• Hindi News
  • Gujarat
  • Police complaint against three monks of vadtal swaminarayan temple due to physical exploitation of boy

यौन शोषण / स्वामीनारायण संप्रदाय के तीर्थ धाम में युवा शिष्य से कुकर्म



प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
X
प्रतीकात्मक तस्वीरप्रतीकात्मक तस्वीर

  • तीन स्वामियों के खिलाफ केस दर्ज
  • सेवकों ने दी धमकी
  • शिष्य ने पिता को बताया, तब हुआ खुलासा

Dainik Bhaskar

Sep 10, 2019, 03:27 PM IST

नडियाद. स्वामी नारायण संप्रदाय के तीर्थधाम कहे जाने वाले वडताल में एक युवा शिष्य पर मंदिर के ही संत द्वारा कुकर्म किए जाने के मामले में चकलासी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है। इस मामले में मंदिर के चेयरमैन और कोठारी स्वामी से शिकायत की गई तो उन्होंने शिष्य को चुप करा दिया था। जबकि तकलीफ अधिक होने पर शिष्य के पिता को जानकारी देने के बाद संपूर्ण मामला प्रकाश में आ गया। 


कुकर्मियों के खिलाफ शिकायत दर्ज
इसके बाद कुकर्म करने वाला संत तथा चेयरमैन और कोठारी स्वामी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है। वडताल स्वामीनारायण मंदिर में अप्रैल महीने में शिष्य के तौर पर दीक्षा लेने वाला युवा वड़ताल लक्ष्मीनारायण संस्कृत पाठशाला में पढ़ाई करता था। वडताल स्वामीनारायण मंदिर में स्वामी गुरु के तौर पर सुव्रत स्वामी गुरु भक्ति संभव स्वामी के सानिध्य में पार्षद थे। इस युवा शिष्य से पैर दबाने से लेकर कई अलग-अलग काम करवाए जाते थे और इसके बाद कुकर्म करने कर उसे धमकियां दी जाती थी।

 

ऋषिकेश में किया गया कुकर्म

इस शिष्य के साथ ऋषिकेश ले जाकर कुकर्म किया गया था। जिसके बारे में शिष्य ने मंदिर के चेयरमैन देव स्वामी गुरु नीलकंठ चरण स्वामी तथा मंदिर के कोठारी संत वल्लभ स्वामी से शिकायत की थी लेकिन दोनों ने शिष्य को चुप करा दिया था। 


सेवकों ने दी थी धमकी
तब जाकर शिष्य ने इसकी जानकारी उनके पिता को बताई थी। उनके पिता ने मंदिर में आकर इस संदर्भ में बातचीत की तो सेवकों ने उन्हें भी धमकी दी थी। अंतत: शिष्य के पिता ने चकलासी पुलिस थाने में कुकर्म करने वाले सुव्रत स्वामी गुरु भक्ति संभव स्वामी सहित मंदिर के चेयरमैन देव स्वामी गुरु नीलकंठ चरण स्वामी और मंदिर के कोठारी संत वल्लभ स्वामी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर जांच शुरू कर दी है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना