भास्कर फॉलोअप / कमिश्नर ने कहा-किन्नर परेशान करें, तो हमें बताएं



हमला करने वाले किन्नर, इंसेट मृृतक हमला करने वाले किन्नर, इंसेट मृृतक
X
हमला करने वाले किन्नर, इंसेट मृृतकहमला करने वाले किन्नर, इंसेट मृृतक

  • जबरन वसूली पर होगी सख्ती
  • राजस्थानी युवक की हत्या के बाद आक्रोश
  • किन्नरों को नौकरी देने को कपड़ा व्यापारी तैयार

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2019, 02:01 PM IST

सूरत. बेटे के जन्म पर शगुन मांगने गए तीन किन्नरों की पिटाई से हुई राजस्थानी युवक की मौत से शहर के लोगों में आक्रोश है। सूरत के इंचार्ज पुलिस कमिश्नर हरिकृष्ण पटेल ने भी इस मामले का संज्ञान लिया है और कहा है कि इस तरह की दबंगई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। आने वाले दिनों में किन्नरों की जबरन वसूली को रोकने के लिए कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। 
 

नौकरी देने का तैयार कपड़ा व्यापारी
दूसरी तरफ कपड़ा व्यापारी किन्नरों को नौकरी देने को तैयार हैं। उनका कहना है कि अगर स्किल और रेफरेंस है तो किन्नरों को नौकरी देने में उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। उन्होंने कहा कि जेंडर से कोई लेना-देना नही है। वे सिर्फ टेक्सटाइल उद्योग में काम करने के लायक होने चाहिए। यह नियम तो सभी के लिए लागू है। कपड़ा व्यापारियों को किसी प्रकार की कोई आपत्ति नहीं है। 
 

हमले में घायल गेहरी लाल की मौत
किन्नरों के हमले से घायल गेहरीलाल खटीक की रविवार की रात स्मीमेर अस्पताल में इलाज के दाैरान माैत हो गई थी। परिजन उनका शव लेकर राजस्थान के चित्ताैड़गढ़ जिले में स्थित उनके गांव चले गए। गांव में माता-पिता को पता नहीं था कि उनका बेटा अब दुनिया में नहीं है। गेहरीलाल का शव घर पहुंचा तो वे देखकर बेसुध हो गए।
 

साइन बोर्ड पर बधाई की राशि लिखने की सलाह
वीपीएस ने एक पत्र जारी कर कहा है कि सभी मार्केट एसोसिएशन व व्यपारियों को सलाह दी जाती है कि किन्नरों के उत्पीड़न से बचने के लिए अपने मार्केट के साइन बोर्ड पर किन्नरों को दी जाने वाली बधाई राशि लिखनी चाहिए। आपके द्वारा बनाए गए नियम को आपके मार्केट के व्यापारियों को व्हाट्सएप से सूचित करना चाहिए।
 

किन्नर काम करने को राजी हों तो यह समाज के लिए बड़ा परिवर्तन
कपड़ा व्यापारी सुनील जैन ने कहा कि स्टाफ की जरूरत हो तो किन्नरों को नाैकरी देने में उन्हें कोई परेशानी नहीं है। किसी का रेफरेंस भी जरूरी है। अगर किन्नर एक-दो के बजाए ग्रुप में काम करें तो उनके लिए भी कंफर्टेबल होगा। किन्नर काम करने को राजी हों तो उनका यह कदम देश और समाज के लिए बहुत बड़ा परिवर्तन होगा।
 

जेंडर को लेकर भेदभाव नहीं
कपड़ा व्यापारी संजय सरावगी ने बताया कि उनकी कंपनी में जेंडर को लेकर कोई भेदभाव नहीं किया जाता। जेंडर उनके यहां कोई आपत्ति नहीं है। आवश्यकता होने पर अगर कोई भी इंसान कपड़ा कारोबार में काम करने के लायक है, तो उसे नाैकरी देते हैं। वह चाहे किसी भी जेंडर का हो। अगर वह काम करने को तैयार है और उसमें काबिलियत है तो काम जरूर दिया जाएगा।
 

कपड़ा मार्केट में काम करने की काबिलियत हो, नौकरी जरूर देंगे
कपड़ा व्यापारी गोकुल बजाज ने कहा कि डिसिप्लिन, स्किल और काबिलियत होगी तो किन्नरों को नौकरी देने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं है। कपड़ा मार्केट में कपड़े से जुड़ा काम नहीं आता होगा तो किसी को भी काम नहीं मिलेगा। चाहे फिर वह किसी भी जेंडर का क्यों न हो।
 

ब्रेन हैमरेज से हुई मौत
मरीज को पहले कैजुअलिटी में लाया गया था। देखकर ऐसा नहीं लग रहा था कि उसके सिर पर चोट लगी होगी। ब्लड प्रेशर 200 से अधिक था, इसलिए मेडिसिन वार्ड में भर्ती किया गया। बाद में सिर की एमआरआई करवाई गई तो पता चला कि इंटरनल इंजरी हुई है। मरीज को सर्जरी विभाग में भर्ती किया गया। उसे कंजर्वेशन में रखा गया था। इंटरनल ब्लीडिंग अधिक होने से न्यूरोसर्जन केस को ऑपरेट कर रहे थे, लेकिन बीपी और ब्लीडिंग अधिक होने से ऑपरेशन नहीं हो पाया। ब्रेन हैमरेज से उसकी मौत हो गई। -डॉ. दर्शन, एचओडी, सर्जरी विभाग, स्मीमेर
 

भविष्य में ऐसे अपराध रोकने को करेंगे कानूनी कार्रवाई
लिंबायत में हुई युवक की हत्या के मामले में पुलिस ने कार्रवाई की है। किन्नरों के मुद्दे को हाथ में लिया जाएगा और भविष्य में ऐसे गुनाह न हों, इसके लिए जरूरी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। - हरिकृष्ण पटेल, इंचार्ज पुलिस कमिश्नर, सूरत

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना