मेट्रो कोर्ट / जज ने पूछा-गुनाह कबूल है? राहुल गांधी ने जवाब दिया-नहीं



कांग्रेसियों के साथ राहुल गांधी कांग्रेसियों के साथ राहुल गांधी
अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचने पर राहुल गांधी का स्वागत अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचने पर राहुल गांधी का स्वागत
X
कांग्रेसियों के साथ राहुल गांधीकांग्रेसियों के साथ राहुल गांधी
अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचने पर राहुल गांधी का स्वागतअहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंचने पर राहुल गांधी का स्वागत

  • दस हजार की जमानत पर छोड़ दिया गया
  • परेश धानाणी बने जमानतदार

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 04:48 PM IST

अहमदाबाद. शुक्रवार को राहुल गांधी मेट्रो कोर्ट में जज इटालिया के सामने पेश हुए। जज ने जब उनसे पूछा कि क्या आपको गुनाह कबूल है। तब राहुल ने जवाब दिया-नहीं। इस पर उन्हें 10 हजार रुपए की जमानत पर छोड़ दिया गया। विपक्ष नेता परेश धानाणी उनके जमानतदार बने।
 

एडीसी बैंक मामले में भी कोर्ट में उपस्थित रहने से मुक्ति की अर्जी
पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मेट्रो कोर्ट में हाजिर रहने से मुक्ति के लिए अर्जी दी है। इसकी सुनवाई 7 दिसम्बर को होगी। इस दौरान कोर्ट में गुजरात के प्रभारी राजीव सातव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अमित चावड़ा, विपक्ष नेता परेश धानाणी, बिहार के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल उपस्थित थे। राहुल लगातार दूसरे दिन गुजरात आए। इसके पहले गुरुवार को वे सूरत कोर्ट में पेश हुए थे। इसके बाद शुक्रवार को अहमदाबाद पहुंचे।
 

दोपहर अहमदाबाद आए
कोर्ट में हाजिर होने के लिए गुरुवार को वे सूरत गए थे और शुक्रवार को अहमदाबाद पहुंचे। यहां वे एयरपोर्ट से रिवरफ्रंट के पास स्थित होटल पहुंचे। 
 

शाह को हत्या का आरोपी बताने के मामले में पहली पेशी 
एक रैली में अमित शाह को हत्या का आरोपी बताए जाने के मामले में अहमदाबाद की मजिस्ट्रेट कोर्ट ने राहुल को मई में समन जारी किया था। राहुल के बयान के खिलाफ भाजपा पार्षद कृष्णवदन ब्रह्मभट्ट ने मानहानि का मुकदमा दायर किया है। उनके मुताबिक, सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर मामले में शाह 2015 में बरी हो चुके हैं।
 

'सभी मोदी चोर' कहने के मामले में राहुल ने खुद को निर्दोष बताया
इससे पहले राहुल मानहानि के तीसरे मामले में गुरुवार को सूरत कोर्ट में पेश हुए थे। उन्होंने आरोपों को खारिज करते हुए खुद को बेकसूर बताया और पेशी से छूट के लिए अर्जी लगाई। इस पर अदालत 10 दिसंबर को फैसला लेगी, तब तक के लिए सुनवाई टाल दी गई। राहुल ने ट्वीट किया- राजनीतिक विरोधी मुकदमों के जरिए मुझे चुप कराना चाहते हैं। लेकिन सत्य की जीत होगी।
 

वकील ने आश्वासन दिया था
9 अगस्त की सुनवाई में राहुल गांधी हाजिर नहीं हुए थे, इसके चलते उनके खिलाफ मेट्रो कोर्ट में किए गए मानहानि के मामले में 11 अक्टूबर को सुनवाई में हाजिर रहने का आश्वासन उनके वकील ने दिया था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना