ति (संरक्षण) विधेयक विधानसभा में लाया जाएगा। ऐसे मामलों में अगर कोई अधिकारी, कर्मचारी, पदाधिकारी अथवा एजेंसी इसमें लिप्त पाया गया तो सजा और जुमार्ना दोनों लगाया जा सकता है। 
सरकार ने इसके लिए जहां से पाइपलाइन का नेटवर्क है वहां आसपास के घरों, दुकानों, कारखानों या अन्य जगहों पर जांच स्थानीय प्रशासन के अधिकारी कर सकेंगे। 

 

अवैध तरीके से पानी ले जाने पर 20 हजार तक का जुर्माना

पाइप लाइन में अवैध तरीके से पाइप जोड़कर पानी ले जाने वाले लोगों पर 3 हजार रुपए से लेकर 20 हजार रुपए तक का जुर्माना, जबकि बल्क पाइप लाइन में पानी का पाइप जोड़कर चोरी करने वालों के खिलाफ 5 हजार रुपए से लेकर 1 लाख रुपए तक का जुर्माना। इसके अलावा एक से लेकर तीन महीने की कैद की सजा। 

 

रिहायशी की वजाह अन्य काम के लिए पानी का उपयोग करना अपराध
पानी का कनेक्शन लिया है और मोटर रखकर पानी खिंचा जा रहा है तो ऐसे मामलों में रिहायशी अथवा अन्य कनेक्शन में 2 हजार रुपए से लेकर 5 हजार रुपए तक का जुर्माना हो सकता है। रिहायशी के लिए कनेक्शन दिया गया हो लेकिन पानी का उपयोग अन्य काम के लिए किया जाता हो तो ऐसे मामलों में 20 हजार रुपए तक का जुर्माना हो सकता है। 

 

किसके खिलाफ क्या कार्रवाई होगी 

  • पाइपलाइन, वाल्व अथवा अन्य साधनों तथा उपकरणों को अवैध तौर पर ले जाने वाले अथवा चोरी करने वाले लोगों के खिलाफ 3 साल की कैद अथवा 1 लाख रुपए का जुर्माना अथवा दोनों सजा। 
  • सार्वजनिक पानी वितरण व्यवस्था को नुकसान पहुंचाने वाले को 2 साल तक की कैद अथवा 1 लाख रुपए तक का जुर्माना या फिर दोनों। 
  • वाल्व अथवा अन्य उपकरणों के साथ तथा पानी के मीटर के साथ छेड़छाड़ की जाती है तो 6 महीने की कैद अथवा 50 हजार रुपए तक का जुर्माना अथवा दोनों। 
  • पानी के प्रवाह में अवरोध पैदा करना या अथवा दूसरी दिशा में करना, व्यवस्था का संचालन या अवरोध पैदा करने वालों को 3 महीने की कैद अथवा 20 हजार रुपए का जुर्माना अथवा दोनों सजा। 
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना