• Hindi News
  • Gujarat
  • PSI and constable present at crime branch In the case of khatodara custodial death in surat

कस्टडी में मौत  / 6 आरोपियों का सुराग अभी भी नहीं लगा पाई पुलिस: 2 का सरेंडर



प्रेस कांफ्रेंस करते हुए पुलिस कमिश्नर सतीश शर्मा प्रेस कांफ्रेंस करते हुए पुलिस कमिश्नर सतीश शर्मा
X
प्रेस कांफ्रेंस करते हुए पुलिस कमिश्नर सतीश शर्माप्रेस कांफ्रेंस करते हुए पुलिस कमिश्नर सतीश शर्मा

  • दो ने किया आत्मसमर्पण
  • मुख्य आरोपी खिलेरी फरार

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2019, 02:40 PM IST

सूरत. खटोदरा थाने में 31 मई को अवैध कस्टडी में हुई ओमप्रकाश की मौत के मामले में फरार आठों पुलिसकर्मियों को पकड़ने के लिए 48 पुलिसकर्मियों की 8 टीमें बनाने और लुक आउट नोटिस जारी करने के बाद भी पुलिस उनका कोई सुराग नहीं लगा पाई। शुक्रवार को दो आरोपियों ने खुद ही सरेंडर कर दिया। 


पुलिस लाजवाब
आरोपियों के सरेंडर के बाद भी पुलिस किसी भी सवाल का जवाब नहीं दे रही है। पुलिस का कहना है कि उन्हें गिरफ्तार करने के बाद उनसे अभी पूछताछ नहीं की गई है, इसलिए अभी यह पता नहीं चल पाया है कि वे इतने दिन कहां थे। इंस्पेक्टर सहित 6 आरोपी अभी भी फरार हैं। पुलिस इनका भी कोई सुराग नहीं ढूंढ़ पाई है। पुलिस गिरफ्तार आरोपियों को शनिवार को कोर्ट में पेश करेगी। कोर्ट से रिमांड की मांग करेगी। रिमांड मिलने पर उनसे पूछताछ की जाएगी। पुलिस कमिश्नर सतीश शर्मा ने कहा कि आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जाएगा। उसके बाद उनसे पूछताछ की जाएगी। 


दोपहर 3 बजे क्राइम ब्रांच में किया सरेंडर 
ओमप्रकाश पांडेय की मौत के मामले में आरोपी खटोदरा थाने के पीएसआई सीपी चौधरी और कांस्टेबल हरेश चौधरी ने शुक्रवार को लगभग 3 बजे क्राइम ब्रांच में सरेंडर कर दिया। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू की। पुलिस ने कहा कि आरोपियों ने खुद आत्मसमर्पण किया है, लेकिन उनके खिलाफ कोई भी रियायत नहीं दिखाई जाएगी। 


पुलिस की 48 टीम ने क्या किया, किसी को पता नहीं
पुलिस ने फरार आरोपियों को पकड़ने के लिए 48 लोगों की 8 टीमें बनाई थीं। इन टीमों ने अब तक क्या किया इसकी भी जानकारी पुलिस नहीं दे पा रही है। कहा गया था कि ये टीमें आरोपियों के गांव तक उनकी तलाश में जाएंगी, लेकिन 14 दिन बीत जाने के बाद भी कोई टीम किसी आरोपी के बारे में कोई सुराग तक नहीं निकाल पाई। इन आरोपियों के साथ और कितने लोग शामिल हैं, इसका पता लगाने के लिए पुलिस सिविल और यूनिक अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे की फुटेज लेकर खंगाल रही है। 


मुख्य आरोपी इंस्पेक्टर खिलेरी पकड़ से बाहर 
31 मई को खटोदरा थाने में अवैध कस्टडी में आरोपियों ने ओमप्रकाश पांडे को इतनी बेरहमी से पीटा था कि उसकी मौत हो गई थी। आरोपियों में खटोदरा थाने का इंस्पेक्टर मोहन खिलेरी, चिराग चौधरी, कल्पेश गरंभा, आशीष दिहोरा, हरेश चौधरी, परेश भूकड़, कनक दियोल, दिलू संगानी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया था। इनमें से हरेश चौधरी और चिराग चौधरी ने शुक्रवार को आत्मसमर्पण कर दिया।

COMMENT