• Hindi News
  • Gujarat
  • Send daughters to self defense classes instead of beauty parlor dance classes Butani

कन्या शिक्षा / बेटियों को ब्यूटी पार्लर-डांस क्लास के बजाए स्व-रक्षा की क्लास में भेजो-बुटाणी

मोटिवेशनल स्पीकर निशा बुटाणी मोटिवेशनल स्पीकर निशा बुटाणी
X
मोटिवेशनल स्पीकर निशा बुटाणीमोटिवेशनल स्पीकर निशा बुटाणी

  • यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में भी सेल्फ डिफेंस सिखाना चाहिए
  • सर्व शिक्षा अभियान के तहत राज्य की हर स्कूल में सेल्फ डिफेंस की क्लासेस

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 05:02 PM IST

राजकोट. मोटिवेशनल स्पीकर निशा बुटाणी का मानना है कि अब समय आ गया है कि लोग बेटियों को ब्यूटी पॉर्लर या डांस क्लास के बजाए सेल्फ डिफेंस सिखाने वाली क्लास में भेजा जाए। मूल रूप से गुजराती और बहरहाल स्विटजरलैंड में रहने वाली मोटिवेशनल स्पीकर ने सौराष्ट्र यूनिवर्सिटी में उक्त विचार व्यक्त किए।
 

बेटी की सुरक्षा महत्वपूर्ण
देश में इन दिनों महिला उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओं के परिप्रेक्ष्य में निशा बुटाणी ने कहा कि अभिभावकों को यह समझने की आवश्यकता है कि बेटी की सुरक्षा सबसे बड़ी आवश्यक है। यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में भी युवतियों को सेल्फ डिफेंस की शिक्षा देनी चाहिए। सरकार इस दिशा में कुछ करे, उसके पहले ही पालक इस दिशा में सचेत हो जाएं। 
 

छात्रों में कम्युनिकेशन स्किल का अभाव
निशा बुटाणी ने सौराष्ट्र के स्टूडेंट्स के बारे में कहा कि यहां के छात्रों में कौशल है, परंतु कम्युनिकेशन स्किल और पर्सनालिटी डेवलपमेंट को लेकर एक फोबिया है। विदेशों में बच्चों को काफी कम उम्र में ही जवाबदारी सौंप दी जाती है। वहां बच्चे सबसे पहिले सेल्फ रिप्रेजेंट करना सीखते हैं। फिर अन्य विषयों की जानकारी लेते हैं। स्टूडेंट्स जब भी कोई निर्णय लेते हैं, तो उससे उनका पॉवर डेवलप होता है। इसमें यदि वे गलती करते हैं, तो उसी से सीखते भी हैं। इसी से उनकी क्रिएटिविटी झलकती है। लीडरशिप क्वालिटी बाहर आती है। यहां के छात्रों में कम्युनिकेशन स्किल का अभाव है। इसलिए यहां के बच्चे पिछड़ जाते हैं। ये बच्चे अपने कम्फर्ट जोन से बाहर नहीं निकलना चाहते। ट्रावेल करने से बचते हैं। उनकी यही कमजोरी उन्हें आगे नहीं बढ़ने देती।
 

स्कूलों में सेल्फ डिफेंस की शिक्षा
स्कूलों में अगले सत्र से राज्य की सभी उच्चतर प्राथमिक शालाओं में कक्षा 6 से 8 तक की कन्या शालाओं में 3 महीने का सेल्फ डिफेंस की शिक्षा देने की योजना बनाई गई है। यह जानकारी भावनगर के जिला प्राथमिक शिक्षा अधिकारी ने दी। उनके अनुसार स्व-रक्षा के तहत कन्याओं को कराटे और मार्शल आर्ट्स सिखाया जाएगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना