जामनगर / भूचरमोरी के मैदान में गुजरात की 2000 राजपूतानियों की तलवारबाजी

The 2000 Rajputani of Gujarat played the sword ras in the grounds of Bhucharmori dhrol
X
The 2000 Rajputani of Gujarat played the sword ras in the grounds of Bhucharmori dhrol

  • बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड
  • राज्य के 16 जिलों की किशोरियों-महिलाओं ने लिया भाग

दैनिक भास्कर

Aug 24, 2019, 04:54 PM IST

जामनगर. गुजरात की धरती शूरवीरों की धरती मानी जाती है। आज के कंप्यूटर और टीवी-मोबाइल के इस युग में भारतीय संस्कृति को भुलाया जा रहा है। ऐसे में अखिल गुजरात राजपूत युवा संघ द्वारा एक अनोखा प्रयास किया गया है। शनिवार को जिले के घ्रोल गांव की भूचरमोरी के मैदान में 2000 राजपूतानियों ने एक साथ तलवार बाजी की।


वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होगा
महिलाओं के तलवार रास ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है। जो गिनीज वर्ल्ड बुक में दर्ज होगा। भूचर मोरी मैदान में हर साल सप्तमी को मेले का आयोजन किया जाता है। इस कार्यक्रम में सेना के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री वी.के.सिंह भी उपस्थित थे। इस रास के लिए महिलाए एक महीने से प्रेक्टिस कर रही थीं। इसमें 16 जिलों की 2000 महिलाओं ने भाग लिया। इसमें किशारियां भी शामिल थीं।


शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित हुआ
कार्यक्रम के अध्यक्ष महिपत सिंह जाडेजा ने बताया कि भूचरमोरी के मैदान में बरसों पहले शीतला सातम को जाम तबाजी और अकबर के युद्ध में 30 हजार योद्धा शहीद हुए थे। उन्हीं योद्धाओं को श्रद्धांजलि देने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। बनासकांठा के भरत सिंह वाघेला ने बताया कि शौर्य और शक्ति की स्वरूप राजपूतानी बहन केवल रसोई तक ही सीमित न रह जाएं, इसलिए तलवारबाजी का कार्यक्रम आयोजित किया गया।


भूचर मोरी के युद्ध का इतिहास
दस्तावेज के अनुसार, यहां करीब 428 साल पहले मुगलों से जंग हुई थी। बादशाह मुजफ्फर को जामनगर के राजपूत राजा ने अपनी शरण में लिया था। बादशाह मुजफ्फर मुगलों से बचते फिर रहे थे। यहां तलवार रास गरबा जंग में शहीद हुए योद्धाओं की याद में किया गया था।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना