• Hindi News
  • Gujarat
  • Takshshila fire incident Three months later a complaint registered against a fire officer for Disproportionate property

सूरत अग्निकांड / तीन महीने बाद ही फायर अधिकारी के खिलाफ बेहिसाब सम्पत्ति रखने का मामला



अग्निकांड का दृश्य अग्निकांड का दृश्य
X
अग्निकांड का दृश्यअग्निकांड का दृश्य

  • 67 लाख से अधिक की सम्पत्ति मिली
  • दो अधिकारियों के बाद अब तीसरे के पास मिली अघोषित सम्पत्ति
  • मृतक के परिवार वालों ने पुलिस कमिश्नर से सख्त कदम उठाने का आवेदन किया था

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 04:01 PM IST

सूरत. सरथाणा में स्थित तक्षशिला अग्निकांड को तीन महीने और 19 दिन हो गए। गुरुवार को एसीबी द्वारा डेप्युटी चीफ फायर अधिकारी के खिलाफ बेहिसाब सम्पत्ति रखने का अपराध दर्ज हुआ है। जांच के दौरान फायर अधिकारी के पास से 67 लाख से अधिक की सम्पत्ति बरामद की गई।
 

उच्च अधिकारियों को बचाने का आरोप
23 मई 2019 को सूरत समेत पूरा गुजरात ही नहीं, पर देश भी इस घटना को नहीं भूल सकता। सरथाणा की तक्षशिला आर्केड में आग लग गई थी। इस घटना में छत पर बनाए गए शेड में चलने वाले क्लासेस में 22 मासूमों ने अपनी जान गंवाई थी। इससे लोगों में आक्रोश फट पड़ा था। धरना देकर न्याय की मांग की गई थी। इस दौरान पुलिस ने क्लासेस संचालक, तक्षशिला आर्केड के बिल्डर, फायर अधिकारी, मनपा अधिकारी समेत 10 लोगों की धरपकड़ की थी। ये सभी इस समय जेल में हैं। मृतक परिवार ने आरोप लगाया है कि उच्च अधिकारियों को बचाने के लिए छोटे अधिकारियों पर कार्रवाई की गई है।
 

मृतक परिवारों का आरोप
इस मामले में मृतक परिवार के लोगों ने आरोप लगाया था कि छोटे अधिकारियों पर कार्रवाई कर बड़े अधिकारियों को बचाया जा रहा है। इन्होंने पुलिस कमिश्नर को आवेदन भी दिया था। पर पुलिस ने इस दिशा में ऐसा कोई कदम नहीं उठाया, जिसे उपलब्धि कहा जाए। आश्चर्य इस बात का है कि घटना के एक महीने बाद तक्षशिला आर्केड फिर पहले की तरह शुरू हो गया। इसके ग्राउंड फ्लोर की दुकानें पहले की तरह फिर से शुरू हो गई। घटना के बाद एक महीने तक किसी को भी आर्केड के अंदर प्रवेश नहीं करने दिया गया।
 

डाेम तोड़ दिया गया
घटना के एक महीने 22 दिन बाद तक्षशिला आर्केड में पालिका द्वारा पुलिस बंदोबस्त के साथ चौथे माले पर स्थित डोम को तोड़ने का काम शुरू किया गया। इस दौरान वहां मृत मासूमों के बेग, शूज समेत कई चीजें मिलीं। आखिर में डोम को तोड़ दिया गया।
 

पालिका के 3 अधिकारियों के खिलाफ अपराध दर्ज
पहले पालिका के 2 अधिकारियों के खिलाफ बेहिसाब सम्पत्ति रखने का अपराध दर्ज हुआ। उसके बाद फायर अधिकारी संजय आचार्य के खिलाफ मामला दर्ज हुआ। एसीबी जांच में उनके पास 67 लाख से अधिक की सम्पत्ति बरामद की गई। इसके पहले पालिका के डेप्युटी इंजीनियर विनुभाई करसनभाई परमार के पास से 1 करोड़ से अधिक की सम्पत्ति बरामद की गई। जूनियर इंजीनियर हरेराम दुर्योधन सिंह के पास से 42 लाख से अधिक की सम्पत्ति बरामद की गई। इन तीनों के खिलाफ जांच चल रही है। बहरहाल तीनों अभी लाजपोर जेल में ही हैँ।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना